बुधवार, 30 नवंबर 2016

व्यंग्य की जुगलबंदी-10 / नए नोट, पुराने नोट / अनूप शुक्ल

व्यंग्य की जुगलबंदी-10 --------------------------- इस बार की व्यंग्य की जुगलबंदी का विषय था- नये नोट, पुराने नोट। जुगलबंदी में Yamini Chatu...

व्यंग्य / II मन रे तू काहे न धीर धरे II / सुशील यादव

मेरा मन 8/11 के बाद जोरो से खिन्न हो गया है। जिस तिजौरी के पास जा कर अपनी कमाई का उल्लास मिलता था,खुद की पीठ दोकाने का मन करता था अब उसके ...

शब्द संधान / शेखचिल्ली / डॉ. सुरेन्द्र वर्मा

शेख चिल्ली शब्द में, जैसा कि स्पष्ट है, दो पद हैं | शेख और चिल्ली | शेख उर्दू का एक बहुत सम्मानित शब्द है | दक्षिण एशिया में मुसलमानों की ...

प्रतिरोध-संस्‍कृति में औपनिवेशिक कालीन दिनारा-क्षेत्र / लक्ष्‍मीकांत मुकुल

प्रतिरोध-संस्‍कृति में औपनिवेशिक कालीन दिनारा-क्षेत्र · लक्ष्‍मीकांत मुकुल दिनारा का इतिहास बहुत पुराना है। यह क्षेत्र अपनी गौरव गाथाओं औ...

------------------------------------------------------------

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं...

1 करोड़ से अधिक पृष्ठ-पठन, 1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक तथा 2000 से अधिक फ़ेसबुक प्रसंशक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को इंटरनेट के विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.किसी भी फ़ॉन्ट, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर फ़ाइल में रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------