बुधवार, 12 जून 2013

ई-बुक : राकेश भ्रमर का उपन्यास - डाल के पंछी

image

राकेश भ्रमर  का उपन्यास - डाल के पंछी नीचे दिए गए विंडो में क्लिक टू रीड बटन पर क्लिक कर पढ़ें. आप चाहें तो इस उपन्यास को पीडीएफ़ ईबुक के रूप में इस लिंक पर जाकरShare पर क्लिक कर फिर नीचे मेन्यू में Download पर क्लिक कर डाउनलोड कर अपने कंप्यूटर/मोबाइल उपकरणों पर भी पढ़ सकते हैं, अथवा अपने मित्रों को अग्रेषित कर सकते हैं

2 blogger-facebook:

  1. हिन्दी में बहुत कम ईबुक्स उपलब्ध हैं, लेखक के प्रयास सराहनीय हैं, हम डाऊनलोड नहीं कर पा रहे हैं, कृप्या मार्गदर्शन करें ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. विवेक जी,
    जब आप ऊपर क्लिक टू रीड बटन या फिर एम्बेडेड विंडो में ओपन पब्लिकेशन लिंक को क्लिक करते हैं तो आपको ईशू की साइट पर पूरी किताब पढ़ने के लिए ले जाया जाता है. वहाँ पर नीचे की ओर SHARE लिंक होगा उसे क्लिक करें. फिर कुछ और लिंक दिखेंगे जिसमें Download का लिंक दिखेगा. उसे क्लिक करने पर डाउनलोड होगा.

    यदि फिर भी समस्या हो तो कृपया बताएँ.

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

1.5 लाख गूगल+ अनुसरणकर्ता, 1500 से अधिक सदस्य

/ 2,500 से अधिक नियमित ग्राहक
/ प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 10,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही नाका से जुड़ें. नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है.अपनी रचनाएँ rachanakar@gmail.com पर ईमेल करें. अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------