शनिवार, 15 दिसंबर 2012

प्रतिभा शुक्ला की कविता - यादें

clip_image002

उनकी यादों को सीने से लगाये
लम्हा -लम्हा समेटते
दिन दोपहर शाम गुजर जाती
यादे  है कि मचल पड़ती
नींद में भी पुराने खंडहर की स्मृतियों  में
जाने को जहां कभी दो स्नेहातुर आंखों ने
घर बसाने का सपना देखा था
जानना चाहती है कि
मिलने से बिछुड़़ने तक की प्रकिया में
ऎसा क्या था जो आज भी जोड़े रखा है
दोनों को
मन आज भी भाग जाता
अकेले पाकर या कभी सभी  के बीच से
तलाश करती अपने पुराने दिन
पीले पत्तो के बीच
अटखेलियां करती दो आंखे
रिमझिम बूंदों के बीच
बजती पैजनी
और ख़ामोशी में अचानक
खिलखिला कर दौड़ पड़ती वह
और फिर किसी आशंका से काँप जाती
लिपट पड़ती सुरक्षा के लिए
उन बांहों में जो बचा सकता है उसे
आने वाले उन भयानक हवाओं से
जिसने शाख से पत्तों को
अलग करने में कोई मुश्किल नहीं होती।
प्रतिभा शुक्ला

2 blogger-facebook:

  1. Sushma Vaish12:18 pm

    Bhavpurn rachna hai. Pad kar mun kahi kho gaya. Vakt n milne ke bavjod bhavpurn kavitaye hume apni taraf kheech leti. gud luc.

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

------------------------------------------------------------

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं...

1 करोड़ से अधिक पृष्ठ-पठन, 1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक तथा 2000 से अधिक फ़ेसबुक प्रसंशक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को इंटरनेट के विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.किसी भी फ़ॉन्ट, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर फ़ाइल में रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------