भूपेन हजारिका की जीवनी : दिल हूम हूम करे (5)

SHARE:

भूपेन हजारिका दिल हूम-हूम करे -दिनकर कुमार ( पिछले अंक से जारी ....) (साथ में सुनिये रेडियोवाणी पर भूपेन दा के गीत यहाँ पर तथा कुछ और गी...

भूपेन हजारिका


दिल हूम-हूम करे


-दिनकर कुमार

(पिछले अंक से जारी....)

(साथ में सुनिये रेडियोवाणी पर भूपेन दा के गीत यहाँ पर तथा कुछ और गीत यहाँ पर)


तेरह
अपने बारे में भूपेन हजारिका ने लिखा है - ‘असम की मिट्टी मुझे गलत तो नहीं समझेगी' - यह संवाद मैंने जयन्त दुवरा नामक एक काल्पनिक चरित्र के मुंह से कहलवाया था ‘एरा बाटर सुर' फिल्म में। चरित्र मेरा ही था। मैंने स्वाभिमान के साथ कहा था - गलत तो नहीं समझेगी, क्योंकि मैं कुछ दिनों के लिए असम से बाहर जाऊंगा। जो असुविधा हो रही थी, वह दिखा दिया गया था। जाने के रास्ते में कुछ बाधाएं थीं, उन्हें हटाकर वह क्षितिज की ओर चला गया। वैसा रूठकर मैंने लिखा था। असम की मिट्टी ने मुझे कभी गलत नहीं समझा। असम की मिट्टी ने जवाब दिया है, करोड़ों लोगों ने जवाब दिया है, स्वीकार किया है, स्नेह दिया है। वैसा मैंने यूं ही कहा था। जिस तरह मां से रूठकर कहा जाता है। वैसा कहने में कोई घृणा का भाव नहीं था।


... मैंने 13 साल की उम्र में ‘अग्नियुगर फिरिंगति' गाना लिखा था और दस साल की उम्र में शंकरदेव के बारे में गाना लिखा था। जब सन् 1946 में ‘अग्नियुगर फिरिंगति' को ज्योतिप्रसाद आगरवाला ने फिल्म में स्थान दिया तो मुझे प्रोत्साहन मिला। ज्योतिप्रसाद आगरवाला ने मुझसे कारेंगर लिगिरी, शोणित कुंवरी के गाने गवाए, ‘इन्द्र मालती' फिल्म में मुझे अपना गीत ‘विश्व विजयी न जबान' गवाया। मुझ पर प्रभाव पड़ा कि अपनी मिट्टी की गन्ध से प्यार करना चाहिए। ज्योतिप्रसाद आगरवाला एवं विष्णुप्रसाद राभा ने बचपन में मुझे यह प्रेरणा दी। जब मैं विदेश गया तो वहां भी देखा, पॉल राबसन जैसे कलाकार नये-नये प्रयोग कर रहे हैं। वहां से लौटकर ‘डोला हे डोला' और ‘सागर संगमत' जैसे गीतों की मैंने रचना की। मैं खुद ही गीत लिखता हूं, खुद ही धुन तैयार करता हूं, खुद ही गाता हूं, इसीलिए अपने गीत की शैली के बारे में खुद ही कोई राय नहीं दे सकता। अगर मेरी रचना में किसी को विशेष शैली नजर आती है तो शायद विषयवस्तु के कारण नजर आती है।


मैंने कई गीत फिल्मों या नाटकों के किरदारों को ध्यान में रखकर लिखा है। उन गीतों से मेरे दर्शन का मूल्यांकन नहीं किया जा सकता।


... मैं एक सफल गायक हूं या नहीं, कह नहीं सकता। मेरी आवाज जन्मजात देन है। संगीत सीखे बिना मैं बचपन में गाने लगा था - तोता की तरह। पांच साल की उम्र से ही लोग मेरे गीत की सराहना करते रहे हैं। जब मैं युवावस्था में पहुंचा, तब मैंने महसूस किया कि मुझे बहुत कुछ सीखना है। और मैंने लगातार सीखने का प्रयास किया है।
जब मैं मंच पर गाता हूं, भावुक हो जाता हूं, ऐसे लोगों का कहना है। तब मैं अपने-आप को भूल जाता हूं। गाते समय मैं इस कदर रम जाता हूं कि सब कुछ भूल जाता हूं। गीत के एक-एक शब्द को मैं अनुभव करता हूं। मुझे ऐसा लगता है कि अगर मैं उन शब्दों को महसूस कर पाऊंगा तो श्रोता भी उनको अच्छी तरह महसूस कर पाएंगे।


मैं जीवन भर सीखता रहा हूं। एकलव्य की तरह कई लोगों से मैंने प्रेरणा ग्रहण की है। बहस करता रहा हूं और सीखता रहा हूं। मैंने पॉल राबसन से पूछा था - आपने अमुक जगह वह गाना गाया था, यहां क्यों नहीं गाया ? पॉल राबसन ने कहा था - ‘गीत मेरे लिए हथियार है। जहां जिस हथियार की जरूरत होती है, उसी का इस्तेमाल करता हूं।'
मैं जब गीत लिखता हूं तो उसमें तत्कालीन समय का चित्र होता है। तब मैं यह मानकर नहीं चलता कि गीत भविष्य में भी उतना ही प्रासंगिक रहेगा। गीत रचने का नियम पता हो तो नियम तोड़ने का साहस किया जा सकता है। मुझे ऐसे गीत अच्छे लगते हैं, जिसमें मिट्टी की गन्ध और आम आदमी के दिल की बात शामिल हो। जिन धार्मिक गीतों में भगवान कृष्ण हम जैसे मनुष्य बन गये हैं, वैसे गीत मुझे पसन्द हैं। फिल्म के संगीतकार के रूप में मेरा मानना है कि संगीत के जरिए मुझे फिल्म को नियंत्रित नहीं करना है। फिल्म की गति को आगे बढ़ाने के लिए मैं संगीत का इस्तेमाल करता हूं।


