रचनाकार

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका

चन्द्रकुमार जैन का आलेख - इवेन्ट मैनेजमेंट : रंग जमाएँ, जमकर कमाएँ !

image

 

आज के दौर में इवेंट मैनेजमेंट एक आकर्षक तथा शानदार व्यवसाय है। यह व्यवसाय आपकी किसी सृजनशील संभावनाओं को नई ऊँचाइयों पर ले जाने का अवसर देता है। इवेंट मैनेजमेंट किसी विशेष लक्षित श्रोता के लिए किसी व्यवसाय या इवेंट के संयोजन की प्रक्रिया है। इसमें संगीत समारोह, फैशन प्रदर्शनी, कार्पोरेट सेमीनार, प्रदर्शनियों, विवाह समारोह, थीम पार्टी,प्रदर्शनी, उत्पाद-प्रक्षेपण, व्यापार और रोजगार मेला आदि कार्यक्रमों (इवेंट्स) की संकल्पना, नियोजन, बजटीकरण, संयोजन तथा निष्पादन शामिल है। यह एक अच्छा करियर विकल्प है।  यदि आप में इवेंट संचालन की ललक, अच्छी संयोजनशीलता और लंबे समय तक कार्य करने की क्षमता और धैर्य है तो आप इस क्षेत्र में एक सफल हो सकते हैं।

तेजी से बढती कारोबारी गतिविधियों में भी विशेष तरह के आयोजनों को शिद्दत से महसूस किया जाता है। खास बात यह है कि अब छोटे शहरों में भी इवेंट मैनेजमेंट के लोकप्रिय होने के बाद इस क्षेत्र में अनुभवी लोगों की मांग बढी है। इस क्षेत्र का एक आकर्षक पहलू यह भी है कि इसके अंतर्गत आप जो कुछ भी करते हैं, वह सबके सामने होता है और अच्छे काम की हर कोई सराहना करता है। स्मरणीय  है कि  इस समय भारत में 300 से अधिक इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां काम कर रही हैं। 

इवेंट्स प्रबंधन के लिए प्रथम चरण से ही समन्वय की व्यापक रूप में आवश्यकता होती है। इवेंट्स के लिए सबसे पहली जरूरत ऑर्डर प्राप्त करना है। यह प्रक्रिया किसी इवेंट की शुरूआत मानी जाती है। चाहे कोई अल्पावधि समारोह (जन्म-दिवस पार्टी और विवाह समारोह) हो या कंपनियों द्वारा सौंपा गया कोई बड़ा समारोह (प्रदर्शनी या व्यापार मेला) हो अथवा अंतर्राष्ट्रीय समारोह हो, इवेंट प्रबंधक/कंपनी को सामान्यतः समारोह में लगने वाले वित्त सहित एक परियोजना रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा जाता है। इसी के आधार पर उन्हें कार्य सौंपा जाता है।

इवेंट मैनेजमेंट में किस्मत संवारने के लिए किसी विशेष योग्यता की जरूरत नहीं है। सिर्फ कुशल प्रबंधन क्षमता एवं नेटवर्किग स्किल्स आपको कामयाब बना सकता है। ऐसे स्नातक छात्र, जिनमें जनसंपर्क और संयोजन का हुनर हो, वे आसानी से इस व्यवसाय से जुड सकते हैं। बढते पार्टी कल्चर और इसके लिए इवेंट मैनेजमेंट कंपनी की सेवाएं लेने से अब अनेक संस्थानों ने कई तरह के डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा, पार्ट टाइम कोर्सेज, ग्रेजुएशन और पोस्ट-गे्रजुएशन कोर्स शुरू कर दिए हैं। अब इस क्षेत्र में एमबीए की डिग्री भी दी जाने लगी है। 

इवेंट्स प्रबंधन के क्षेत्र के लिए न केवल व्यापक सर्जन कौशल होना आवश्यक है बल्कि इसके लिए पर्याप्त अनुशासन एवं अत्यधिक नियोजन क्षमता भी होनी चाहिए। किसी इवेंट की योजना बनाना ही स्वयं में एक इवेंट है। किसी इवेंट के संयोजन का कार्य उसकी मूलभूत जानकारी के साथ प्रारंभ होता है। कोई भी ग्राहक इवेंट प्रबंधक के पास मस्तिष्क में अपने स्पष्ट विचार ले कर आता है। यह पूरी तरह इवेंट प्रबंधक पर निर्भर होता है कि वह ग्राहक के विचारों पर कार्य करे और उन विचारों को साकार रूप में परिवर्तन करे। ये इवेंट समारोह, उत्पाद प्रक्षेपण, सम्मेलन, प्रोत्साहन, प्रेस सम्मेलन, जयंती समारोह, दूरदर्शन आधारित इवेंट्स, फैशन-शो, विवाह या पार्टी में से कुछ भी हो सकते हैं।

इस करियर के लिए जहां तक शैक्षिक योग्यता का संबंध है, इवेंट प्रबंधन या विज्ञापन या जनसम्पर्क में डिप्लोमा या डिग्री के रूप में एक औपचारिक शिक्षा के साथ इवेंट प्रबंधन में विशेषज्ञता होना अभीष्ट है, तथापि शिक्षा पर अधिक ज़ोर नहीं दिया जाता। किंतु कुछ ऐसे गुण हैं, जो इस क्षेत्र में साधन-सम्पन्न होने के लिए किसी भी व्यक्ति में होने अनिवार्य हैं। इनमें से निम्नलिखित शामिल हैं: 

