हिंदी दिवस विशेष कविता / सीखी थी हिंदी / वीणा भाटिया

अच्छे विचार प्रवाहित करती
गुरु बन सब सिखाती हिंदी

पढ़ने को देवकीनंदन खत्री
कितनों ने सीखी थी हिंदी

विदेशी कंपनियों में भी
हिंदी का ही बोलबाला
'ठंडा मतलब कोका कोला'

ना कोई छोटा ना बड़ा
सुंदर अहसास कराती हिंदी

किस वेश में ईश्वर मिल जाए
झुकना हमें सिखाती हिंदी।

 

Email – vinabhatia4@gmail.com

Mobile no. 9013510023

0 टिप्पणी "हिंदी दिवस विशेष कविता / सीखी थी हिंदी / वीणा भाटिया"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.