जब कोई घटना या व्यक्ति का कोई पल मुझे सोचने के लिए मजबूर करता है तो मैं उसे पकड़ने की कोशिश करता हूं। जब तक ऐसा कर नहीं लेता, काफी मानसिक परिश्रम करना पड़ता है। प्रत्येक गीत का आदि, मध्य और अन्त होता है। मोती की तरह किसी गीत को चमकाने के लिए सोचने का वक्त चाहिए। हर तरह का सृजन प्रसव वेदना के समान होता है।


मैं अपने गीत ‘सागर संगम' को अपनी सर्वश्रेष्ठ रचना मानता हूं। पूरी दुनिया के बारे में सोचते हुए मैंने इस गीत की रचना की थी। इस गीत की रचना मैंने स्वदेश लौटते हुए की थी। मगर इसे सम्पूर्ण करने में काफी समय लगा था।


पर्फार्मिंग आर्टिस्ट के रूप में मुझे जनता का अपार स्नेह मिलता रहा है। रात-रात भर हजारों लोग मुझे सुनने के लिए प्रतीक्षा करते रहते हैं। दमदम स्टेशन पर अन्धे भिखारी मेरे गीत गाकर भीख मांगते हैं। मेरे लिए यह स्वीकृति सर्वश्रेष्ठ संगीतकार के स्वर्ण पदक से कहीं बढ़कर है।


भूपेन हजारिका के नाम पर गुवाहाटी में 2001 में ‘भूपेन हजारिका ट्रस्ट' की स्थापना हुई। यह ट्रस्ट भूपेन संगीत का संरक्षण का काम करेगा। संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष के रूप में भूपेन हजारिका ने असम के सत्रीया नृत्य को भारतीय शास्त्रीय नृत्य के रूप में मान्यता दिलवायी है।



जैसा कि प्रत्येक किंवदन्ती पुरुष के साथ होता है, भूपेन हजारिका के खिलाफ भी असम के अखबारों में काफी कुछ लिखा जाता रहा है। कल्पना लाजमी के साथ उनके सम्बन्ध को लेकर इन अखबारों ने हमेशा आक्रामक तेवर अपनाया है। सन् 1971 में भूपेन आत्माराम की फिल्म ‘आरोप' में संगीत देने के लिए मुम्बई गये थे। कल्पना लाजमी गीता दत्त की बहन की बेटी है। तभी उससे उनका परिचय हुआ था। पहले श्याम बेनेगल की सहायक थी। बाद में भूपेन हजारिका की ‘स्थायी सचिव' बन गयी। ‘एक पल', ‘रूदाली', ‘दमन' जैसी फिल्मों का निर्देशन करने वाली कल्पना लाजमी ने ‘सानन्दा' को दिये एक साक्षात्कार में कबूल किया था कि वह भूपेन हजारिका के साथ ‘लिव टूगेदर' के सिद्घान्त के तहत जीवन यापन कर रही है। असम के कला समीक्षक मानते हैं कि कल्पना लाजमी ने भूपेन हजारिका को असम से दूर करने का प्रयास किया है और भूपेन हजारिका का ‘अधिकाधिक व्यावसायिक उपयोग' वह करती रही है। गुवाहाटी में एक संवाददाता सम्मेलन में कल्पना और पत्रकारों के बीच झड़प भी हो चुकी है। कल्पना अपने साक्षात्कार में कह चुकी है कि वह भूपेन हजारिका की सेहत को ध्यान में रखते हुए कुछ बंदिशें लगाती रही है, जिसे लेकर असम के लोग बुरा मानते रहे हैं।
भूपेन हजारिका के जिन गीतों का अनुवाद नरेन्द्र शर्मा एवं गुलजार ने हिन्दी में किया है, वे गीत देश-विदेश में काफी लोकप्रिय हुए हैं। भूपेन ने अपने पुराने गीतों के धुनों को कल्पना की फिल्मों में इस्तेमाल किया है। समीक्षक मानते हैं कि ‘दमन' और बाद के म्यूजिक एलबमों में अनुवाद का स्तर सही नहीं है, क्योंकि स्तरीय गीतकारों ने उनका अनुवाद नहीं किया है।


किंवदन्ती पुरुष भूपेन हजारिका आज असम की जनता के एनदय में वास करते हैं। अपने बारे में भूपेन हजारिका ने कहा भी है - ‘मुझे बुढापे का अहसास सताता नहीं है। मेरी जीवन लालसा अभी भी खत्म नहीं हुई है। मैं इस धरती पर बहुत दिनों तक जीवित रहना चाहता हूं। पहले सोचता था गाते-गाते जब पचास साल पूरे हो जाएंगे तो गाना छोड दूंगा। किसी एकान्त में जाकर बैठ जाऊंगा। मगर मनुष्य के जीवन की राह पहले से निर्धारित नहीं होती, यह बात मैं आज महसूस कर रहा हूं। अब सोचता हूं, मेरे जैसे व्यक्ति के लिए सेवानिवृत्त होना जरूरी नहीं है।'


फिल्म जगत में भूपेन हजारिका
फिल्म के गायक एवं अभिनेता के रूप में सर्वप्रथम काम किया :
1. इन्द्रमालती (असमिया फिल्म, निर्देशक ज्योतिप्रसाद आगरवाला) : 1939
फिल्म में सर्वप्रथम पार्श्वगायन
1. जयमती : 1936
2. शोणित कुंवरी : 1936
कहानी और पटकथा लेखन
1. एरा बाटर सुर : 1956
2. माहुत बन्धुरे : 1958
3. शकुन्तला : 1961
4. लटिघटि : 1966
5. चिकमिक बिजुली : 1969
6. रूपकुंवर ज्योतिप्रसाद आरू जयमती : 1976
7. भाग्य : 1968
फिल्म का निर्देशन
1. एरा बाटर सुर : 1956
2. माहुत बन्धुरे : 1958
3. शकुन्तला : 1961
4. प्रतिध्वनि : 1964
5. लटिघटी : 1966
6. भाग्य : 1968
7. चिकमिक बिजुली : 1969
8. मेरा धरम मेरी मां : 1975
9. रूपकुंवर ज्योतिप्रसाद आरू जयमती : 1976
10. मन प्रजापति : 1979
11. सिराज : 1989
12. मिरि जियरी : 1990


