संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 104 : हायकू : संदर्भ - पिता के संस्मरण...// डॉ. लता अग्रवाल

प्रविष्टि क्र. 104

हायकू : संदर्भ - पिता के संस्मरण...

डॉ लता अग्रवाल

गोरख धंधे

घोंसला हुआ खाली

उड़े परिंदे |

वो कुम्हार

गढ़ता है सुपात्र

करे उध्दार |

लो पग धोये

बेटी हुई पराई

बाबुल रोये |

साथ निभाया

पितृ ऋण चुकाया

आशीष पाया |

पिता करते

भागीरथी प्रयास

बच्चे बढ़ते |

६.

बनाते योग्य

जीवन संवारते

वो यथायोग्य

भेंट चढाते

जीवन वो अपना

हमें बढाते

मिले अपार

प्रभु का उपहार

पिता का प्यार

बाँहों का झूला

झूले वो मतवाला

पिता ने डाला

१०

काँधे बिठाते

खिलौने हैं दिलाते

मेला घूमाते

११

पिता सिखाते

अनुशासित जीवन

राह दिखाते

१२

अग्नि दहकी

पंचतत्व विलीन

आँखें झलकी

१३

परिंदे आये

बरगद मुस्काया

कोकिल गाये

१४.

वो माली रूठा

उजड़ती बगिया

फूल वो टूटा |

१५

आहत पेड़

घोंसला हुआ खाली

परिंदे उड़े |

१६

कृपा बनाये

नैया पार लगाये

हम मुस्काये

१७

हमारे पाँव

बरगद के गाँव

ढूँढती छाँव

१८

पिता नमन

रहे निश्चिन्त मन

घर अमन

१९

आँखों का तारा

घर का खिलौना है

बालक प्यारा

२०

धूप नहाते

पसीना हैं बहाते

धन कमाते

२१

अश्रु सुमन

जन्मदाता ऋणी हूँ

करूँ अर्पण |

२२

भोगे अभाव

बिन आपके पिता

जले अलाव |

२३

आप का जाना

चिंता का हुआ डेरा

दुःख का आना |

२४

बाँहों का झूला

मासूम बचपन

दर्द है भूला |

२५

आँखें रोती हैं

आँसुओं का सागर

उमगता है |

२६

बिटिया आई

छत्तीस इंची छाती

विजय पाई |

२७

करें वंदन

जन्मदाता तुम्हारा

अभिनन्दन

२८

बढ़ाएंगे मान

करते हम वादा

लगाए जान।

२९

ऋणी आपके

पाया प्यार आपसे

बेटे आपके

३०

मैं तेरा जाया

मेरे माथे पे रहे

नेह की छाया

३१

आकाश छूना

जड़ों से है जुड़ना

ओ मेरे मुन्ना

३२

धरती है माँ

पिता है आसमान

ये मेरे जहां

------०००-------

डॉ लता अग्रवाल

७३ यश विला , भवानी धाम फेस-१ , नरेला शंकरी , भोपाल -४६२०४१

मो- ९९२६४८१८७८

नाम- डॉ लता अग्रवाल

शिक्षा - एम ए अर्थशास्त्र. एम ए हिन्दी, एम एड. पी एच डी हिन्दी.

जन्म – शोलापुर महाराष्ट्र

प्रकाशन - शिक्षा. एवं साहित्य की विभिन्न विधाओं में अनेक पुस्तकों का प्रकाशन| पिछले 9 वर्षों से आकाशवाणी एवं दूरदर्शन पर संचालन, कहानी तथा कविताओं का प्रसारण पिछले 22 वर्षों से निजी महाविद्यालय में प्राध्यापक एवं प्राचार्य का कार्यानुभव ।

सम्मान

१. अंतराष्ट्रीय सम्मान

Ø प्रथम पुस्तक ‘मैं बरगद’ का ‘गोल्डन बुक ऑफ़ वार्ड रिकार्ड’ में चयन

Ø विश्व मैत्री मंच द्वारा ‘राधा अवधेश स्मृति सम्मान |

Ø " साहित्य रत्न" मॉरीशस हिंदी साहित्य अकादमी ।

२. राष्ट्रीय सम्मान

अग्रवाल युवा चेतना सोसायटी द्वारा (अग्र नारी सश्क्तिकरण सम्मान ) अभिनव शब्द शिल्पी अलंकरण ,(अभिनव कला परिषद भोपाल) साहित्य सुधाकर मानद उपाधि (श्रीनाथ द्वारा ) अखिल भारतीय लघुकथा प्रतियोगिता अजमेर में राष्ट्रीय शब्द्निष्ठा सम्मान, समीर दस्तक चित्तौड़ से साहित्य गौरव सम्मान,स्वतंत्रता सेनानी ओंकारलाल शास्त्री पुरस्कार सलूम्बर , महाराज कृष्ण जैन स्मृति सम्मान, शिलांग ,श्रीमती सुषमा तिवारी सम्मान,भोपाल, प्रेमचंद साहित्य सम्मान,रायपुर छत्तीसगढ़ , श्रीमती सुशीला देवी भार्गव सम्मान आगरा, कमलेश्वर स्मृति कथा सम्मान, मुंबई ,श्रीमती सुमन चतुर्वेदी श्रेष्ठ साधना सम्मान ,भोपाल ,श्रीमती मथुरा देवी सम्मान , सन्त बलि शोध संस्थान , उज्जैन, तुलसी सम्मान ,भोपाल ,डा उमा गौतम सम्मान , बाल शोध संस्थान, भोपाल , कौशल्या गांधी पुरस्कार, समीरा भोपाल, विवेकानंद सम्मान , इटारसी, शिक्षा रश्मि सम्मान, होशंगाबाद, अग्रवाल महासभा प्रतिभा सम्मान, भोपाल ,"माहेश्वरी सम्मान ,भोपाल ,सारस्वत सम्मान ,आगरा, स्वर्ण पदक राष्ट्रीय समता मंच दिल्ली, मनस्वी सम्मान , अन्य कई सम्मान एवं प्रशस्ति पत्र।

निवास - 73 यश बिला भवानी धाम फेस  - 1 , नरेला शन्करी . भोपाल - 462041

--------------०००-----------

0 टिप्पणी "संस्मरण लेखन पुरस्कार आयोजन - प्रविष्टि क्र. 104 : हायकू : संदर्भ - पिता के संस्मरण...// डॉ. लता अग्रवाल"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.