आलेख || कविता ||  कहानी ||  हास्य-व्यंग्य ||  लघुकथा || संस्मरण ||   बाल कथा || उपन्यास || 10,000+ उत्कृष्ट रचनाएँ. 1,000+ लेखक. प्रकाशनार्थ रचनाओं का  rachanakar@gmail.com पर स्वागत है

-------------------

कवि एवं बाल साहित्‍यकार सन्‍तोष कुमार सिंह की दो पुस्‍तकों का लोकार्पण एवं साहित्‍यकार सम्‍मान समारोह

image

पुस्‍तक लोकार्पण एवं साहित्‍यकार सम्‍मान समारोह

आलोक पब्‍लिक स्‍कूल पंचवटी कॉलौनी, मथुरा के सभागार में कवि एवं बाल साहित्‍यकार सन्‍तोष कुमार सिंह की दो पुस्‍तकों का लोकार्पण बड़े भव्‍य और गरिमामयी समारोह में सम्‍पन्‍न हुआ।

सर्व प्रथम मुख्‍य अतिथि बालरोग विशेषज्ञ एवं महानगर अध्‍यक्ष (समाजवादी पार्टी) डा0 अशोक अग्रवाल और समारोह अध्‍यक्ष पूर्व न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट डा0 कन्‍हैयालाल पांण्‍डेय ने माँ शारदे के चित्र पर माल्‍यार्पण एवं दीप प्रज्‍ज्‍वलन किया। डा0 अनिल गहलौत एवं डा0 इन्‍द्र सेंगर ने स्‍व0 आलोक प्रताप सिंह के चित्र पर पुष्‍प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

सबसे पहले कवि सन्‍तोष कुमार सिंह की बाल कविताओं की पुस्‍तक ‘हाथी पहुँचा सूट सिलाने’ एवं हाइकु संग्रह ‘हाइकु सुगंधा’ का लोकार्पण मुख्‍य अतिथि एवं मंचासीन साहित्‍यकारों यथा -डा0 कन्‍हैयालाल पांण्‍डेय, डा0 अनिल गहलौत, डा0 इन्‍द्र सेंगर, डा0 रामनिवास शर्मा अधीर, डा0 रमाशंकर पाण्‍डेय एवं अंजीव अंजुम के कर कमलों से सम्‍पन्‍न हुआ। ‘हाथी पहुँचा सूट सिलाने’ पुस्‍तक की समीक्षा नीरज शास्‍त्री ने और ‘हाइकु सुगंधा’ की समीक्षा मदनमोहन शर्मा ‘अरविन्‍द’ ने प्रस्‍तुत की।

दूसरे चरण में तीन साहित्‍यकारों को ‘आलोक स्‍मृति साहित्‍य भूषण सम्‍मान’ प्रदान किया गया। इस सम्‍मान पाने वाले साहित्‍यकार हैं - मथुरा के डा0 दिनेश पाठक शशि, श्री महेश जैन ज्‍योति एवं दिल्‍ली के श्री प्रदीप गुप्‍त पराग। इसी क्रम में डाक टिकटों के अनूठे संग्रह के लिए मथुरा के श्री आर0सी0 भाटिया को ‘आलोक स्‍मृति मथुरा-श्री सम्‍मान’ से नवाजा गया। सम्‍मान में शॉल, सम्‍मान पत्र, स्‍मृति चिह्‌न तथा श्रीफल भेंट किये गए।

समारोह के तृतीय चरण में कवि रवीन्‍द्र पाल सिंह रसिक ने माँ शारदे की वन्‍दना करके कवि सम्‍मेलन का शुभारम्‍भ किया। उपस्‍थित कविगणों ने हास्‍य व्‍यंग, समसामयिक कविताओं तथा मनभावन गीतों को सुना कर श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया। कवियों में मनवीर मधुर, सन्‍तोष कुमार सिंह, रवीन्‍द्र पाल सिंह रसिक, डा0 धर्मराज, डा0 के0उमराव विवेकनिधि, मदनमोहन शर्मा अरविंद, डा0 अनिल गहलौत, देवी प्रसाद गौड़, नीरज शास़्‍त्री, डा0 रमाशंकर पांण्‍डेय, डा0 रामनिवास शर्मा अधीर, डा0 इन्‍द्र सेंगर, डा0 प्रदीप गुप्‍त, अंजीव अंजुम, महेश जैन ज्‍योति, हरीसिंह पहलवान, मूलचन्‍द शर्मा, जितेन्‍द्र विमल एवं डा0 कन्‍हैयालाल पांण्‍डेय ने अपनी-अपनी श्रेष्‍ठ रचनाओं को प्रस्‍तुत कर समां बांध दिया।

समारोह में उपस्‍थित नैपालसिंह मदनावत, ब्रजभूषण वर्मा, डा0 महेन्‍द्र सिंह, डा0 जी0के0सिंह, ए0पी0 सिंह, तेजपालसिंह सेंगर, सुन्‍दरसिंह चौहान, दिनेश कुमार, देवीसिंह, रमेशचन्‍द्र शर्मा, कैप्‍टेन बहादुर सिंह, जगवीर सिंह, वीरेन्‍द्र शर्मा, रवि यादव, भगवती चतुर्वेदी, चन्‍दन साह, लकी, विनय अग्रवाल, अजयकुमार आचार्य, शोभा आचार्य, नरेश अग्रवाल, सुमित एवं अनेक टीचिंग स्‍टाफ आदि ने कवि सम्‍मेलन का भरपूर आनंद उठाया। समारोह के आयोजक जितेन्‍द्र सिंह सेंगर ने अतिथियों एवं कवियों का स्‍वागत-सम्‍मान किया एवं समारोह के अन्‍त में धन्‍यवाद ज्ञापित किया।

प्रस्‍तुति -सन्‍तोष कुमार सिंह

कवि एवं बालसाहित्‍यकार

बी 45 मोतीकुंज एक्‍सटेंशन, मथुरा। मोबाइल - 9456882131

टिप्पणियाँ

----------

10,000+ रचनाएँ. संपूर्ण सूची देखें.

अधिक दिखाएं

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

---

तकनीक व हास्य -व्यंग्य का संगम – पढ़ें : छींटे और बौछारें

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद/अनुसरण करें

परिचय

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही रचनाकार से जुड़ें.

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है. अपनी रचनाएं इस पते पर ईमेल करें :

rachanakar@gmail.com

अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

डाक का पता:

रचनाकार

रवि रतलामी

101, आदित्य एवेन्यू, भास्कर कॉलोनी, एयरपोर्ट रोड, भोपाल मप्र 462030 (भारत)

कॉपीराइट@लेखकाधीन. सर्वाधिकार सुरक्षित. बिना अनुमति किसी भी सामग्री का अन्यत्र किसी भी रूप में उपयोग व पुनर्प्रकाशन वर्जित है.

उद्धरण स्वरूप संक्षेप या शुरूआती पैरा देकर मूल रचनाकार में प्रकाशित रचना का साभार लिंक दिया जा सकता है.


इस साइट का उपयोग कर आप इस साइट की गोपनीयता नीति से सहमत होते हैं.