शनिवार, 23 सितंबर 2017

शशांक मिश्र भारती के पन्‍द्रह हाइकु

प्रणव सोनी की कलाकृति

01-

एक-दो-तीन

ताड़ना है सहती,

मौन न तोड़े।


02-

आरोप लगे

अवैध व्‍यापार के,

हंसा गुलाब।


03-

चरित्र हीन

कांच सा बिखरता,

हंसते सब।

04-

शहर हंसा

कांच टूटता देख,

रोया बुधुआ।


05-

दानवता है

विजय श्री पा रही,

मूल्‍य गिरते।


06-

भड़क जाते

उठती उंगली देख,

चार किधर।


07-

विश्‍वास घात

इतिहास की हत्‍या,

स्वयं हंसता।

08-

दूर दृष्‍टि

शून्‍य में हैं ताकते,

न कि धरती।


09 -

उड़ते खग

मचलते हैं बच्‍चे,

वृद्ध तो नहीं।


10 -

होता पतन

नैतिक मूल्‍यों का,

न कि मानवता।


11-

मन का जले

अगर रावण तो

हो दशहरा।


12-

पुतले जले

हैं हंसते रावण

घर- घर।


13 -

स्‍वार्थ उनका

हम सब पिसते

हर चुनाव।

14 -

पाक है साफ

उनके लिए अब

लोभ सप्रा का।


15 -

गधे गैंडे भी

प्रचार पा गये हैं

इस चुनाव में।


-------------

शशांक मिश्र भारती

सम्‍पादक देवसुधा

हिन्‍दी सदन बड़ागांव

शाहजहांपुर -242401 उ0प्र0

ईमेलः- shashank.misra73@rediffmail.com

0 blogger-facebook

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

------------------------------------------------------------

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं...

1 करोड़ से अधिक पृष्ठ-पठन, 1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक तथा 2000 से अधिक फ़ेसबुक प्रसंशक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को इंटरनेट के विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.किसी भी फ़ॉन्ट, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर फ़ाइल में रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------