रचनाकार

देवेन्द्र कश्यप 'निडर' की कविताएँ

कविताएं (चिंतन)          1-- कश्यप-निषाद गान मैं ही कश्यप कुली और मैं ही निषाद पुत्र हूँ । शत्रुओं का विकट शत्रु दोस्तों का सच्चा मित्र हूँ ...

अधखुली आँखें (कहानी) // रवि सुमन

अधखुली आँखें (कहानी) रवि सुमन 1. मिठनपुरा, जुब्बा सहनी पार्क के पास, मिस्कॉट लेन नंबर- 6.. उस हलचल भरी भयानक सुबह को लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।...

व्यंग्य // छाप तिलक सब छीनी // डॉ. सुरेन्द्र वर्मा

छाप तिलक सब छीनी डा. सुरेन्द्र वर्मा खडी बोली (हिन्दवी) के प्रथम कवि, अमीर खुसरो का का एक लोकप्रिय गीत है – छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना लग...

ताँका की महक -सुगंध बिखेरती कवितायेँ (पुस्तक समीक्षा ) // सुशील शर्मा

ताँका की महक -सुगंध बिखेरती कवितायेँ (पुस्तक समीक्षा ) सुशील शर्मा जापानी साहित्य से हमारे परिचय का इतिहास लगभग ६५-६६ वर्ष पुराना है। महाकवि...

वर्तमान में साहित्यकारों के समक्ष चुनौतियाँ // सुशील शर्मा

वर्तमान में साहित्यकारों के समक्ष चुनौतियाँ सुशील शर्मा भारत, तेजी से प्रगतिशील राष्ट्र के रूप में, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक संक्रमणों मे...

देवेन्द्र सोनी की 2 लघुकथाएँ

लघुकथाएँ देवेन्द्र सोनी   रक्तदान छोटे बेटे की बीमारी से परेशान सुनीता जैसे तैसे अपने दिन काट रही थी। मजदूर पति सुरेश सुबह ही दिहाड़ी के लिए ...

"अनकही अनुभूतियों का सच”: एक विहंगावलोचन // हरिशंकर भट्ट

" अनकही अनुभूतियों का सच”: एक विहंगावलोचन अनकही अनुभूतियों का सच रचनाकार - अरविन्द भट्ट प्रकाशक - अंजुमन प्रकाशन इलाहाबाद मूल्य- रुपये ...

बदलते परिवेश में माँ की भूमिका // श्रीमती शारदा नरेन्द्र मेहता

बदलते परिवेश में माँ की भूमिका श्रीमती शारदा नरेन्द्र मेहता (एम.ए. संस्कृत ) विश्व के जितने भी महापुरूष हुए हैं उन सब के व्यक्तित्व के निर्म...

15 वाँ अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन मास्को में सम्पन्न

                           प्रबोध कुमार गोविल के नये उपन्यास ‘‘अक़ाब’’ का विमोचन जयपुर। राजस्थान के सुप्रसिद्ध साहित्यकार प्रबोध कुमार गोविल...

कहानी // काठी // मिहिर

एक गांव भर में बात आग की तरह फैल गई - माधो सिंह पागल हो गया है। माधो सिंह - जगत सिंह का लड़का। गांव का एकमात्र हलवाहा। जिसने भी सुना सहसा यकी...