आलेख || कविता ||  कहानी ||  हास्य-व्यंग्य ||  लघुकथा || संस्मरण ||   बाल कथा || उपन्यास || 10,000+ उत्कृष्ट रचनाएँ. 1,000+ लेखक. प्रकाशनार्थ रचनाओं का  rachanakar@gmail.com पर स्वागत है

-------------------

रचनाकार अब गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध!

खुशखबरी!

रचनाकार अब गूगल प्ले स्टोर पर ऐप्प के रूप में उपलब्ध हो गया है.

गूगल प्ले स्टोर पर आप रचनाकार या rachanakar से सर्च करें और इस ऐप्प को इंस्टाल करें.

इस ऐप्प को इंस्टाल करने के बहुत से फायदे नीचे स्क्रीनशॉट से स्पष्ट हो जाएंगे, मगर फिर भी कुछ विशेष आकर्षण हैं -

  • रचनाकार में अब तक प्रकाशित रचनाओं पर एक समग्र दृष्टि
  • रचनाओं को क्रमित (सार्ट करने या छांटने) करने की अतिरिक्त सुविधा
  • नई रचनाएं प्रकाशित होने की सूचना (नोटिफिकेशन)
  • रचनाओं की सूची भिन्न तरीके से देखने की सुविधा
  • पसंदीदा रचनाओं को छांटने का तेज तरीका आदि.. आदि...

रचनाकार ऐप्प इंस्टाल करें, और साहित्य की दुनिया में खो जाएँ!

यदि आपने अपने मोबाइल या टैबलेट को डिवाइस मैनेजर के जरिए कंप्यूटर से जोड़ रखा है तो आप इस लिंक से भी इस ऐप्प को अपने मोबाइल उपकरण पर इंस्टाल कर सकते हैं -

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org

 

और हाँ, महत्वपूर्ण बात यह कि इस ऐप्प को तकनीक द्रष्टा के श्री विनय प्रजापति ने बनाया है. उन्हें धन्यवाद.

 

ऐप्प का पहला पेज - जब रचनाकार ऐप्प लोड होता है -

image

 

दूसरे पृष्ठ पर आपको श्रेणीवार रचनाओं की सूची दिखाई देती है -

image

 

रचनाओं की सूची कई तरीके से देख सकते हैं - यह बिक आइकन वाला रूप है -

image

 

यह सूची स्माल आइकन वाला है -

image

 

आप इस ऐप्प की सेटिंग कई मनोवांछित तरीके से कर सकते हैं -

 

image

 

रचनाओं को कई तरीके से छांट सकते हैं -

image

 

साझा कर सकते हैं, अक्षरों का आकार बदल सकते हैं आदि आदि...

image

 

और, अपनी प्रतिक्रिया तो दे ही सकते हैं. अच्छा हो यदि ऐप्प के जरिए दें, या फिर प्ले स्टोर में ऐप्प इंस्टाल कर और उसका अनुभव लेकर रेटिंग दर्ज करें तो और अच्छा.

image

टिप्पणियाँ

----------

10,000+ रचनाएँ. संपूर्ण सूची देखें.

अधिक दिखाएं

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

---

तकनीक व हास्य -व्यंग्य का संगम – पढ़ें : छींटे और बौछारें

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद/अनुसरण करें

परिचय

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही रचनाकार से जुड़ें.

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है. अपनी रचनाएं इस पते पर ईमेल करें :

rachanakar@gmail.com

अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

डाक का पता:

रचनाकार

रवि रतलामी

101, आदित्य एवेन्यू, भास्कर कॉलोनी, एयरपोर्ट रोड, भोपाल मप्र 462030 (भारत)

कॉपीराइट@लेखकाधीन. सर्वाधिकार सुरक्षित. बिना अनुमति किसी भी सामग्री का अन्यत्र किसी भी रूप में उपयोग व पुनर्प्रकाशन वर्जित है.

उद्धरण स्वरूप संक्षेप या शुरूआती पैरा देकर मूल रचनाकार में प्रकाशित रचना का साभार लिंक दिया जा सकता है.


इस साइट का उपयोग कर आप इस साइट की गोपनीयता नीति से सहमत होते हैं.