रविवार, 22 जनवरी 2012

साहित्‍यिक संस्‍था ‘परमार्थ' में सम्मान समारोह - 2012

muradabah sahitya samachar (Mobile)

साहित्‍यिक संस्‍था ‘परमार्थ' एवं मानसरोवर कन्‍या इंटर कॉलेज के तत्‍वावधान में

सम्‍मान समारोह - 2012

मानसरोवर कन्‍या इंटर कालेज मुरादाबाद उ.प्र तथा साहित्‍यिक संस्‍था ‘परमार्थ' के तत्‍वावधान में दिनांक 19.01.2012 को विद्यालय की संस्‍थापिका, शिक्षाविद्‌ एवं समाजसेवी स्‍व. शकुंतला प्रकाश गुप्‍ता की सप्‍तम्‌ पुण्‍यतिथि पर विद्यालय के सभागार में ‘साहित्‍य एवं कला विभूति सम्‍मान समारोह-2012' का आयोजन किया गया जिसमें प्रसि( शायरा डॉ.मीना नक़वी एवं वरिष्‍ठ चित्रकार डॉ.जगदीप भटनागर को अंगवस्‍त्र, प्रतीकचिह्न, मानपत्र एवं सम्‍मान राशि भेंटकर ‘शकुंतला प्रकाश गुप्‍ता साहित्‍य एवं कला विभूति सम्‍मान 2012' से सम्‍मानित किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ वरिष्‍ठ गीतकार श्री आनंद कुमार ‘गौरव' द्वारा प्रस्‍तुत सरस्‍वती वंदना से हुआ। इस अवसर पर डॉ.मीना नक़वी के व्‍यक्‍तित्‍व और कृतित्‍व पर अपने विचार व्‍यक्‍त करते हुए कवि श्री योगेन्‍द्र वर्मा ‘व्‍योम' ने कहा-‘डॉ.मीना नक़वी की शायरी अलग अंदाज़ की शायरी है, खुशबू के सफ़र की शायरी है। उनकी शायरी में काव्‍य के विविध रंग मिलते हैं, वह कभी ज़िंदगी का फलसफा समझाती हैं और कभी प्रेम की अनुभूतियाँ। नारी मन की व्‍यथा को भी उन्‍होंने अपनी अलग ही शैली में अभिव्‍यक्‍ति दी है।' डॉ.जगदीप भटनागर के व्‍यक्‍तित्‍व और कृतित्‍व पर श्री सुरेन्‍द्र प्रकाश ‘जुगनू जादूगर' ने प्रकाश डालते हुए कहा कि ‘डॉ.जगदीप जी मन की संवेदनाओं के चित्राकार हैं। उनके चित्रा जीवन के विविध्‍ रंगों की भावुक अनुभूतियाँ हैं।'

कार्यक्रम की अध्‍यक्षता वरिष्‍ठ समाजसेवी श्री लक्ष्‍मणप्रसाद खन्‍ना ने की तथा मुख्‍य अतिथि काशीपुर;उत्तरांचल निवासी वरिष्‍ठ साहित्‍यकार प्रो. ओमराज थे। विशिष्‍ट अतिथि आचार्य श्री राजेश शर्मा एवं समाजसेवी श्री विनय रस्‍तौगी रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन संस्‍था के संयोजक श्री विवेक ‘निर्मल' ने किया। विद्यालय के प्रबंधक श्री ओमप्रकाश गुप्‍ता ने मानसरोवर विद्यालय की विकास यात्रा एवं स्‍व. शकुंतलाप्रकाश गुप्‍ता के व्‍यक्‍तित्‍व पर अपने विचार व्‍यक्‍त किए।

कार्यक्रम में विद्यालय की शिक्षिकाओं और छात्र-छात्राओं के अतिरिक्‍त वरिष्‍ठ गीतकार ब्रजभूषण सिंह गौतम ‘अनुराग', आनंद कुमार ‘गौरव', पंकज गुप्‍ता, अवनीश सिंह चौहान, डॉ. महेश दिवाकर, अशोक विश्‍नोई, अनिल भँवर, विकास मुरादाबादी, मनोज ‘मनु', अतुल कुमार जौहरी, शिशुपाल ‘मधुकर', शिव अवतार ‘सरस', अनवर क़ैफी, डॉ. मधुलिका गुप्‍ता, अंबरीष गर्ग, रामदत्त द्विवेदी, डॉ.पूनम बंसल, शचींद्र भटनागर, मूलचंद राज, विनय गुप्‍ता, लक्ष्‍मी गुप्‍ता, सरला गुप्‍ता आदि अनेक गणमान्‍य नागरिक उपस्‍थित रहे।

- विवेक ‘निर्मल'

संयोजक- साहित्‍यिक संस्‍था ‘परमार्थ'

बी.एस. 17/18,दीनदयाल नगर, काँठ रोड,

मुरादाबाद- 244001 ;उ.प्र.

मो. - 9837636679

1 blogger-facebook:

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

------------------------------------------------------------

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं...

1 करोड़ से अधिक पृष्ठ-पठन, 1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक तथा 2000 से अधिक फ़ेसबुक प्रसंशक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को इंटरनेट के विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.किसी भी फ़ॉन्ट, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर फ़ाइल में रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------