शनिवार, 29 अप्रैल 2017

श्रीरामकथा के अल्पज्ञात दुर्लभ प्रसंग मदान्ध रावण को मन्दोदरी की सीख / मानसश्री डॉ.नरेन्द्रकुमार मेहता

श्रीरामकथा के अल्पज्ञात दुर्लभ प्रसंग मदान्ध रावण को मन्दोदरी की सीख मानसश्री डॉ .नरेन्द्रकुमार मेहता ''मानस शिरोमणि एवं विद...

गुरुवार, 27 अप्रैल 2017

मजदूरीनामा / के. ई. सैम

1 मई अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस दुनिया भर में मजदूरों के नाम पर मनाया जाता है. इस दिन को उन मजदूरों की याद में श्रद्धांजलि स्वरूप मनाया जाता...

कहानी : वह हँसने वाली लड़की ........! अमरपाल सिंह ‘आयुष्कर’

‘ वह मुझे वाराणसी रेलवे  स्टेशन पर मिली थी। खुली किताब के फड़फड़ाते पन्ने -सी। पढ़ रहा था मैं एक -एक हर्फ़। जिसे मैं शब्दों और वाक्यों की बंदिश...

कांग्रेसियों ने ही किया ‘तिलक’ का विरोध / रमेशराज

------------------------------------------------------------------- बंगाल के कांग्रेस नेता विपिनचन्द्र पाल, पंजाब के स्वतंत्रता संग्राम के ...

हिटलर ने भी माना सुभाष को महान / रमेशराज

------------------------------------------------------------------- अपने समय के सर्वोच्च क्रान्तिकारी सुभाषचन्द्र बोस ने फ्रांसीसी विद्वान ...

स्वामी श्रद्धानंद का हत्यारा, गांधीजी को प्यारा / रमेशराज

  (बलिदान दिवस 23 दिसम्बर ) ------------------------------------------------------------------ इस बात से कोई भी इन्कार नहीं कर सकता कि सबस...

अमर क्रन्तिकारी भगत सिंह / रमेशराज

----------------------------------------------------------------- युग-युग से पंजाब वीरता, पौरुष और शौर्य का प्रतीक रहा है। सिखों के समस्त द...

‘1857 के विद्रोह’ की नायिका रानी लक्ष्मीबाई / रमेशराज

---------------------------------------------------------------------------- दूसरों की जूठन खाने वाले कौआ, गिद्ध या श्वान सौ नहीं पांच सौं ...

सत्तावन की क्रांति का ‘ एक और मंगल पांडेय ’ / रमेशराज

--------------------------------------------------------------------------- 1857 में अंग्रेजों के खिलाफ सैन्य विद्रोह करने वालों में मंगल प...

सच्चे देशभक्त ‘ लाला लाजपत राय ’ / रमेशराज

---------------------------------------------------------------------- देश को अंग्रेजों की दासता से मुक्त कराने वाले भारतीय स्वतंत्रता संग्...

चर्बी लगे कारतूसों के कारण नहीं हुई 1857 की क्रान्ति / रमेशराज

  [ क्रान्ति दिवस ]   ----------------------------------------------------------------------------- कई इतिहास लेखकों ने 1857 की क्रान्ति क...

‘ चन्द्रशेखर आज़ाद ‘ अन्त तक आज़ाद रहे +रमेशराज

[शहीद चन्द्रशेखर आज़ाद स्मृति दिवस 27 फरवरी ] ------------------------------------------------------------------ आगरा का एक मकान जिसमें च...

सावरकर ने अंडमान जेल में भी करायी क्रान्ति / रमेशराज

  [ स्मृति दिवस 26 फरवरी पर ] ---------------------------------------------------------------------- वीर विनायक सावरकर के मन में बचपन से ह...

गांधीजी की हर नीति के विरोधी थे ‘ सुभाष ’ / रमेश राज

[ सुभाष जयंती 23 जनवरी ] ----------------------------------------------------------------------- नेताजी सुभाषचन्द्र बोस भारतीय स्वतंत्रता ...

अमर शहीद स्वामी श्रद्धानंद / रमेशराज

  -------------------------------------------------------------------- क्या आप विश्वास कर सकते हैं कि एक व्यक्ति जो रईसों के बिगडै़ल बेटे ...

सावरकर ने लिखा 1857 की क्रान्ति का इतिहास / रमेशराज

[वीर सावरकर स्मृति दिवस 26 फरवरी पर ]   ----------------------------------------------------------------- भारत माता के वीर समूतों ने अंग्रे...

रोटियों से भी लड़ी गयी आज़ादी की जंग / रमेशराज

  ------------------------------------------------------------ कुछ कांग्रेस के पिट्टू इतिहासकार आज भी जोर-शोर से यह प्रचार करते हैं कि बिना...

आज़ादी की जंग में यूं कूदा पंजाब / रमेशराज

--------------------------------------------------------------- गुलामी की जंजीरों में जकड़े हिन्दुस्तान को आजाद कराने में अपने प्राणों को सं...

अदालत में मदनलाल धींगरा की सिंह-गर्जना / रमेशराज

[17 अगस्त ] --------------------------------------------------------------------------- अमृतसर जिले के खत्री कुल में धनी परिवार में जन्म ले...

हुईं देश पर सैकड़ों वैश्या भी कुर्बान / रमेशराज

[ शहीद दिवस 30 जनवरी पर विशेष ] ----------------------------------------------------------------- अंग्रेजी शासन से मुक्त होने के लिए, दासता...

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------