सोमवार, 7 दिसंबर 2015

एकदम नया! फ़ोन करें, सस्वर रचनापाठ अपलोड कर प्रकाशित करें सिस्टम अपग्रेड

rachanapath 1 new mobile

फ़ोन करें, रचनापाठ रेकार्ड कर प्रकाशित करें सिस्टम को अपग्रेड किया गया है. पुराना सिस्टम लैंडलाइन फ़ोन पर आंसरिंग मशीन आधारित था, जिसमें समस्याएँ आती थीं. कभी लाइट गुल रहती थी तो कभी बैकअप पावर मर जाता था. कभी सिस्टम ही हैंग हो जाता था. रचना पाठ की समय सीमा भी अप्रिय रूप से बहुत कम - 5 मिनट थी. और बहुतों के फ़ोन कर रचना पाठ रेकार्ड करने के प्रयास असफल रहे थे.

फिर भी, यह प्रयोग नितांत सफल रहा था और कोई दो दर्जन रचनापाठ इस दौरान अपलोड किए गए.

 

अब इस सिस्टम को अपग्रेड कर एंड्रायड स्मार्टफ़ोन आधारित किया गया है. यानी अब 24X7 टंच सेवा. किसी तरह की, बिजली गुल आदि की, पॉवर बैकअप आदि की समस्या नहीं, और रेकॉर्डिंग की भी सीमा नहीं - अब आप असीमित समय के लिए फ़ोन पर रेकॉर्ड कर सकते हैं. जी हाँ, आप अपनी लंबी कहानी अथवा पूरे उपन्यास का पाठ भी रेकॉर्ड कर सकते हैं.

रचना पाठ करने के लिए इस नंबर पर फ़ोन लगाएँ - 08989162192

अधिक जानकारी के लिए इस कड़ी पर जाएँ -

http://www.rachanakar.org/2015/10/blog-post_36.html

0 blogger-facebook

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------