रचनाकार

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका

कुछ विज्ञान गीत

vigyan geet

प्रस्तुत हैं कुछ विज्ञान गीत ।

शैक्षणिक कार्यक्रमों व प्रस्तुतियों में अथवा विज्ञान संबंधी शिक्षण कार्यक्रमों में इन गीतों का बखूबी इस्तेमाल किया जा सकता है. ये गीत न केवल विज्ञान के बारे में जागृत करते हैं, बल्कि मेलोडी और वाद्यवृंद से सजे भी हैं जो सुनने में बेहद कर्णप्रिय हैं.


इनकी प्रस्तुति और निर्माण - सेंटर फ़ॉर मास मीडिया एंड साइंस कम्यूनिकेशन आईसेक्ट यूनिवर्सिटी भोपाल द्वारा किया गया है.


परिकल्पना और मार्गदर्शन - संतोष चौबे
संगीत निर्देशन - संतोष कौशिक
गीत - संतोष चौबे, संतोष कौशिक, अरूण कमल
संगीत संयोजन - राजूराब, धर्मेश, महेश नीरज
रिकॉर्डिंग - आशीष पोद्दार
निर्माण प्रस्तुति सहयोग - सौरभ अग्रवाल, रोहित श्रीवास्तव, विवेक बापट
आर्ट डिजाइनिंग - वंदना श्रीवास्तव, अमित सोनी
कार्यकारी निर्माता निर्देशक - प्रशांत सोनी

नीचे यूट्यूब ऑडियो की लिंक है जिस पर प्ले बटन को क्लिक कर आप संबंधित गीत को सुन सकते हैं.

धरती का गीत -

 

अंतरिक्ष को जानो -

 

पानी नहीं है गांव में -

 

पानी धरती और हवा -

 

पेड़ हैं सांसें -

 

सूर्य ग्रहण का गीत -

 

नदिया नीर से भरी -

 

गैलीलियो की कहानी -

 

नदी ने तड़प कर कहा -

 

 

धन्य हैं वो वैज्ञानिक -

रचना कैसी लगी:

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget