निर्भया साहित्य संस्था की मासिक काव्य गोष्ठी में बरसा काव्य रस

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

गोष्ठी में बरसा काव्य रस

image

नवोदित रचनाकारों को प्रोत्साहित करने इन्द्रपुरी स्थित नैनागिरि , भोपाल में काव्य गोष्ठी आयोजित की गई। निर्भया साहित्य संस्था की अध्यक्षा प्रमिला झरबड़े ‘‘मीता’’ ने बताया कि रचनाकारों द्वारा गोष्ठी में गीत, कविता, ग़ज़ल और नवगीत प्रस्तुत किये गए।  गोष्ठी में आए नवोदित रचनाकारों को वरिष्ठ कवियांे की ओर से मार्गदर्शन भी प्रदान किया गया।

उन्होंने बताया कि मॉ सरस्वती की वंदना से प्रारंभ हुई काव्य गोष्ठी में वीर रस, करूण रस,हास्य रस, श्रंगार रस और सभी नवरसों से रची-बसी हिंदी-उर्दू में रचनाएं पेश की गईं, जिन्हें श्रोताओं ने सराहा। काव्य गोष्ठी में आए समस्त सुधि साहित्यकारगण और काव्य मनीषियों ने रचना पाठ किया। कवयित्री मनोरमा मनु, संघमित्रा और प्रमिला ने रचना पाठ प्रस्तुत किया इसके साथ ही कविगण चरणजीत सिंह, अशोक व्यग्र, कमलेश, लवकुमार, तेज सिंह, विनोद कुमार, पंकज पराग, गौतम आदि सभी ने अपनी रचनाएं, कविताएं, गजल, गीत प्रस्तुत किये। अंत में आभार प्रदर्शन के साथ दसवीं मासिक कवि गोष्ठी का समापन किया गया।

काव्य गोष्ठी में कवियों ने अपनी रचनाओं से महिलाओं का सम्मान, बेटियों को बचाने, देशप्रेम और बेहतर समाज के निर्माण में योगदान देने की अपील की।

प्रस्तुति -

मनोरमा ‘‘मनु’’

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

0 टिप्पणी "निर्भया साहित्य संस्था की मासिक काव्य गोष्ठी में बरसा काव्य रस"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.