हिमकर श्याम की कविता - सौदा

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

सौदा

 

गई रात ख्यालों में

देने लगा कोई दस्तक

पूछा- कौन ?

बोला-सौदागर

इतनी रात गए कैसे?

सौदा करने

कैसा सौदा?

जमीर का- बेचोगे?

बदले में क्या दोगे?

चमचमाते सोने के

कुछ टुकड़े।

 

पत्र-व्यहार का पता : हिमकर श्याम

5, टैगोर हिल रोड, निकट रिलायंस फ्रेश,

मोराबादी, रांची. (झारखण्ड)

पिन कोड : 834008.

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

0 टिप्पणी "हिमकर श्याम की कविता - सौदा"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.