फ़ोन करें कविता पाठ करें का उद्घाटन - अनूप शुक्ल 'फ़ुरसतिया' के कविता पाठ : ओस की बूंद से.

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

लीजिए, फ़ोन करें रचना पाठ करेंका जोर-शोर से उद्घाटन हो गया.

देखिए सुनिये फुरसतिया - अनूप शुक्ल को उनके अपने अंदाज में कविता पाठ करते हुए:

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

0 टिप्पणी "फ़ोन करें कविता पाठ करें का उद्घाटन - अनूप शुक्ल 'फ़ुरसतिया' के कविता पाठ : ओस की बूंद से."

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.