सोमवार, 31 अक्तूबर 2005

मोहन द्विवेदी की हास्य-व्यंग्य कविताएँ

**-** 1 काव्य मंच की कविता : अक्का बक्का तीन तलक्का **-** अक्का बक्का तीन तलक्का फेंका गुगली मारा छक्का, दर्शक हो गए हक्का-बक्का. करता बन्...

शनिवार, 29 अक्तूबर 2005

स्वामी वाहिद काज़मी की कहानी : लानत

**-** - स्वामी वाहिद काज़मी अपने सीने में दहकते अंगारे भरे, सिर से धुएँ के बादल उड़ाती, मेल ट्रेन धड़धड़ाती हुई आकर, प्लेटफ़ॉर्म पर विश्...

शुक्रवार, 28 अक्तूबर 2005

संजय विद्रोही की चंद ग़ज़लें

ग़ज़ल (१) जब भी गिरता है नीर आँखों से, झरने लगती है पीर आँखों से. उसके झोले में चाँद सूरज हैं, वो, जो दिखता फकीर आँखों से. खींच देगा वो आज...

गुरुवार, 27 अक्तूबर 2005

कुछ चुटीले, सच्चे प्रसंग

**-** महान् लेखक मार्क ट्वेन पांडुलिपि में विराम-चिह्नों का प्रयोग नहीं ही करते थे. एक बार अपनी एक पुस्तक की पांडुलिपि प्रकाशक को भेजते हुए ...

बुधवार, 26 अक्तूबर 2005

सआदत हसन ‘मण्टो’ की कहानी : ...देख कबीरा रोया

-सआदत हसन मण्टो नगर-नगर ढिंढोरा पीटा गया कि जो व्यक्ति भीख मांगेगा, उसको गिरफ़्तार कर लिया जाएगा. गिरफ़्तारियाँ आरंभ हुईं. लोग खुशियाँ मना...

मंगलवार, 25 अक्तूबर 2005

चुनिंदा शायरों की कुछ मजाहिया ग़ज़लें

**-** ग़ज़ल 1 - इब्न – ए – इंशा देख हमारे माथे पर यह दश्त-ए-तलब की धूल मियाँ हमसे अजब तेरा दर्द का नाता, देख हमें मत भूल मियाँ अहल-ए-वफ़ा...

शनिवार, 22 अक्तूबर 2005

आंध्र प्रदेश की एक मर्मस्पर्शी कहानी : उसका चावल

**-** -विजय उरसुला ने ईंटों के चूल्हे पर चढ़ी देगची संडासी से उतारी और चूल्हे के आगे जमा हुई राख पर रख दी. चूल्हे में सूखी लकड़ियाँ चट-चट ...

शुक्रवार, 21 अक्तूबर 2005

रमेश चन्द्र श्रीवास्तव की तीन ग़ज़लें

**-** ग़ज़ल 1 वह सामने नहीं है मगर कल्पना तो है आँखें जो बन्द की हैं वो अकसर दिखा तो है चिट्ठी के शब्द-शब्द में उसका ही बिम्ब था तनहाई मे...

गुरुवार, 20 अक्तूबर 2005

भूखे रहो, मूर्ख रहो – स्टीव जॉब्स

ये हैं कंप्यूटर गुरू स्टीव जॉब्स . एप्पल कंप्यूटर और पिक्सार एनिमेशन स्टूडियोज़ के प्रमुख. मौक़ा है स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के दीक्षांत स...

बुधवार, 19 अक्तूबर 2005

रवीन्द्र नाथ टैगोर की कहानी : स्त्री का पत्र

- रवीन्द्र नाथ टैगोर पूज्यवर, आज पन्द्रह साल हुए हमारे ब्याह को. हम तब से साथ ही रहे. अब तक चिट्ठी लिखने का मौका ही नहीं मिला. तुम्हारे घर...

मंगलवार, 18 अक्तूबर 2005

अर्थहीन कविता

-हरिहर झा सार्थक है वह कविता - जो मंत्रियों की चाटुकारिता से परहेज न करे जो राजों रजवाड़ों के भाट चारण का वारिस हो सके करोड़ीमल के संस्मर...

सोमवार, 17 अक्तूबर 2005

स्वामी वाहिद काज़मी की कहानी : चिराग़ तले

**-** - स्वामी वाहिद काज़मी उस नगर का नाम है – अब्दालगंज और अब्दालगंज का एक घना और बारौनक़ बाज़ार है- बड़ा बाज़ार. वहीं बारह-पंद्रह ...

शनिवार, 15 अक्तूबर 2005

हास्य व्यंग्य : पांचवें पैग़म्बर

**-** -भारतेंदु हरिश्चंद्र लोगो दौड़ो, मैं पाँचवाँ पैग़म्बर हूँ. दाऊद, ईसा, मूसा, मुहम्मद ये चार हो चुके. मेरा नाम चूसा पैगम्बर है. मैं वि...

शुक्रवार, 14 अक्तूबर 2005

संड-भंड संवाद

- भारतेंदु हरिश्चंद्र आप कौन हैं ? मैं हूँ भंडाचार्य. कहाँ से आ रहे हैं? मैं अनादि कब्रिस्तान से उठा हूँ. विशेषता क्या है? क्या मतलब? तो आप...

गुरुवार, 13 अक्तूबर 2005

मीरा शलभ की कुछ व्यंग्य कविताएँ

**-** -मीरा शलभ *स्त्री उसने सोचा था उसे पाँव की जूती तभी तो आज वह काटने को आमादा हो गई। *मिल बांट कर खाओ माँ ने सिखलाया था बचपन में कि ...

बुधवार, 12 अक्तूबर 2005

बाल कथा : चिकी-मिकी तुम सुधरोगे भी?

**-** -पुष्पा रघु चिकी-मिकी उस पोखर के राजकुमार थे. क्योंकि उनकी माँ रोमी से उस ताल के सारे मेंढक-मेंढकी डरते थे. उसका शरीर खूब मोटा-ताजा ...

मंगलवार, 11 अक्तूबर 2005

बाल कहानी : बोली तितली रानी

**-** - पुष्पा रघु हद दर्जे की आलसी और निकम्मी लड़की है नूपुर. स्कूल से घर आती है तो बस्ता पटक, जूते-मोजे इधर-उधर फेंक, सीधी खाने क...

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------