March 2018

संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 113 : हिंसाप // हेमन्त बावनकर

प्रविष्टि क्र. 113 हिंसाप हेमन्त बावनकर ‘ हिंसाप ’ ! कैसा विचित्र शब्द है ; है न ? मेरा दावा है की आपको यह शब्द हिन्दी के किसी भी शब्दकोश ...

संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 112 : उसे देखते ही पश्‍चाताप के आंसू छलक पड़ते थे! // मोहनलाल मौर्य

प्रविष्टि क्र. 112 उसे देखते ही पश्‍चाताप के आंसू छलक पड़ते थे! मोहनलाल मौर्य साल दो हजार दो के जनवरी माह का दिन था। मैं कक्षा नौ का विद्यार...

संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 111 : दुख और मृत्‍यु के संघर्ष से अछूता नहीं रहा मेरा बचपन // आत्‍माराम यादव (पीव)

प्रविष्टि क्र. 111 दुख और मृत्‍यु के संघर्ष से अछूता नहीं रहा मेरा बचपन (संस्‍मण- मेरे जीवन की घटना पर आधारित) आत्‍माराम यादव (पीव) बात 197...

संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 110 : नौकरी के पहले दिनों की यादें // विवेक रंजन श्रीवास्तव

प्रविष्टि क्र. 110 मण्डला में नौकरी के उन दिनों की यादें , संबंध और उपलब्धियां मेरे जीवन की अविस्मरणीय पूंजी है . विवेक रंजन श्रीवास्तव ए १ ...

संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 109 : विंध्याचल एक्सप्रेस ११/०३/२०१४ (जबलपुर से इटारसी) // केशव डेहरिया

प्रविष्टि क्र. 109 विंध्याचल एक्सप्रेस     ११/०३/२०१४ (जबलपुर से इटारसी) केशव डेहरिया ज़िंदगी के इस सफ़र के सामने चारेल और क्या बस का सफर? स...

संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 108 : सत्ता पर कमान // नवनीता कुमारी

प्रविष्टि क्र. 108 'सत्ता पर कमान ' नवनीता कुमारी अनुराग बाबू ! जिंदाबाद ! जिंदाबाद ! हमारा नेता कैसा हो ? अनुराग बाबू जैसा हो ! जो...

संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 107 : रेणु-ग्राम में एक दोपहरी // विनीता ए कुमार

प्रविष्टि क्र. 107 रेणु-ग्राम में एक दोपहरी विनीता ए कुमार नेशनल हाईवे-५७ पर फ़ॉरबीसगंज से अररिया जाने वाली चिकनी सड़क पर सरसराती हुई हमारी स्...

मुक्तिबोध की कविताः ‘अँधेरे में’ खंड 3 भाष्यालोचन – // शेषनाथ प्रसाद श्रीवास्तव

मुक्तिबोध की कविताः ‘ अँधेरे में ’ खंड 3 भाष्यालोचन – पहले, कविता के पूर्व खंडों का पूनरावलोकनः आठ खंडों में वितरित मुक्तिबोध की यह लंबी कव...

25 हजार + रुपए के रचनाकार.ऑर्ग संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन 2018 के लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित

अद्यतन # 1 - पुरस्कारों में इजाफ़ा - प्रज्ञा प्रकाशन की तरफ से पुस्तकें पुरस्कार स्वरूप दी जाएंगी. विवरण जल्द ही. अद्यतन # 2    - चुनिं...

संस्मरण // घूंघट के पट खोल रे... // योगेश अग्रवाल

( मेरी यह रचना आपबीती घटना पर आधारित है | कुछ वर्षों पूर्व मेरा शहर जब एक बाढ़ - विपत्ति में फंसा तब उस भयानक प्राकृतिक हादसे के वक्त स्वयं म...