भूपेन हजारिका का वंशवृक्ष
नगा हजारिका
वंशीधर हजारिका
मुक्ताराम हजारिका दण्डी हजारिका नीलकान्त हजारिका गंगाराम हजारिका पद्मराम हजारिका
पत्नी : शान्तिप्रिया हजारिका
भूपेन अमर प्रवीण क्वीन नृपेन बलेन कविता रूबी जयन्त समर
हजारिका हजारिका हजारिका हजारिका हजारिका हजारिका हजारिका हजारिका हजारिका हजारिका
पत्नी : प्रियम बी. हजारिका
पुत्र : भूपेन प्रिय हजारिका
घर का नाम : तेज


भूपेन हजारिका को क्या पसन्द थे
प्रिय रंग : लाल और सफेद
प्रिय फूल : रातरानी
प्रिय भोजन : भात और मछली का झोल
प्रिय मछली : कोई भी छोटी मछली
प्रिय चिडिया : पण्डुक
प्रिय पेड़ : बरगद
प्रिय कलाकार : शंकरदेव
प्रिय जगह : तेजपुर
प्रिय साहित्यकार : लक्ष्मीनाथ बेजबरुवा
प्रिय गीत : जिसके बोल सुन्दर और शाश्वत हों
प्रिय फिल्म : अकिरा कुरोसोवा की फिल्में/विशेष रूप से ‘रशमेन'
प्रिय फिल्म निर्देशक : अकिरा कुरोसोवा
कब दुःख होता है : जब सुख की मात्रा ज्यादा हो जाती है
कब हंसी आती है : जब नेता अभिनेता बनने की कोशिश करते हैं। जब नेता खराब अभिनय करने लगते हैं तब हंसी रुक नहीं पाती।
कब गुस्सा आता है : नमकहरामों को देखकर। वैसे अब पहले की तरह गुस्सा नहीं आता।
मुख्य शत्रु : स्वयं। स्वयं से ही डर लगता है।
कब तक गाएंगे : अन्तिम दम तक।
मनोरंजन : फुरसत नहीं मिलती : जरा-सा वक्त मिलता है तो चित्र बनाते हैं। व्यंजन तैयार करना भी अच्छा लगता है।
समालोचना : समालोचना का स्वागत करते हैं। एक गीत भी लिखा है - ‘समालोचना की आग में तपाकर मुझे विकसित करो'। परन्तु अगर सृजन की तुलना में व्यक्ति केन्द्रित हो तो मन पर चोट लगती है।

भूपेन हजारिका को दी गयी विविध उपाधियां
1. सुधाकण्ठ
2. पद्मश्री
3. संगीत सूर्य
4. सुर के जादूगर
5. कलारत्न
6. धरती के गन्धर्व
7. असम गन्धर्व
8. गन्धर्व कुंवर
9. कला-काण्डारी
10. शिल्पी शिरोमणि
11. बीसवीं सदी के संस्कृतिदूत
12. यायावर शिल्पी
13. विश्वबन्धु
14. विश्वकण्ठ


जिन फिल्मों में संगीत दिया
असमिया :
1. सती बेउला : 1948
2. सिराज : 1948
3. पियलि फुकन : 1955
4. एरा बाटर सुर : 1956
5. धुमुहा : 1957
6. केंचा सोन : 1959
7. शकुन्तला : 1961
8. पुवति निशार सपोन : 1959
9. मणिराम देवान : 1963
10. प्रतिध्वनि : 1964
11. लटिघटि : 1966
12. भाग्य : 1968
13. चिकमिक बिजुली : 1969
14. चमेली मेमसाब : 1975
15. खोज : 1975
16. पलाशर रंग : 1976
17. रूपकुंवर ज्योतिप्रसाद आरू जयमती : 1976
18. वनहंस : 1976
19. वनजुई : 1977
20. वृन्दावन : 1978
21. मन प्रजापति : 1979
22. अकन : 1980
23. अपरूपा : 1980
24. मां : 1983
25. अंगीकार : 1985
26. युगे-युगे संग्राम : 1986
27. संकल्प : 1986
28. स्वीकारोक्ति : 1986
29. प्रतिशोध : 1987
30. सिराज : 1989
31. मिरि जियरी : 1990
32. पानी : 1990
बांग्ला :
1. जीवन तृष्णा : 1957
2. कौडी ओ कमल : 1957
3. असमाप्त : 1957
4. माहुत बन्धुरे : 1958
5. जोनाकीर आलो : 1958
6. दुई बेचारा : 1959
7. एखाने पिंजड : 1971
8. महुआ : 1977
10. सीमाना पेरिए (बांग्लादेश) : 1977
11. नागिनी कन्यार काहिनी : 1979
12. कालो सिन्दूर : 1984
13. चमेली मेमसाब :
14. कोमल गान्धार :
15. बन्धु :
हिन्दी :
1. आरोप : 1973
2. मेरा धरम मेरी मां : 1975
3. अपेक्षा : 1984
4. एक पल : 1986
5. लोहित किनारे (दूरदर्शन के लिए धारावाहिक) : 1988
6. चमेली मेमसाब :
7. रूदाली : 1992
8. गजगामिनी : 2000
9. दमन : 2000
भोजपुरी :
1. छठ मैया की महिमा :


