November 2007

पंडित मालिकराम भोगहा का साहित्यिक अवदान

पुण्यतिथि : 30 नवंबर  पर विशेष पंडित मालिकराम भोगहा का साहित्यिक अवदान प्रो. अश्विनी केशरवानी छत्तीसगढ़ प्रदेश अनेक अर्थों में अपनी विशे...

कविता संग्रह : तारों के गीत

डॉ. महेंद्र भटनागर उत्कृष्ट काव्य-संवेदना समन्वित द्वि-भाषिक कवि : हिन्दी और अंग्रेज़ी। सन् 1941 से काव्य-रचना आरम्भ। 'विशाल भारत&#...

सुशील कुमार की कविताएँ

यह चुप्पियों का शहर है -   सुशील कुमार यह चुप्पियों का शहर है निजाम बदल गयी तंजी में बदल गयीं पर इस शहर की तसवीर नहीं बदली यह, हादसों क...

छत्तीसगढ़ और पंडित शुकलाल पांडेय

प्रो. अश्विनी केशरवानी भव्य ललाट, त्रिपुंड चंदन, सघन काली मूँछें और गांधी टोपी लगाये साँवले, ठिगने व्यक्तित्व के धनी पंडित शुकलाल पांडेय...

बाल-साहित्य : हँस-हँस गाने गाएँ हम !

बाल-साहित्य   हँस-हँस गाने गाएँ हम !  कवि - डॉ. महेंद्रभटनागर                                                                          ...

जब भी यह दिल उदास होता है, जाने कौन आस पास होता है...

गुलज़ार के चंद नगमे (1) जब भी यह दिल उदास होता है जाने कौन आस-पास होता है होंठ चुपचाप बोलते हों जब सांस कुछ तेज़-तेज़ चलती हो आंखें जब द...

अतुल चतुर्वेदी की कविता : स्थगन

कविता -अतुल चतुर्वेदी स्थगित हो जायेंगे सब सोचे हुए काम एक दिन वयस्त्तायें पट जायेंगी  रात के कुहासे सी बिखरी होगीं साजिशें चारों तरफ़ ऐ...

युवक- युवती सम्मेलन

कविता     -डॉ० कान्ति प्रकाश त्यागी   कुछ लड़के और लड़कियों के मम्मी और पाप आपस में मिले एक ने दूसरे को , दूसरे ने तीसरे को उचित वर ...

वीडियोकास्ट : सत्यप्रसन्न के दोहे

सत्यप्रसन्न के चंद दोहे रचनाकार पर आपने यहाँ पढ़े. इनका सस्वर पाठ नीचे दिए गए वीडियो में आप देख-सुन सकते हैं.   आप स्वयं अपनी रचनाओं को ...

दोस्तों का कर्ज

बाल कहानी दोस्तों का कर्ज -ज़ाकिर अली `रजनीश´ शाम का समय था। असलम उस समय कमरे में अकेला था। वह अभी-अभी खेल के मैदान से लौटा था। उसने कनख...