सोमवार, 20 नवंबर 2017

आपका बहता रक्त क्या कहता है // सुशील शर्मा

रक्त समूह व्यक्ति के चरित्र को काफी हद तक निर्धारित करता है। ए, बी, एबी और ओ रक्त के प्रकार के बारे में सबने  सुना है। जब आपको रक्त आधान मिल...

रविवार, 19 नवंबर 2017

ख्वाब के गांव में // जावेद अख़्तर

जावेद अख़्तर का यह कविता संग्रह अपने आप में नायाब है. कुछ-कुछ प्रायोगिक किस्म का. इसे कविता की कॉफ़ी टेबल बुक भी कहा जा सकता है. जावेद अख़्त...

ऐसे दें अपने सपनों को उड़ान // प्रदीप कुमार साह

भारत न केवल विश्व की दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाला देश है अपितु वह युवाओं का देश भी है. भारत की लगभग 65 प्रतिशत जनसंख्या युवा हैं और लगभग 60.5 क...

कवि मुक्तिबोध की जन्मशती // मनोज कुमार

साहित्य समाज में किसी कवि की जन्मशती मनाया जाना अपने आपमें महत्वपूर्ण है और जब बात मुक्तिबोध की हो तो वह और भी जरूरी हो जाता है। मनुष्य की अ...

शबनम शर्मा की कविताएँ

सोने की चिड़िया सोने की चिड़िया कहलाने वाला, ऋषियों का देश बतलाने वाला, यह भारत देश क्या से क्या हो गया, सोना मिट्टी बनता चला गया, और ऋषि...

शनिवार, 18 नवंबर 2017

हास्य-व्यंग्य // परमानेंट गवरमिंट ऑफ इंडिया // आशा रावत

मैं अपने प्रिय देश के एक सरकारी विभाग में चपरासी हूँ । मुझे अपने ओहदे पर बहुत गर्व है । बचपन में एक कविता पढ़ी थी जिसका अर्थ था कि हिमालय देश...

कहानी - राजपूतानी // मूल गुजराती लेखक - धूमकेतु // अनुवादक - डॉ. रानू मुखर्जी

अपने दोनों किनारों से छलकती रुपेण नदी बरसात के दिनों में भयंकर बन जाती है। जो भी इसके चपेट में आता है वह गोता खाता हुआ इसकी भंवर में पड़कर प...

----

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं...

1 करोड़ से अधिक पृष्ठ-पठन, 1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक तथा 2000 से अधिक फ़ेसबुक प्रसंशक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को इंटरनेट के विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.किसी भी फ़ॉन्ट, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर फ़ाइल में रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------