शुक्रवार, 13 दिसंबर 2013

नीरा सिन्हा की लघुकथा - एक लंबी खामोशी

एक लंबी खामोशी

राहुल जब रितू को अचानक छोड़कर चला गया तब रितू को महसूस हुआ कि गलती की कि उसने लिव-इन रिलेशन राहुल से बनाया. नोचता-खरोंचता एक साल तक राहुल तो जैसे रितू के जिंदगी का रस ही निचोड़ लिया था.

प्रिया ने जब सुना कि राहुल रितू को छोड़ गया है तो उसे चिंता से ज्‍यादा क्रोध आ रहा था क्‍योंकि अपनी सहेली रितू को उसने कई बार समझाया था कि लिव-इन के सारे खतरे महिलाओं के लिए है, पुरूषों के लिए नहीं. दरअसल चंद स्‍वार्थी जिम्‍मेदारी से भागने वाले पुरूषों की सुनियोजित चाल है लिव-इन रिलेशन बनाना ताकि युवा महिलाएं लिव-इन रिलेशन के प्रति आकर्षित हों और भावना में बहकर अपना सब कुछ गंवा बैठे लेकिन रितू इन सभी सूझावों को नजरअंदाज कर आखिर रहने लगी थी राहुल के साथ लिव-इन रिलेशन में.

क्‍या मिला लिव-इन रिलेशन में तुम्‍हें, प्रिया ने रितू से पूछाा था ?

रितू के जुबां पर चस्‍पा थी एक लंबी खामोशी !

नीरा सिन्‍हा

प्रोफेसर कॉलोनी, न्‍यू बरगंड़ा

गिरिडीह-815301

झारखंड़

1 blogger-facebook:

  1. बेनामी1:24 pm

    aapi likhi kahani aaj ke parivesh ko aur jindgi ki sachaai ko samne dikhati hai rachnaa achiii nahi bahut achii hai likhte rahiyee.......pihudi

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------