प्रेम कविताओं की आखिरी किताब

image

संजय सक्सेना का प्रेम कविताओं का संग्रह - तुम - इस मामले में अद्वितीय है कि यह प्रेम कविताओं का संग्रह तो है ही, कॉफ़ी टेबल बुक शक्ल में, ग्लासी आर्ट पेपर में छपा और वह भी कविताओं के मूड के मुताबिक मॉडलों के छायाचित्रों के साथ.

प्रेम कविताओं का प्रस्तुतिकरण और पठन का रसास्वादन इससे बेहतर तरीके से आइंदा कभी, कहीं हो ही नहीं सकता. यकीनन.

कुछ झलकियाँ प्रस्तुत हैं -

image

image

image

image

image

image

image

image

संग्रह को मंजुल प्रकाशन भोपाल ने प्रकाशित किया है.

0 टिप्पणी "प्रेम कविताओं की आखिरी किताब"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.