रविवार, 5 अक्तूबर 2014

शशिकांत सिंह ’शशि’ का व्यंग्य - नेता की सेल


नेता की सेल
व्यंग्य

                                     काउंटर नं-1

         ले जाइये साहबान ! मेहरबान । मेरा नेता ले जाइये। यह अत्यंत सस्ता और टिकाऊ है। आप जिसे पार्टी के लिए इसे चुनेंगे ,उसी पार्टी में पूरे पांच साल तक रहेगा । हैं। यह आपके सारे काम कर देगा । यदि आपको पैरवी करानी हो । किसी अधिकारी के पास आपका बहुत दिनों से कोई काम पैंडिग हो । तो एक बार इस नेता के नाम को अवश्य आजमायें । यह बहुत ही मुफीद नाम है श्रीमान । अधिकारी बाधा तो बस नाम लेते ही दूर हो जाती है। एक बार सेवा का मौका अवष्य दें । हमारे काउंटर पर आइये । आपको नेता के साथ अनेक चीजें मुफ्त में भी मिलेंगी । यदि आप एक नेता लेते हैं तो आपको इसके साथ दो सौ करोड़ का भ्रष्टाचार बिल्कुल निःशुल्क मिलेगा । यह भ्रष्टाचार आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। यह खाता और खिलाता है। खाने वाले ही खिलाते हैं । भ्रष्टाचार के साथ-साथ आपको इसका एक भतीजा भी प्राप्त होगा जो खुले सांड की तरह संसार में भटकता है। वह जब चाहे जिसे चाहे गालियां दे सकता है। किसी के भी पजामे का नारा काट सकता है। आपको घबराने की जरूरत नहीं है । वह चाचा के वोटरों को कुछ नहीं कहता । संकेतार्थ समझ गये हों तो दूसरे लाभ पर आइये । हमारे नेता को वोट देने का अर्थ है कि आपको किसी दूसरे की गुंडगर्दी नहीं सहनी पड़ेगी । आपका वाहन कोई उठाकर ले जाये तो एक फोन ही काफी है। नेताजी जानते हैं कि कौन-कौन वाहन चोर सदैव जनता की सेवा में सक्रिय रहते हैं । भ्रष्टाचार और गंुडागर्दी से मुक्ति के लिए आप नेताजी को ही वोट दें ।
                               
                                    काउंटर नं-2

           चोर-उचक्कों की बात पर मत ध्यान दीजिये श्रीमान । आप हमारे भगवान हैं । हम आपके सेवक है। भूल गये पिछली बार कितनी सेवा की थी । हमारे नेता को ही वोट दें । बची-खुची सेवा करवा लें । आप उनके आॅफर पर ध्यान मत दीजिये । हमारे पास उनसे अच्छे आॅफर है। हमारे पास नंगों और दंगों की कमी नहीं है । आप चाहें य नहीं चाहें हम दोनों की पर्याप्त सप्लाई देंगे । अभी यु पी में चुनाव होने थे । हमने किसी को एक दिन भी चैन से सोने नहीं दिया । निरंतर और निष्काम भाव से दंगे करवाये । परिणाम हमारे पक्ष मंे नहीं रहे तो कोई बात नहीं । फल तो ईश्वर के हाथ में होता है। इतना ही नहीं हमारे नेताजी को वोट देने का अर्थ है कि आपको बातों की कोई कमी नहीं होगी । हम आपको निरंतर और निष्काम भाव से मीठी और मनमोहक बातें देते रहेंगे । रही बात सड़क, पानी और बिजली की तो उसके लिए आपको अगले जन्म तक इंतजार करना पड़ेगा । यदि आप पंछी हो गये तो अपने आप इन समस्याओं से मुक्ति मिल जायेगी । हमारे पास आपके लिए अनेक महान योजनाएं हैं । एक बार वोट देकर देखिये । हम आपको सांस्कृतिक राष्ट्रवाद देंेगे।  हम अफ्गानिस्तान, पाकिस्तान, नेपाल, भूटान, और वर्मा तक देश का विस्तार करेंगे । देश नहीं दिल जीतेंगे श्रीमान । हम संसार में नौजवान सप्लाई करेंगे । राजनेता सप्लाई करेंगे । आपको केवल रोटी , और रोजगार हम नहीं दे सकते । शेष सारी नियामतें हम थाली में रख कर देंगे । हां .....हम समुद्र पर एक पुल भी बांधेंगे। आपको गांव जाने वाली सड़क को नदी ने तोड़ दिया है । ............तो उस पर भी पुल होगा । पहले समुद्र पर तो बांध लें ।
                                 
