मंगलवार, 31 दिसंबर 2013

नव वर्ष की कविताएँ

  मंजुल भटनागर नव वर्ष जीवन क्रम में एक दिवस नया चंहु ओर नवागत आह्लाद नया नव वर्ष अभिनन्दन . गाते भौरें गीत नया पक्षी करते मंगला चरण नव ...

अश्वनी कुमार शर्मा की कविताएँ

अश्‍वनी कुमार शर्मा   उदास रंग                                    सूने घर में कब से पड़े रंग उदास हो रहे कहते अपने मन की गाथा झर झर बहते ...

सोमवार, 30 दिसंबर 2013

मनोज सिंह जादौन की कहानी - ठिठुरन

ठिठुरन मनोज सिंह जादौन रे ल्वे स्टेशन पर अब भीड़ नहीं थी, क्यों कि ट्रेन तो सुबह छ; बजे ही चली जाती है और फिर दोपहर बारह बजे जाती है अब तो...

रामवृक्ष सिंह का आलेख - हिन्दी के अग्रदूत उड़न सिक्ख श्री मिल्खा सिंह

हिन्दी-प्रेमी श्री मिल्खा सिंह हाल ही में लखनऊ के जयपुरिया स्कूल में आयोजित एक समारोह में छात्रों को संबोधित करते हुए उड़न-सिक्ख श्री मिल्ख...

पद्मा मिश्रा की लघुकथा - एक नई शुरूआत

लघुकथा - एक नई शुरुआत --पद्मा मिश्रा  दादी अभी भी नाराज चल रही है ,सुबह से केवल चाय पी और ठाकुरजी के आगे बैठकर माला जप रही हैं - -स्निग्धा ...

राम नरेश ‘उज्‍ज्‍वल' की बाल कहानी - जंगली

राम नरेश उज्‍ज्‍वल जंगी पूरा जंगली था। ज्‍यादातर जंगल में ही रहता। पशु-पक्षियों का शिकार करता। उन्‍हें पका कर खाता। इस काम में उसे बड़ा म...

अजय कुमार दुबे की लघुकथा - प्रोबेशन पर

श शी की शादी बड़ी धूम-धाम से राजेश से हुई थी। ससुराल वालों की तारीफ करते शशि के मम्मी पापा अघाते नहीं थे हरतीज -त्यौहार पर रस्म के अनुसार फल...

शनिवार, 28 दिसंबर 2013

विनायक दामोदर सावरकर के संस्मरण - मेरा आजीवन कारावास

वीर सावरकर के संस्मरण (विनायक दामोदर सावरकर) संकलनकर्ता - डॉ. एस. एस. तँवर एवं मृदुलता (एम.ए.) संकटों के पराभव की कहानी बतलाने का आनंद अनु...

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------