सोमवार, 10 अक्तूबर 2016

हास्य व्यंग्य - अमीर बनने के अचूक नुस्खे - राम कृष्ण खुराना

अमीर बनने के अचूक नुस्खे
राम कृष्ण खुराना

सभी पूछते हैं आप का हाल कैसा है, यदि आपके पास पैसा है ! आज के आर्थिक युग में प्रत्येक व्यक्ति पैसे के पीछे भाग रहा है ! पैसे के बिंना इस संसार में कुछ भी नहीं है ! बाप बडा न भईया – भईया सबसे बडा रूपईया ! आज लोग पैसा कमाने के लिए क्या-क्या नहीं करते ? धन कमाने के लिए लोग न दिन देखते हैं न रात ! धन के लिए लोग अपनों का खून बहाने से भी नहीं हिचकिचाते ! बिना परिश्रम के जल्द धन बटोर लेने की भावना ने लोगों का खून सफेद कर दिया है ! धन प्राप्ति की अन्धी चाह में लोग रिश्तों को भी भूल चुके हैं !

यदि आप धनी बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपनी आदतों और कमजोरियों को बारीकी से पहचानना होगा ! आपको यह देखना होगा कि आपकी ऐसी कौन सी आदतें हैं जो आपकी उन्नति की राह में रोडा बन रही हैं ! आपकी ऐसी कौन सी कमज़ोरियां हैं जिनको दूर करके आप और अमीर बन सकते हैं ! यदि आप उद्यम किये बिना परिस्थितियों व दूसरे लोगों पर आरोप लगाते रहेंगें तो आप कभी भी आगे नहीं बढ सकेंगें ! आपको अपनी राह स्वयं ही बनानी होगी ! आपको परिस्थितियों को अपने अनुकूल बनाना सीखना होगा ! जब आप परिस्थितियों पर विजय पाना शुरू कर देगें तो आप पायेंगे कि आपने सफलता की पहली सीढी पार कर ली !

यदि आप अपनी गिनती भी धनी लोगों में करवाना चाहते हैं तो अपने समय की कीमत वसूल करना सीखिए ! क्योंकि समय आप को माला-माल कर सकता है ! दुनिया में अनेक लोगों ने समय का सही उपयोग करके करोडों कमाए हैं ! कई लोग धनकुबेर बन गए ! तो आप क्यों नही बन सकते ? समय को बचाना होगा ! समय की कीमत को पहचानना होगा ! अतः कालजयी बनिए !

धन-कुबेर बनने के लिए हमेशा याद रखिए कि आज का काम कल पर मत छोडें ! आज का काम आपको आज ही निपटाना होगा ! क्योंकि कल तो आपको आने वाले कल का काम भी करना पडेगा फिर आप बीते हुए कल का काम कब करेंगें ? यह प्रकृति का ध्रुव सत्य है कि समय को पीछे से नहीं पकडा जा सकता ! सिर्फ सोचते रहने से कुछ भी प्राप्त नहीं होता ! आज का काम फिर कर लेंगें कहकर मत टालिये ! इस बात को हमेशा याद रखिए कि जो कार्य आप कल करना चाहते हैं उसमें से बहुत सा काम कभी हो ही नहीं पाता ! काम को हमेशा समाप्त करना ही सबसे अच्छा तरीका है ! प्रत्येक दिन मूल्यवान होता है ! आज का दिन फिर कभी नहीं आयगा ! कल नाम तो काल का है ! कोई भी आदमी इतना अमीर नहीं होता कि वो अपने बीते हुए दिन खरीद सके !

आपने थ्री-इडियट पिक्चर तो देखी होगी ! उससे कुछ सीख लीजिए और जहां तक सम्भव हो अपनी रूचि का काम कीजिए ! जब आप अपनी रूचि का काम करेंगें तो आप अधिक सफल होंगे ! क्योंकि उस काम को आप पूरे मन से करगें ! आप को उस काम का ज़नून होगा ! आप हर समय अपने काम के बारे में, उसको चोटी पर ले जाने के बारे में तथा उस काम से अधिक से अधिक लाभ कमाने के बारे में सोचेगें ! जब आप पूरे उत्साह्, धैर्य, लगन व निष्ठा से कोई भी काम करेंगें तो आप अवश्य सफल होंगे और आपको अमीर बनने से कोई रोक नहीं सकता !

एक बात और यदि आप चाहते हैं कि कोई काम अच्छी तरह से हो तो उसे खुद करें ! बेकार न बैठें ! छोटा या बडा कोई न कोई काम करते रहें ! क्योंकि काम न करने से कभी काम पूरा नहीं होगा ! लोग कहते हैं – अरे, इसका क्या है ? यह काम तो मैं आधे घंटे में ही कर लूंगा ! अभी क्या जल्दी है ! परंतु याद रखिए वो काम आधे घंटे में तब समाप्त होगा जब आप उसे शुरू करेंगें ! समय की गिनती काम आरम्भ होने के बाद ही शुरू होगी ! योजनाबद्ध तरीके से कार्य कीजिए व तुरंत कीजिए ! सही समय में, सही दिशा में हर क्षण क्रियाशील रहिए सफलता आपके कदम चूमेगी !

हां, अधिक सफल होने के लिए आपको अपने लक्ष्य पर निगाह रखनी होगी ! आपको एक लक्ष्य निर्धारित करना होगा ! फिर पूरे मन से अपने आप को इसके लिए समर्पित करना देना होगा !

अधिक धन कमाने के लिए अधिक से अधिक लोगों के साथ सम्पर्क बनाएं ! हमेशा रोचक लगने वाले व्यक्ति का रहस्य यह है कि वह हमेशा दूसरों में रूचि लेता है ! किसी का दिल मत दुखाईये सच बोलिए ! सच बोलने का अहंकार नही साहस होना चाहिये ! सच बोलने का सबसे बडा फायदा यह है कि सच बोलने के बाद हमें यह याद नही रखना पडता कि हमने पहले क्या कहा था ! हमेशा सही काम कीजिए ! मेरा विशवास है कि ऐसा करने से दुनिया की बेहिसाब दौलत आपके कदम चूमने को तरसेगी और आपका नाम बहुत जल्द शहर के गिने-चुने धनी व्यक्तियों में गिना जाने लगेगा !

राम कृष्ण खुराना
7782376844
khuranarkk@yahoo.in
116 STREET, 80 AVE
DELTA, CANADA

1 blogger-facebook:

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------