• आप में किसी समस्या को स्वीकार करने, उसका वहीं पर समाधान करने और यह सोचने की क्षमता होनी चाहिए कि भविष्य में ऐसी स्थिति को किस प्रकार टाला जा सकता है।

•किसी इवेंट प्रबंधक को ग्राहक केंद्रीभूत होना चाहिए और उसे ग्राहक की आवश्यकताओं का पता लगाने के प्रयास करने चाहिए। उनसे सम्पर्क करते समय वह उन्हें सहज बनाए रखने, उनमें विश्वास जमाने और ग्राहकों को आदर देने में सक्षम होना चाहिए।

•यह एक आम राय है कि मोल-भाव करने का अर्थ है विक्रेता को कम आंकना। इसके विपरीत व्यवसाय में यह एक कौशल है, जिसका आप में विकास होने पर आप एक तीक्ष्ण दिमाग वाले व्यवसायी बन सकते हैं।

•किसी भी इवेंट प्रबंधक को दबाव सहन करने और सहजता से लक्ष्य पूरा करने में सक्षम होना चाहिए। सतर्क नियोजन एवं व्यवस्था के बावजूद एक छोटी सी भूल या गलत परिकलन मेहनत को व्यर्थ कर सकता है.

• यह कहने की आवश्यकता नहीं है कि एकजुट हो कर कार्य करने की क्षमता होना इवेंट प्रबंधन में एक अत्यधिक महत्वपूर्ण तथ्य है। आपको न केवल यह पता होना चाहिए कि किसी टीम का नेतृत्व कैसे किया जाए, बल्कि सभी के साथ कार्य करने और  कार्य को पूरा करने की भी जानकारी होनी चाहिए। 

•व्यक्तिगत और/या संगठनात्मक स्तर पर स्वयं को, अन्यों को, सूचना और/या स्थितियों को प्रभावी रूप में समन्वित एवं संयोजन करने की क्षमता निहित होती है।

•किसी भी इवेंट प्रबंधक को अपना निजी नेटवर्क बनाने की आवश्यकता होती है, जिसका जितना अधिक सम्पर्क होगा वह उतना ही अधिक सफल होगा।

धन कमाने के लिए इवेंट प्रबंधन एक आकर्षक क्षेत्र है। वास्तव में यदि आपको एक बार भी इस क्षेत्र का अनुभव प्राप्त हो जाता है तो यह आपके लिए कोई समस्या नहीं होगी। यहां तक कि प्रीलांसर भी आज 20000/- रु. और इससे अधिक धनराशि कमाते हैं। यह एक अत्यधिक लाभप्रद व्यवसाय है। आपकी कमाई पुनः इस पर निर्भर करती है कि आप किस प्रकार का इवेंट कार्य कर रहे हैं। यदि आप विवाह या पार्टियों के इवेंट पसंद करते हैं तो आप 30000 रु. से 40000 रु. के लगभग या इससे अधिक धन-राशि आसानी से कमा सकते हैं। अच्छा अनुभव रखने वाले इवेंट को-ऑर्डिनेटर इससे भी अधिक धन राशि कमा सकते हैं।

अध्ययन के अवसर एवं पात्रता :

==========================

जन-सम्पर्क एवं विज्ञापन या जन संचार में स्नातकोत्तर डिग्री कराने वाले कई विश्वविद्यालय विभागों में सामान्यतः इवेंट प्रबंधन उनका एक मुख्य विषय है। कुछ विश्वविद्यालय कॉलेज और मीडिया संस्थाएं भी इवेंट प्रबंधन में विशेषज्ञता पाठ्यक्रम चलाती हैं। कुछ प्रमुख संस्थान  प्रकार हैं - नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, नंदनवन बिल्डिंग, अंसारी रोड, विले पार्ले, मुंबई। इवेंट मैनेजमेंट डेवॅलेपमेंट इंस्टीट्यूट, 791, एस.के. मार्ग बांद्रा (पश्चिमी) मुंबई। नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर मीडिया स्टडीज, पंचधारा कॉम्प्लेक्स, एस.जी. हाइवे, अहमदाबाद। इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, एच-12, साउथ एक्सटेंशन, पार्ट-1, नई दिल्ली कॉलेज ऑफ इवेंट ऐंड मैनेजमेंट, लेन-11, प्रभात रोड, पुणे।इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, जुहू कैम्पस, जुहू तारा रोड, सांताक्रूज (पश्चिमी), मुंबई। इंटरनेशनल सेंटर फॉर इवेंट मार्केटिंग ऐंड मार्केटिंग, 6/14, द्वितीय तल, सर्वप्रिय विहार, नई दिल्ली। फिर क्या तैयार  जाइये, रंग जमाइये, खूब कमाइए.

----------------------------------------------

डॉ.चन्द्रकुमार जैन

हिन्दी विभाग,

शासकीय दिग्विजय स्वशासी

स्नातकोत्तर महाविद्यालय, राजनांदगाँव।

MO.9301054300

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

रचनाकार में ढूंढें...

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

randompost

कहानियाँ

[कहानी][column1]

हास्य-व्यंग्य

[व्यंग्य][column1]

लघुकथाएँ

[लघुकथा][column1]

कविताएँ

[कविता][column1]

बाल कथाएँ

[बाल कथा][column1]

लोककथाएँ

[लोककथा][column1]

उपन्यास

[उपन्यास][column1]

तकनीकी

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

वर्ग पहेलियाँ

[आसान][column1][http://vargapaheli.blogspot.com]
[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget