रविवार, 31 जुलाई 2011

सुरेन्द्र अग्निहोत्री की कविता

उम्‍मीदें,

आकांक्षाएं,

चिंताएं!

आखिर ऐसा क्‍या कर दिया

उन्‍होंने,

हमसे हमारी स्‍वाधीनता छीन कर?

 

योजनाबद्ध ढंग से

हमें कुसंस्‍कारित कर दिया

फिलहाल हम

पीठ बहुत मुस्‍तैदी से थपथपा रहे

यह कर्म और धर्म है

झूठ पर झूठ गढ़ते चले जा रहे

 

असली चिन्‍ता

उत्‍थान में बुनियादी आधार

संभवामि युगे-युगे की गहरी अनुगूँज

अधर्म के हाथों

अपमानित किया जाता है धर्म...।

 

गौतम, महावीर, शंकराचार्य, तुलसी, कबीर

बगैर किसी हथियार के

आदिम पाश्‍विकताओं के बीच फैलाया

इस पुकार को न समझना

सुनकर अनसुनी करना

सभ्‍यता के नाम पर असभ्‍यता को सहना

अन्‍याय और अत्‍याचार पर आँखें मूदे रहना

 

यह न वैदिक ऋषियों को रहा मंजूर

न हम स्‍वीकार सकते हुजूर

पश्‍चिमी सभ्‍यता का शैतान

घृतराष्‍ट्र की सभा में भले ही बने महान।

 

-सुरेन्‍द्र अग्‍निहोत्री

राजसदन-120/132

बेलदारी लेन,

लालबाग, लखनऊ

1 blogger-facebook:

  1. सार्थक समसामयिक कविता के लिये सुरेन्द्र जी को बधाई

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

------------------------------------------------------------

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं...

1 करोड़ से अधिक पृष्ठ-पठन, 1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक तथा 2000 से अधिक फ़ेसबुक प्रसंशक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को इंटरनेट के विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.किसी भी फ़ॉन्ट, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर फ़ाइल में रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------