कार्बी :
1. रिंग आंग तंग :
जिन मशहूर कलाकारों ने भूपेन हजारिका के लिखे गीतों को उनके ही संगीत निर्देशन में गाया :
लता मंगेशकर
* जोनाकरे राति असमीरे माटी : (एरा बांहर सुर) : 1956
हेमन्त मुखर्जी
* रौद पुवाबर कारणे (एरा बांहर सुर) : 1956
* जीवन डिंगा बाई थाका बान्धो (एरा बांहर सुर) : 1956
इला बसु
* प्रथम प्रहर रात्रि (शकुन्तला) : 1961
* वनरे पखीटी (शकुन्तला) : 1961
* नव मल्लिकार (शकुन्तला) : 1961
* जीवनटो यदि अभिनय हय (लटिघटि) : 1966
तलत महमूद
* लिएन माकाऊ कोन पाहाडर शिखरते (प्रतिध्वनि) : 1964
सुमन कल्याणपुर
* ओय ओय आकाश सुबो (प्रतिध्वनि) : 1964
* मिलनेर शुभक्षण (चिकमिक बिजुली) : 1969
* बिजुलीर पोहर मोर नाई (चिकमिक बिजुली) : 1969
किशोर कुमार
* पखीराज घोडा (चिकमिक बिजुली) : 1969
मुकेश
* घर आमार माटिर हय (चिकमिक बिजुली) : 1969
मोहम्मद रफी
* रमजानरे रोजा होल
* सेनेहरे सैयद
* साहब जाय आगते
उषा मंगेशकर
* सिनाकी मोर मनर मानुह (खोज) : 1974
* जिलमिलीया कोमल बाली (खोज) : 1974
* असम देशर बागीचारे सोवाली (चमेली मेमसाब) : 1975
* हाउवा नाई बातास नाई (चमेली मेमसाब) : 1975
* हायरे प्राणेर बाचा मोर (चमेली मेमसाब) : 1975
* क ख ग घ (चमेली मेमसाब) : 1975
* तुमि बियार निशार (रिकार्ड) : 1978
* ओ मालती कथा एटा कऊं शुना (रिकार्ड) : 1978
* राधाचूडार फूल गूजि (रिकार्ड) : 1978
* श्याम कानू दूर है नायावा (रिकार्ड) : 1980
आशा भोंसले
* पखीराज घोडा (चिकमिक बिजुली) : 1969
* ओ अभिमानी बन्धु (मन प्रजापति) : 1978
* एई धुनीया गोधूली लग्न (मन प्रजापति) : 1978
शबाना यासमीन
* विमूर्त एई रात्रि मोर (सीमाना पेरिये)
भूपेन हजारिका का साहित्य
गद्य
1. सुन्दरर न दिगन्त
2. सुन्दरर सरू बड आलियेदि
3. समयर पखी घोडात उठि
4. ज्योति ककाईदेऊ
5. विष्णु ककाईदेऊ
6. कृष्टिर पथारे-पथारे
7. दिहिंगे दिपांगे
8. बोहाग माथो एटि ऋतु नहय
9. बन्हिमान लुइतर पारे-पारे
10. नंदन तत्वर कर्मीसकल
11. मई एटि यायावर
12. संपादकीय


गीत संग्रह
1. जिलिकाबो लुइतरे पार
2. संग्राम लग्न आजि
3. आगलि बांहरे लाहरी गगना
4. बन्हिमान ब्रह्मपुत्र
5. गीतावली


शिशु साहित्य
1. भूपेन मामार गीते माते अ आ क ख


पटकथा
1. चिकमिक बिजुली
2. एरा बाटर सुर
3. माहुत बन्धुरे


पत्रिकाओं का संपादन
१. न्यू इंडिया - न्यूयार्क, 1949-50
अमेरिका में भारतीय छात्र संघ का मुखपत्र
2. गति (कला पत्रिका) - गुवाहाटी, 1964-67
3. बिन्दु (लघु पत्रिका) - गुवाहाटी, 1970
4. आमार प्रतिनिधि (मासिक पत्रिका) - कलकत्ता, 1964-80
5. प्रतिध्वनि (मासिक पत्रिका) - गुवाहाटी


भूपेन हजारिका के गीतों के कैसेट व रिकार्ड
1938 : कासते कलसी लै जाय रसकी बाई, सेनोला कम्पनी
उलाहरे नाचि बागि होलि वियाफुल
(विष्णुप्रसाद राभा के सहयोग से)
1945 : परहि पूवाते टुलूंगा नावते ।।एच.एम.वी./4ई २५७११
बहु दिनर आगते
1948 : महात्मार महाप्रयाण ।।एच.एम.वी./4ई ७२२८
ओ ओनाली दीपान्विता
सुर नगरीर सुरर कुमार ।।एच.एम.वी./4ई ७८०३
1955 : दोला दोला ।।एच.एम.वी./4ई २५७०७
भांग शिल भांग
लुइतर भूटूंगाई उलाल शिहू ।।एच.एम.वी./4ई २५७०९
जिलिकाब लुइतरे पार ।।एच.एम.वी./4ई २५७१०
रंग किनिवा कोने
एटि फली दूटी पात
1960 : हे कानाई पार कराहे ।।एच.एम.वी./4ई २५७१३
बिहूरेनो बिरिना पात
1962 : मानुहे मानुहर बाबे ।।एच.एम.वी./4ई २५७१४
अस्त आकाशरे
नतून नागिनी तुमि ।।एच.एम.वी./4ई २५७१५
आकाशीगंगा बिसरा नाई
विश्वविजयी नौजवान
(गीतकार : ज्योतिप्रसाद आगरवाला)
लुइतर पाररे आमि डेका लरा ।।एच.एम.वी./4ई २५७१६
(गीतकार : ज्योतिप्रसाद)
1963 : फूट गोधूलिते कपिली खूटित ।।एच.एम.वी./4ई २५७१८
तुमिये मोर कल्पनारे
सियांगरे गलं लोहितरे खामति ।।एच.एम.वी./4ई २५७२०
रूम जुम नेपूर बजाई
डुग डुग डुग डुग डंबरू ।।एच.एम.वी./4ई २५७२३
चिर युगमीया ढौ तुलि
1964 : नतून निमाती नियररे निशा ।।एच.एम.वी./4ई २५७२६
मदाररे फूल हेनो पूजातो नेलागे
नेकांदिबा नेकाांदिबा मोरे नतून कइना ।।एच.एम.वी./4ई २५७२६
जीवनरे कांदोनखिनि
रणवलांत नहऊं ।।एच.एम.वी./७ईपीई१०१९
कत जोवानर मृत्यु होल (चार गीत)
हू हू धूमूहा आहिलेऊ
काहिनी एटि लिखा
1965 : कत जोवानर मृत्यु होल ।।एच.एम.वी./4ई २५७२९
रणक्लांत नहऊं
हू हू धूमूहा आहिले ।।एच.एम.वी./4ई २५७३०
चित्रलेखा चित्रलेखा
1966 : सौ काजल काजल मेघ ।।एच.एम.वी./4ई २५७३१
जीवरे बेउला ओ
(कविता हजारिका के साथ)
आकाशीयानरे ।।एच.एम.वी./4ईईपीई १०२७
आह आह उलाई आह
गांवर तरा गांवे गांवे
(गीतकार : ज्योतिप्रसाद आगरवाला)
ब्रह्मपुत्रर दूटि पार दलंगे ।।एच.एम.वी./५ईपीई ३००६१
धूमूहा नाहिबि
नतून निमाती नियररे निशा
मदाररे फूल हेनो
1976 : विस्तीर्ण पाररे
ओ दिसांमुखर डेकाटि
मई विसारिसों
(गीतकार : निर्मलप्रभा बरदलै)
विक्षुब्ध विश्व कंठई ।।एच.एम.वी./५ईडीई ३०११
1968 : प्रथम नहय द्वितीय नहय ।।एच.एम.वी./ईसीएलपी २३४७

