रविवार, 14 दिसंबर 2014

पाक कला - एयर फ्राई मटर और राजमा

एयर फ्राई मटर और राजमा

image

आपकी लोकप्रिय पत्रिका में रचनाकार में कुछ और कॉलम जोड़े जा रहे हैं. पाक कला में खान-पान संबंधी सामग्री होगी तो तकनीक में नवीन, उपयोगी तकनीक के बारे में खोज-खबर.

आप इन विषयों पर भी अपनी रचनाएं भेज सकते हैं.

पाक कला की शुरूआत करते हैं मटर और राजमा का स्नैक बनाकर, वह भी न्यूनतम तेल में एयर फ़्राई कर.

एयर फ़्राई करने के लिए आपके पास एयर फ़्रायर होना आवश्यक है. यदि एयरफ़्रायर नहीं भी है तब भी आप पैन में शैलो फ्राई या डीप फ्राई कर इसे बना सकते हैं. विधि एक जैसी है, फ्राई करने का तरीका अलग है बस. यदि आपको स्वास्थ्यवर्धक, कम तेल का एक्सपेरीमेंटल भोजन पसंद है तो आपको एक अदद एयर फ्रायर अवश्य खरीदना चाहिए. बाजार में फ़िलिप्स / बजाज आदि के अच्छे एयर फ़्रायर आते हैं जिन्हें देखभाल कर खरीदा जा सकता है.

 

सामग्री - वांछित मात्रा में मटर या राजमा, स्वादानुसार नमक, मिर्च और हल्दी.

मटर / राजमा को 10-12 घंटे भिगा लें. फिर अच्छी तरह से उबाल लें, ताकि वे नरम पड़ जाएं. फिर निथार और सुखा कर उसमें स्वादानुसार नमक, मिर्च और हल्दी पाउडर डालें और यदि एयरफ्राय कर रहे हों तो एक चम्मच तेल डाल कर अच्छे से मिला लें. और एयरफ़्रायर में रख कर मात्रा के अनुसार समय सेट कर फ्राई करें. बीच बीच में देखते रहें. ऊपरी हिस्सा हल्का ब्राउन होने लगे या पर्याप्त कुरकुरा पन आ जाए तो निकाल लें और गर्मागर्म खाएं या ठंडा होने के बाद इसके असली कुरमुरे पन का आनंद लें.

1 blogger-facebook:

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

------------------------------------------------------------

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं...

1 करोड़ से अधिक पृष्ठ-पठन, 1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक तथा 2000 से अधिक फ़ेसबुक प्रसंशक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को इंटरनेट के विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.किसी भी फ़ॉन्ट, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर फ़ाइल में रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------