व्यंग्य // राजनेता है जहाँ, तंदुरुस्ती है वहाँ // अमित शर्मा

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

व्यंग्य

राजनेता है जहाँ, तंदुरुस्ती है वहाँ

अमित शर्मा

इंडियन टीम के कैप्टन, विराट कोहली ने देश के लिए फील्डिंग कर रहे भारत के कप्तान, प्रधानमंत्री जी की तरफ फिटनेस चैलेंज, काले धन वाले सिक्के की तरह उछाला, जिसे कि
प्रधानमंत्री जी ने पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण से ऊपर ही रंगे हाथों लपक लिया। यह उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री जी ने अपने हाथों में प्रधानसेवक और चौकीदार नामक कुंडल जब्त कर रखे हैं जिससे कि प्रधानमंत्री जी को ऐसे चैलेंज को अपनी शरण देने में सहजता का ज्यादा बेलैंस खत्म नहीं करना पड़ता। प्रधानमंत्री जी ने एक ही बार में फिटनेस चैलेंज को लपक कर विपक्ष को करारा और कुरकुरा जवाब, होम डिलेवरी के द्वारा पहुँचा दिया है, जो कहा करता था कि प्रधानमंत्री केवल फेंकने में महारथ के सारथी है और लपकने को कभी उन्होंने अपॉइंटमेंट नहीं दिया। प्रधानमंत्री के पास पूर्ण बहुमत है, फिर भी उनका फेंकने और लपकने से गठबंधन करना, सबका साथ-सबका विकास के प्रति उनका कमिटमेंट दिखाता है।

फिटनेस के प्रति देश, आजादी के बाद से ही काफी जागरूक रहा है और इसी जागरूकता से शिष्टाचार भेंट करते हुए शुरुआती सरकारों ने जरूरी कदम उठाते हुए देश को बेडौल से सुडौल अवस्था के हवाले करने के लिए आधा कश्मीर पाकिस्तान को भेंट कर दिया, इसके परिणामस्वरूप
धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र होते हुए भी हमने पड़ोसी और फिटनेस धर्म दोनों को निपटा दिया। पाकिस्तान को अनुगृहीत करने के बाद, हमारा मन, बिना मन की बात किए ही चीन के लिए भी ‘पसीजत्व’ को प्राप्त होने के लिए बेचैन हो उठा और चीन का मुँह ‘हिंदी-चीनी भाई-भाई’ से मीठा करवाते हुए हम नादान उसे भी अपनी भूमि का दान कर बैठे। अपने भूभाग का काफी हिस्सा पाकिस्तान और चीन को अर्पित कर हमने बिना भागे ही अपने आपको हल्का कर लिया है और दुनिया में एक संदेश भी दे दिया कि फिटनेस को पटाने के लिए हम अपनी सीमाओं से भी छेड़छाड़ और डाइटिंग करवा सकते हैं।

आजादी के समय हमारी जनसंख्या, केवल 35 करोड़ में ही जैसे-तैसे गुजारा कर रही थी जो हमारे दिन-रात के अथक प्रयासों के बाद अब 135 करोड़ की स्क्रीन को टच कर रही है। आजादी के बाद हमने अपना भूभाग कम करके जनसंख्या कई गुना बढ़ा ली और फिर भी, देश से एक विस्फोटक पदार्थ के रूप में हमारा मेकओवर नहीं हुआ। यही देश के रूप में हमारी फिटनेस की सफलता की कहानी का बयान दर्ज करता है।

जब फिटनेस सबंधी हमारी चिंताएं, राष्ट्रीय सीमाओं का उल्लंघन करते हुए अंतर्राष्ट्रीय गति को प्राप्त हुई तो हमने एक अच्छे पड़ोसी की भूमिका निभाते हुए, पाकिस्तान को शेप में लाने के लिए पाकिस्तान की चर्बी को जलाकर उसका बांग्लादेश के रूप में हृदय और डेमोग्राफिक परिवर्तन कर दिया। इस स्वास्थ्य संबंधी घटना को अंतरराष्ट्रीय फिटनेस के क्षेत्र में क्षेत्रफल कम करने के लिए केस-स्टडी का चढ़ावा चढ़ाकर याद किया जाता है।

खिलाड़ियों द्वारा नेताओं को फिटनेस चैलेंज अर्पण करना, खिलाड़ी समुदाय का जन्मजात खिलाड़ी उर्फ नेता समुदाय में अखंड विश्वास का परिचय और विजिटिंग कार्ड देता है, क्योंकि खिलाड़ी जानते हैं कि फिटनेस का पुष्प, नेता नाम के बगीचे में आराम से अपनी शोभा और आकार बढ़ा सकता है। नेताओं की फिटनेस का लोहा, सोना-चांदी च्यवनप्राश खाकर पृथ्वी के हर प्राणी को मानना ही पड़ेगा, क्योंकि केवल देश के नेता ही हैं जो 70 साल तक इतना खाने के बाद भी अपने विनम्र स्वभाव के दौड़ते खट्टठ्ठी डकार और मीठी सेल्फी नहीं लेते हैं। राजनीति में व्यक्ति 50 साल तक भी युवा माना और मनवाया जाता है, क्योंकि इसके पीछे उनकी मजबूत फिटनेस तैनात होती है, जबकि खिलाड़ी तो 35 साल की उम्र में ही फिटनेस को तलाक देकर संन्यास के साथ पक्का घर बसा लेते हैं।

नेताओं के फिट रहने के कारण ही, देश के दहेज में आए गिफ्रट जैसे गरीबी अशिक्षा और बेरोजगारी आदि भी पूर्णतया सेहतमंद और एवरग्रीन बने हुए हैं और इनके स्वास्थ्य को निकट भविष्य में कोई विकट खतरा नजर नहीं आ रहा है और यह हमारे नेताओं की दूरदर्शी फिटनेस टाऊन प्लानिंग का परिणाम है, जिसके चलते गरीबी, अशिक्षा और बेरोजगारी को फ्रीहोल्ड अपार्टमेंट अलॉट हो चुके हैं।

नेताओं का फिटनेस के हत्थे चढ़े रहना, देश की सेहत के लिए मनरेगा की तरह जरूरी है, क्योंकि जब तक नेता लोग फिटनेस की बंदूक से अपच का एनकाउंटर कर अपना हाजमा और तौंद नहीं बढ़ाएंगे। तब तक जनता भी गरीबी रेखा से ब्रेकअप कर, फिटनेस को ललकार कर उसका आलिंगन नहीं कर पाएगी।

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

0 टिप्पणी "व्यंग्य // राजनेता है जहाँ, तंदुरुस्ती है वहाँ // अमित शर्मा"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.