नतून निमाती नियररे निशा
मिठा मिठा बोहागर
नतून नागिनी तुमि
अस्त आकाशेर
मइनाजान मइनाजान
शिवांगर गोधूलि
आकाशीगंगा बिसरा नाई
मदाररे फूल हेनो
चिर युगमीया ढौ तुलि
कलिर कृष्ण बुलि नोजोकाबा


1969 : आमि असमिया नहऊं दुखीया ।।एच.एम.वी./4ई २५७३५
मइनाजान मइना जान ।।एच.एम.वी./एन८७०७९
मिठा मिठा बोहागर
दिनबोर मोर सोनर सजात नरले ।।एच.एम.वी./४५एन८७०७३
(रवीन्द्र संगीत)
आमि भाइटी भंटी ।।एच.एम.वी./एन४७०८०
(ऋतुपर्ण शर्मा के साथ)
बोहागी ओ बोहागी ।।एच.एम.वी./4ई२५७३७
(गीतकार : हेमेन हजारिका)
(रुनुमी भट्टाचार्य के साथ)
मई कोहिमारे आधुनिका डालिमी
(रुनुमी भट्टाचार्य के साथ)
1970 : चतरै बिहूरे गीत बान्धै ।।एच.एम.वी./ई4एलपी२४६३
सागर तीरत परि रलो
(गीतकार : निर्मलप्रभा भट्टाचार्य)
मई एटी यायावर
सुसुक सामाककै दीपालीजनीये ।।एच.एम.वी./एसईडीई३०२५
(जयन्त हजारिका के साथ)
चित्रलेखा चित्रलेखा
(जयन्त हजारिका के साथ)
एटुकुरा आलसुवा मेघ भांहि जाय ।।एच.एम.वी./एसईडीई३०३१
की करों करों उपाय
मोर मन चातकर
1971 : आवेलिर रामधेनु ।।एच.एम.वी./ईसीएलपी३०४३
शीतरे सेमेका राति ।।एच.एम.वी./एसईडीई३०४३
विमूर्त मोर निशाटि
मोर गान हउक
ऑटो रिक्शा चलाऊं ।।एच.एम.वी./एसईडीई३०४५
(जयन्त हजारिका के साथ)


1972 : जय जय नवजात बंगलादेश ।।एच.एम.वी./७ईपीई२५०२
तोमार उशाह कंहूवा कोमल
एका-बेंकार बाटेरे
गंगा मोर मां
1973 : बरदैसिला ने सरूदैसिला ने ।।एच.एम.वी./७ईपीई२५१०
(रुनुमी भट्टाचार्य के साथ)
देहि ऐ एई हेन बतरत
1974 : सराये सिकुने ।।एच.एम.वी./४५एन८७१७३
सेनेहीर फटा रिहा


साहब जाय आगते
(मोहम्मद रफी के साथ)
प्रेम प्रेम बुलि ।।एच.एम.वी./७ईपीई२५१८
(गीतकार : लक्ष्मीनाथ बेजबरुवा)
1975 : सकला टेंगाटि अकले नेखाबि ।।एच.एम.वी./७ईपीई२५२९
सुउच्च पहाडर


बर बरिबा जाय मेनेका (लोकगीत) ।।एच.एम.वी./७ईपीई१२९
आई तोक किहेरे पूजिम
(गीतकार : मुकुल बरुवा)
राधे कला नुबुलिबि मोक (लोकगीत)
ओ मोर गुरुदेव
1976 : मई जोन आजीवन उरनीया मौ
मुक्तिकामी लक्षजनर
शैशवते धेमालिते
भांग भांग शिल भांग ।।एच.एम.वी./ईजीएसटी२६५२
सुन सुन रे सुर बैरी (गीतकार : शंकरदेव)
राइज आजि भावरीया
युवती अनामिका गोस्वामी
स्नेहे आमार शत श्रावनर
गुपुते गुपुते
जिलिकाब लुइतरे पार
मोर एकेटि सुरत
(गीतकार : लक्ष्मीनाथ बेजबरुवा)
मई एटि यायावर


1977 : सेंदूर सेंदूर फोंटटिये ।।एच.एम.वी./७ईपीई२५४१
मोर मन बाघ
जीवन जोरा ज्यातिये यदि
मई एई माटिरे लरा
(गीतकार : निर्मलप्रभा बरदलै)
1978 : जोनाकी परुवार ।।एच.एम.वी./ईसीएसडी२६५३
(भास्कर दास के साथ)
मई जेतीया एई जीवनर
एंधार कातिर निशाते
(अंजू देवी के साथ)
नामरे कठीया (अंजू देवी के साथ)
ओ काजल बरन कन्या (भास्कर दास के साथ)
तुमि नतून पुरुष
काकिनी तामोलर
(भास्कर दास के साथ)
असम आमार रूपही
कविता आवृत्ति सप्तर्षि
1979 : शारदी रानी तोमार देखों नाम ।।एच.एम.वी./एस/४एसएनएलपी२०१५
आह आह उलाई आह
कपिली कपिली रांढाली सोवाली
मदाररे फूल हेनो
गौरीपुरीया गाभरू देखिलों
प्रतिध्वनि सुनो मई
नेकांदिबा नेकांदिबा मोरे नतून कईना


