बच्चन की कविताएँ बच्चन की हस्तलिपि में

विश्व हिंदी सम्मेलन 2015 के समापन समारोह में अमिताभ बच्चन को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाए जाने पर साहित्यकारों ने अमिताभ बच्चन के हिंदी साहित्यिक योगदान को लेकर विवाद खड़ा कर दिया. नतीजतन अमिताभ बच्चन ने समारोह से किनारा कर लिया.

प्रस्तुत है अमिताभ बच्चन के हिंदी साहित्यिक योगदान की एक झलकी -

पिता बच्चन (हरिवंशराय) की कविताएँ पुत्र बच्चन (अमिताभ) की हस्तलिपि में. अमूल्य. अभिनेता अमिताभ ने कवि हरिवंशराय बच्चन की कविताओं को अपना स्वर भी दिया है.

 

image

 

 

image

 

image

-----------

-----------

0 टिप्पणी "बच्चन की कविताएँ बच्चन की हस्तलिपि में"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.