                             काउंटर नं- 3

         आज सारा देश भ्रष्ट हो गया है। आपको नेता केवल हमारे काउंटर पर ही सच्चे और ईमानदार मिलेंगे । हम इन्हें अलग वातावरण में विकसित करते हैं। इनके अंदर एक भी कतरा बेईमानी का नहीं होता । आप इन्हें ले जायें । कभी भी शिकायत हो तो दूसरा ले जायें । एक पर दो बोनस । एक प्रशासन चलायेगा । दूसरा अपने ही प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करेगा । यानी कि विरोधी दल की भी जरूरत नहीं होगी । आम के आम और गुठली के दाम । यदि जरूरत पड़ी तो हम तुरंत दल-बल सहित सड़क पर बैठ जायेंगे । धरना देने के लिए हमें विदेषों तक में बुलाया जाता है। ’लोकतंत्र में धरना का महत्व’ इस विशय पर हमने कई अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार आयोजित किये और उसमें खुद बोलते रहे  । आप दूसरे किसी भी काउंटर पर गये तो आप ठगे जायेंगे। आपने हमें एकबार सेवा का अवसर दिया । हमने अपनी केचुल ठीक से उतारी भी नहीं था कि मौका हाथ से निकल गया । एक बार फिर से मौका दीजिये । छाती फटती है जब आदमी इतना बड़ा बंगला छोड़ता है । हम सच्चे गांधीवादी हैं। थप्पड़ों का जवाब कभी पलट के नहीं दिया । इन लोगों  पर तो चप्पल चलें हैं। हम पर केवल थप्पड़ । यानी कि जनता के दिल में हमारा प्यार अमर है। यदि इन लोगों ने आपसे वोट मांगने की जल्दीबाजी की तो हम सबकी पोल खोल देंगे। हमने अलग से एक पोलखोल विभाग बना रखा है । वह केवल पोल खोलता है।
                                   काउंटर -4
       माताओं और बहनो, देवियों और सज्जनों, चाचाओं और भतीजों , सखाओं और सखियों । हम तो केवल एक ही नाम जानते हैं। उसी की जाप करते हैं। आपको लोकसभा चुनाव मे नहीं भाया तो अब क्या कहें । भैया जी काफी योग्य हैं। योग्यता क्या है पूछकर बतायेंगे । भैया जी काफी कर्मठ हैं। काम क्या करते हैंं पूछकर बतायेंगे । भैया जी काफी ईमानदार हैं । क्यों हैं एक बार पूछना पड़ेगा । भैया जी काफी होनहार हैं। होनी ही उनके विपरीति रहती है। भैया जी काफी बड़े नेता हैं। कहां के .......पूछकर बतायेंगे । तो अब क्या बोलंंें.......आप तो हमारा इतिहास जानते हैं। कोयले से लेकर टूजी तक । हम तो .............भैया जी .......भैया जी......मैडम.......मैडम........मैडम जी......जी....जी......।

                                                               शशिकांत सिंह ’शशि’
                                                            जवाहर नवोदय विद्यालय
                                                             शंकर नगर , महाराष्ट्र
                                                              

3 blogger-facebook:

  1. उत्तम रचना बधाई शशि जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. शशि जी नेताओं के बारे में आपको बढ़िया ज्ञान है
    अच्छी सेल लगाई जरूर बिकेंगें बधाई

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------