1980 : महाबाहु ब्रह्मपुत्र ।।एच.एम.वी.
आजि ब्रह्मपुत्र होल
आमि असमिया नहऊं दुखीया
बोहागे माथो एटि ऋतु नहय


1981 : लुइतपरीया डेका बन्धु ।।एच.एम.वी.
नतून नतून साह
महालाई हांसि बोले
तेज दिलों प्राण दिलों
शिहूटो उलोवादि बिहूटि आहिले
तप्त तीखारे अग्निशक्ति
अहो हो महो ओ देशर हके मरों
1982 : जाय व्रत संकल्प भागि ।।एच.एम.वी.
माज निशा मोर
आहिन महीया
आहिल बीन बोरागी
अल्लार बिने केऊ नाई
किनो पखीये (गीतकार : पार्वतीप्रसाद बरुवा)


1983 : मेघे गिर गिर करे ।।एच.एम.वी./टीपीएचवी२८१५४
डिफू होल तोमार नाम
बोहाग माथो एटि ऋतु नहय ।।एच.एम.वी.(एस/४५एनएलपी२५५१)
महाबाहु ब्रह्मपुत्र
आजि ब्रह्मपुत्र होल
डुग डुग डग डंबरू
आमि असमिया नहऊं दुखीया
रिम झिम बरखुने
सुसुक सामाककै ।।एच.एम.वी./एसपीएचओ२३०८८
(जयंत हजारिका के साथ)
मई जेन आजीवन
मधुमालती टोपनिजोवा
चित्रलेखा चित्रलेखा
माज निशा मोर
आपन नादे
(जयन्त हजारिका के साथ)
कीनो लीला प्रभु
(जयन्त हजारिका के साथ)
मोर गीतर हेजार श्रोता
लुइतर सोंतत
(जयन्त हजारिका के साथ)
आजि तोक किहेरे पूजिम


1984 : पार्वती प्रसाद बरुवा रचित ।।एच.एम.वी./टीपीएचवी२८१५४
ग्यारह गीत
उत्स : ग्यारह गीत ईसीएसडी२६५२/७६ ।।एच.एम.वी./टीपीएचवी२८१५५
उत्स ईसीएलपी२३४७ के नौ गीत ।।एच.एम.वी./टीपीएचवी२८१५६
तोमार देखों नाम पत्रलेखा
1986 : कत जोवानर मृत्यु होल ।।एच.एम.वी./टीपीएचवी२८०३८
अस्त आकाशरे
आकाशीगंगा
एटुकुडा आलसुवा मेघ
हय साहब हय
प्रेम प्रेम बूलि
गंगा मोर मां
नेकांदिबा नेकांदिबा
कलिर कृष्ण
आह आह उलाई आह
मोर गान हउक
शीतरे सेमेका राति
विमूर्त एई रात्रि
1987 : मानुहे मानुहर बाबे ।।एच.एम.वी./टीपीएचवी२८०८७
बिहुरेनो बिरिना
नेकांदिबा नेकांदिबा
रंग किनिबा कोने
नतून नागिनी तुमि
आकाशीगंगा
फूट गोधूलिते
डुग डुग डुग डंबरू
एटि कलि दूटि पात
चिरयुगमीया ढौ तुलि
कानाई पार करा
तुमिये मोर कल्पनारे
अस्त आकाशर
परहि पुवाते टुलुंगा नावते
1988 : शारदी रानी तोमार नाम ।।एच.एम.वी./एसटीएचवी/२९०९९
आह आह उलाई आह
कपिली कपिली
मदाररे फूल हेनो
गौरीपुरीया गाभरू
प्रतिध्वनि सुनो
नेकांदिबा नेकांदिबा
लुइतपरीया डेकाबन्धु
अहो हो महो हो
महात्माई हासिल बोले
लुइतत भूतूंगाई उलाल शिहू
तेज दिलों प्राण दिलों
लप्त तीखारे अग्नि शक्ति
अग्नियुगर फिरंगति मई
नतून नतून साह
जिकमिक दीवालिर बंति ज्वले
ओ मोर धरित्री आई
मोर मरमे मरम बिसारि जाय
शहीद प्रणामो तोमाक
जीवन सिन्धु बहु बिन्दुरे हय पूर्ण
मोर गातो देखोन
अतीतर बुरंजी
गुइये पोरा तिरासीर
1989 : समयर गति आजि एन. के. ००८
(गीत और संगीत : मणि महन्त)
पिंधिलों कतना माला
(गीतकार : नगेन बोरा, संगीत : भूपेन उजीर)
आजि ईदर महफिलत
(गीतकार : नुरूल हक, संगीत : मोहम्मद हुसैन)
तुमि असमिया
(गीत एवं संगीत : रसानन्द भोगोई)
आमार समाजर
(गीतकार : नगोन बोरा, संगीत : जयन्त नाथ)
पोहर पियासी पाहरि नेजाबा
(गीतकार : नुरूल हक, संगीत : मोहम्मद हुसैन)
आकौ प्रणाम करों
(गीतकार : हीरेन गोहाईं)
ओ सिपारर बान्धै टी सीरीज़/०६०८
सेंदूर सेंदूर
तेजरे कमलापति
आई सरस्वती
अपरूपा अपरूपा


