बुधवार, 26 फ़रवरी 2014

यशवन्त कोठारी की लघुकथा - एक बूढ़ा और गिलहरी

लघुकथा

   एक बूढ़ा   औऱ  गिलहरी 

यशवन्त कोठारी

तेज बर्फ गिर रही है। चारों तरफ  बर्फ का समंदर है। पेड़ो पर पत्तियों  पर सब तरफ बर्फ ही बर्फ। कभी रेत  का समंदर देखा था,फिर पानी का समंदर  और अब बर्फ का समंदर। 

इस तेज बर्फानी  मौसम में सामने वाले फ्लेट में  एक बूढ़ा  नितांत अकेला ,रोज उसे देखता हूं ,केवल सिगार पीने  के लिए बाहर  आता है, उसे बाहर  देख कर दो गिलहरियां  इस मौसम में भी पास  आकर उसे टुकुर टुकुर तकती  हैं।  बूढ़ा  उन्हें मूंगफली के दाने  डालता है, गिलहरी दाने  लेकर भाग जाती हे बर्फ अभी भी गिर रही है। 

बूढे  के एकांत अकेलेपन  उदासी  का सहारा बन गयी  है गिलहरी। एक चिड़िया भी आ गयी  है. 

गिलहरी की आँखों  में चमक है,  बूढ़े  की आँखों में उदासी।

आज गिलहरी को डालने के लिए कुछ  नहीं है। बूढ़ा ,गिलहरी  चिड़िया तीनो उदास हैं। बर्फ़   अभी भी गिर रही है।  

यशवन्त  कोठारी  ८६  लक्मी नगर ब्रह्मपुरी बहार  जयपुर-२

2 blogger-facebook:

  1. अखिलेश चन्द्र श्रीवास्तव7:18 am

    थोड़े में ही बहुत कुछ कह दिया वाह कोठारी जी बूढा
    गिलहरी और चिड़िया उनके सुख दुःख आपसी रिश्ते
    सचमुच प्रभावशाली पर उत्सुकता रह गयी आगे क्या
    हुआ खैर फिर सही बधाई

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------