कैस जौनपुरी के नगमें

-----------

-----------

image
तुम अहसास हो

तुम अहसास हो
मैं जज्बात हूँ
तब तक न मिलें
जिन्दगी अधूरी है....
यही है रिश्ता
हमारा तुम्हारा

बिन एक दूजे के
तू भी कुछ नहीं
मैं भी खाक हूँ
तुम अहसास हो
मैं जज्बात हूँ....
मिल जाएँ अगर
तो कुछ बात हो...
तुम अहसास हो
मैं जज्बात हूँ....

बिन तुम्हारे
मैं हूँ क्या
इक बिगड़ी हुई
हालात हूँ...
तुम अहसास हो
मैं जज्बात हूँ...

कैस जौनपुरी
qaisjaunpuri@gmail.com
www.qaisjaunpuri.com

-----------

-----------

3 टिप्पणियाँ "कैस जौनपुरी के नगमें"

  1. बिन एक दूजे के
    तू भी कुछ नहीं
    मैं भी खाक हूँ
    तुम अहसास हो
    मैं जज्बात हूँ....
    मिल जाएँ अगर
    तो कुछ बात हो...
    तुम अहसास हो
    मैं जज्बात हूँ....

    बहुत खूब !जोरदार ! जय हो !

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह..
    बेहतरीन रचना सांझा की आपने..
    शुक्रिया.

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.