1990 : तुमि होवा मोर घरर लखिमी बोवारी टी सीरीज़ एचएफ़/१२०
ओ सपोन तुमि किय निशा करा आमनि
किय कर तोई अहंकार
मई एटि शिक्षित निवनुवा
धाननि पथारत लखिमी नामिसे
हाविसे जाविसे बांहरे पात
बोहागीर पुवातेई कथा एटि करूं
शोणितपुरर उषाई
(आठों गीतों की रचना : सूर्य हजारिका)
मई आहिसों ।।एच.एम.वी./टीपीएचवी/२८१२४९
अनामिका विदाई
पाहाड भैयामर संगमथलीत
तुमिये मोर कल्पनारे
सुख नाई मोर
कहुंवा वन मोर अशान्त मन
जय वा पराजय (संगीत : हैयन्ती शुक्ल)
ओ मोर प्रिय जयगन (गीत-संगीत : अनिल दत्त)
1991 : एई बोहाग ज्वलन्त अरुण आरएए4/९१०९
चराईपुंगर कपौ चराई (संध्या मेनन के साथ)
बिहूरे उरूका निशा (संध्या मेनन के साथ)
जिन्दाबाद नेल्सन मंडेला
सेनेहरे आई (संध्या मेनन के साथ)
रूपही तोर


1992 : गोदावरी नैरे पारर (लता मंगेशकर के साथ)
चयनिका चयनिका (आशा भोंसले के साथ)
गुवाहाटीर कोनो एटा मीठा गोधूलि
बिहूटि बसरि आहिबा
असमी आईरे लालिता पालिता (उषा मंगेशकर के साथ)
उदंग उदंग गा (उषा मंगेशकर के साथ)
भालकै पुनर सोवाजोन (आशा भोंसले)
दूयो मुखा मुखी (लता मंगेशकर के साथ)
बांग्ला गीतों के कैसेट व रिकार्ड
1954 : रेल चले। ओगायेर सीमा नाय ।।एच.एम.वी./जीई२४७१३
1957 : आंका आंका ए पथेर ।।एच.एम.वी./जीई२४८६२
गुम गुम मेघ गरजाय
(हेमन्त मुखर्जी के साथ)


1968 : सहस्र जने मोक प्रश्न करे ।।एच.एम.वी./एन८३२७४
तोई काजल काजल दीघि
1969 : विस्तीर्ण दुपारेर ।।एच.एम.वी./४५जीई२५३६९
1971 : ए शहर प्रान्त/गंगा आकार मां ।।एच.एम.वी./४५जीई२५४१६
1976 : साजिए तोपाटि ।।एच.एम.वी.एस/७ईपीई
सुउच्च पाहाडेर
गोपने गोपने
गाव्यगीति ।।एच.एम.वी./ईसीपीएस
(रचना : अजय भट्टाचार्य)
रंगीबा नावरे आमार
1978 : आमि एक यायावर ।।एच.एम.वी./एस/४५
एनएलपी२००७
1974 : विस्तीर्ण दुपारे ।।एच.एम.वी./एस४५
एनएलपी२०१९
1980 : त्रिधारा ।।एच.एम.वी./एल.पी. ईएससीडी२६०५
1989 : स्मृतिर बालूचरे
1990 : स्वर्गेर फोन आलदा
1991 : नदीर नाम भाल बासा


छह कविताएं : भूपेन हजारिका


बिन्दु
निंदिया बिन रैना -
कोमल चांद पिघला
मुंह अंधेरे ओस की बूंदें उतरी
मेघ को चीरते हुए राजहंस
सूरज के सातों
घोड़ों की मंथर गति की आवाज
मेरी चेतना में प्रवेश करते हैं
सीने का स्पर्श करता है
एक नया गहरा सागर
लहर विहीन
जिसकी एक बिन्दु
हौले से लटक रही है
मेरे आंगन में
झड़े हुए
रातरानी की सफेद पंखुड़ी पर
शायद शरत आ गया
एक गुप्तांग
दो स्तन
कुछ अल्टरनेट सेक्स
छिप न सके, इसके लिए
डिजाइनर की तमाम कोशिश
हर आदमी एक द्वीप की तरह
एके फोर्टी सेवन जिन्दाबाद
आदिम छन्द हेड हंटर का।
बैलून/मूल्यबोध/उपभोक्तावाद
जीवन जाए
जडहीन शून्यता में।
मुमकिन हो तो टिकट कटा लें
मंगल ग्रह पर जाने के लिए
मनुष्य की खोज में
मनुष्य की खोज में



मग्न
क्षण-क्षण करते हुए
क्षण का विश्लेषण
क्षण होता ध्यानमग्न
मग्न ज्योति की बेडियां तोड़कर
चमकता स्फुर्लिंग
वहीं तुमसे मिला


विदेह
अदृश्य आंधी
क्षण के पश्चात् क्षण
वायु का संतरण
प्रेयसी
तुम क्या हो ?



आईना
चाह की ऊंचाई पर
मन भी कैसा है
कैसा है आईना
पूरी तरह कोई
मन को ही बना देता है आईना
आईना को सौंपोगे कुछ
न इंकार करेगा न स्वीकार।
आईना से मांगोगे कुछ
लेगा नहीं कुछ, न ही देगा
फेंकेगा नहीं कुछ
कैसा है आईना
मन कैसा है
चाह की ऊंचाई पर ...



बन्धु
(कैमरामैन संतोष शिवन के लिए)
बन्धु
कुछ शराब
कुछ सिगरेट
कुछ लापरवाही
कुछ धुआं
कुछ दायित्वहीनता
सोचते हो यही है सुकून
मगर बन्धु
मरोगे मरोगे
उम्र शून्य -
मृत्यु के बाद
तुम क्या
तुम रह जाओगे, बन्धु -
दृश्य अदृश्य होता है
देह सौन्दर्य पहेली बनता है
बची रहती है
आग की चमक
बन्द दुर्ग
जीवन रंगशाला है
तुम कहां हो
गजदन्त मीनार पर या
किसी बन्द दुर्ग के भीतर
मीनार को ढंक दिया है बादल ने
मीनार जीर्ण-शीर्ण हो गया है
दुर्ग धंस रहा है
टूट रहा है आदर्श का दुर्ग
और तुम
नर्सिसस, अपने-आप में
व्यस्त
झूठा
झूठा स्वर्ग।



