रचनाकार

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका

भावना कुँअर के 11 हाइकु

image

हाइकु

डॉ भावना कुँअर

1

कटता नहीं

जिंदगी का सफर

बोझिल राहें।

 

2

छाये दिल पे

उदासी के बादल

आँसू बरसे।

 

3

धड़कन ने

जब ली अँगड़ाई

वो याद आई ।

 

4

बढ़ती गयी

जो भँवर दुखों की

थमती नहीं ।

 

5

मेरे दुखों की

जब चली आँधियॉं

छाया अँधेरा ।

 

6

पलकों में थीं

मगर गिरी नही

आँसू की बूँद ।

 

7

जब भी मिली

हमें तो सफर में

धूप ही मिली ।

 

8

सच्चा प्यार ही

फॉंदकर दीवारें

पाता मंजिल।

 

9

टूटते रहे

मंजिल मिली नहीं

ढूँढ़ते रहे ।

 

10

जो गलियारे

थे सपनों के अब

सूखने लगे।

 

11

लिये बैठी है

गुलाब की पाँखुरी

ओस की बूँद।

-0-

 

bhawnak2002@gmail.com

विषय:
रचना कैसी लगी:

एक टिप्पणी भेजें

baate tumhari , jab bhi suni , nai lagi

उम्दा हाइकू बहुत बहुत बधाई

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget