July 2007

संताल और उनकी दुनिया

आलेख   - कमल   ये उन लोगों की बात है जिनके बारे में प्रारंभिक जानकारियां बताती हैं कि आर्यों ने अपने अभियानों के दौरान उन पर आक्रमण ही न...

निगरानी

कहानी निगरानी   - राजनारायण बोहरे   पंछी राम बड़ा तुर्रम खाँ है । पूरे पैंतीस बरस से वह कलेक्टर के हाथ के नीचे काम कर रहा है, सो बड़े -ब...

संजय पुरोहित की दो लघुकथाएँ

2 लघुकथाएं - संजय पुरोहित मातम न्यूज टीवी चैनल के स्टूडियो के एक कमरे में कुछ लोग निराश-निढाल बैठे थे। उनकी इतने दिनों की मेहनत ब...

शासन शब्द और शस्त्र से होता है

आलेख   -मनोज सिंह   पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो का तकरीबन दो दशक पूर्व एक वक्तव्य आया था कि वह अपने बेटे को या तो सेना...

तीसरा सपना

कहानी -कमल न चाहते हुए भी भुजंग दम साधे पल्टू के पीछे खतरनाक पहाड़ी पर बढ़ा जा रहा था। उस बेहद कठिन सूत-सी पतली पगडंडी पर जरा भी चू...

बिजनेस वेब डॉट कॉम

कहानी-   राजनारायण बोहरे   एकबारगी मैं तो पहचान ही नहीं पाया उन्हें...ऽ कहां वो अन्नपूर्णा भाभी का चिर-परिचित नितांत घरेलू व्यक्तित्व ...