सत्यवान वर्मा सौरभ की ईश वंदना

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

image
माँ वीणा वादिनी, मधुर स्वर दो !
हर जिह्वा वैभवयुक्त कर दो !!
मन सारे स्नेहमय हो जाये,
जीवन में वो अमृत भर दो!!

माँ वीणा की झंकार भर दो !
दिल में नवल संचार कर दो !!
हर डाली खुश्बूमय हो जाये ,
ऐसे सब गुलज़ार कर दो !!

अंतस तम को दूर कर दो !
अंधियारे को नूर कर दो !!
मन से मन का हो मिलन,
भेद सारे चूर कर दो !!

गान कर माँ रागिनी का !
भान कर माँ वादिनी का !!
पूरी हो माँ सब कामनाएं,
दो सुर माँ रागिनी का !!
__डॉक्टर सत्यवान वर्मा सौरभ

--


चित्र - अमरेन्द्र aryanartist@gmail.com  फतुहा, पटना की कलाकृति

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

0 टिप्पणी "सत्यवान वर्मा सौरभ की ईश वंदना"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.