गुरुवार, 2 दिसंबर 2010

दीपिका राय, प्रीति खंडेलवाल, पूर्णिमा सिसोदिया, पूनम सिंग, सोनम सिकरवार और विनीता राजपूत की कलाकृतियाँ

संभावनाओं व ऊर्जा से ओतप्रोत युवा कलाकार – दीपिका, प्रीति, पूर्णिमा, पूनम, सोनम और विनीता के कलाकृतियों की प्रदर्शनी सरल आर्ट गैलरी में प्रदर्शित हैं. प्रस्तुत है युवा कलाकार अपनी कलाकृतियों के साथ -

deepika roy1

(दीपिका राय)

 

vinita rajput

(विनीता राजपूत)

 

poonam singh

(पूनम सिंग)

 

preeti khandelwal 2

(प्रीति खंडेलवाल)

 

purnima sisodiya

(पूर्णिमा सिसोदिया)

 

sonam sikarwar

(सोनम सिकरवार)

 

sonam sikarwar ki kalakriti

(सोनम सिकरवार की कलाकृति)

 

poornima sisodiya ik kalakriti

(पूर्णिमा सिसोदिया की कलाकृति)

3 blogger-facebook:

  1. बेनामी5:51 pm

    उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  2. तूलिकाएं भाव-रंग बिखेरने में सफल रही हैं.... मेरी शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  3. "बहुत अच्छा स्टार्ट है, कृतियों की तुलना नहीं हो सकती इसलिए कि वे सब जुदा हैं एक-दूसरे से और बेमिसाल भी हैं...

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------