दशमी
एक सुर
दो सुर, सुर के पंछियों का झुण्ड
झुण्ड के झुण्ड सुर बसेरे बनाते हैं
मन-शिविर में
आवाजाही जारी रहती है
शब्द का पताका तूफान
कुछ लोग गीतों के जरिए
सामने आते हैं
कण्ठरुद्घ प्रकाश
कण्ठहीन कण्ठ से
अनगिनत अन्तराएं
आबद्घ होता है नाद ब्रह्म
एक सुर दो सुर
सुर के पंछियों का झुण्ड
शून्य में उड़ता है
विसर्जन की प्रतिमा की तरह
******
(समाप्त)


नाम

 आलेख ,1, कविता ,1, कहानी ,1, व्यंग्य ,1,14 सितम्बर,7,14 september,6,15 अगस्त,4,2 अक्टूबर अक्तूबर,1,अंजनी श्रीवास्तव,1,अंजली काजल,1,अंजली देशपांडे,1,अंबिकादत्त व्यास,1,अखिलेश कुमार भारती,1,अखिलेश सोनी,1,अग्रसेन,1,अजय अरूण,1,अजय वर्मा,1,अजित वडनेरकर,1,अजीत प्रियदर्शी,1,अजीत भारती,1,अनंत वडघणे,1,अनन्त आलोक,1,अनमोल विचार,1,अनामिका,3,अनामी शरण बबल,1,अनिमेष कुमार गुप्ता,1,अनिल कुमार पारा,1,अनिल जनविजय,1,अनुज कुमार आचार्य,5,अनुज कुमार आचार्य बैजनाथ,1,अनुज खरे,1,अनुपम मिश्र,1,अनूप शुक्ल,14,अपर्णा शर्मा,6,अभिमन्यु,1,अभिषेक ओझा,1,अभिषेक कुमार अम्बर,1,अभिषेक मिश्र,1,अमरपाल सिंह आयुष्कर,2,अमरलाल हिंगोराणी,1,अमित शर्मा,3,अमित शुक्ल,1,अमिय बिन्दु,1,अमृता प्रीतम,1,अरविन्द कुमार खेड़े,5,अरूण देव,1,अरूण माहेश्वरी,1,अर्चना चतुर्वेदी,1,अर्चना वर्मा,2,अर्जुन सिंह नेगी,1,अविनाश त्रिपाठी,1,अशोक गौतम,3,अशोक जैन पोरवाल,14,अशोक शुक्ल,1,अश्विनी कुमार आलोक,1,आई बी अरोड़ा,1,आकांक्षा यादव,1,आचार्य बलवन्त,1,आचार्य शिवपूजन सहाय,1,आजादी,3,आत्मकथा,1,आदित्य प्रचंडिया,1,आनंद टहलरामाणी,1,आनन्द किरण,3,आर. के. नारायण,1,आरकॉम,1,आरती,1,आरिफा एविस,5,आलेख,4290,आलोक कुमार,3,आलोक कुमार सातपुते,1,आवश्यक सूचना!,1,आशीष कुमार त्रिवेदी,5,आशीष श्रीवास्तव,1,आशुतोष,1,आशुतोष शुक्ल,1,इंदु संचेतना,1,इन्दिरा वासवाणी,1,इन्द्रमणि उपाध्याय,1,इन्द्रेश कुमार,1,इलाहाबाद,2,ई-बुक,374,ईबुक,231,ईश्वरचन्द्र,1,उपन्यास,269,उपासना,1,उपासना बेहार,5,उमाशंकर सिंह परमार,1,उमेश चन्द्र सिरसवारी,2,उमेशचन्द्र सिरसवारी,1,उषा छाबड़ा,1,उषा रानी,1,ऋतुराज सिंह कौल,1,ऋषभचरण जैन,1,एम. एम. चन्द्रा,17,एस. एम. चन्द्रा,2,कथासरित्सागर,1,कर्ण,1,कला जगत,113,कलावंती सिंह,1,कल्पना कुलश्रेष्ठ,11,कवि,2,कविता,3240,कहानी,2361,कहानी संग्रह,247,काजल कुमार,7,कान्हा,1,कामिनी कामायनी,5,कार्टून,7,काशीनाथ सिंह,2,किताबी कोना,7,किरन सिंह,1,किशोरी लाल गोस्वामी,1,कुंवर प्रेमिल,1,कुबेर,7,कुमार करन मस्ताना,1,कुसुमलता सिंह,1,कृश्न चन्दर,6,कृष्ण,3,कृष्ण कुमार यादव,1,कृष्ण खटवाणी,1,कृष्ण जन्माष्टमी,5,के. पी. सक्सेना,1,केदारनाथ सिंह,1,कैलाश मंडलोई,3,कैलाश वानखेड़े,1,कैशलेस,1,कैस जौनपुरी,3,क़ैस जौनपुरी,1,कौशल किशोर श्रीवास्तव,1,खिमन मूलाणी,1,गंगा प्रसाद श्रीवास्तव,1,गंगाप्रसाद शर्मा गुणशेखर,1,ग़ज़लें,550,गजानंद प्रसाद देवांगन,2,गजेन्द्र नामदेव,1,गणि राजेन्द्र विजय,1,गणेश चतुर्थी,1,गणेश सिंह,4,गांधी जयंती,1,गिरधारी राम,4,गीत,3,गीता दुबे,1,गीता सिंह,1,गुंजन शर्मा,1,गुडविन मसीह,2,गुनो सामताणी,1,गुरदयाल सिंह,1,गोरख प्रभाकर काकडे,1,गोवर्धन यादव,1,गोविन्द वल्लभ पंत,1,गोविन्द सेन,5,चंद्रकला त्रिपाठी,1,चंद्रलेखा,1,चतुष्पदी,1,चन्द्रकिशोर जायसवाल,1,चन्द्रकुमार जैन,6,चाँद पत्रिका,1,चिकित्सा शिविर,1,चुटकुला,71,ज़कीया ज़ुबैरी,1,जगदीप सिंह दाँगी,1,जयचन्द प्रजापति कक्कूजी,2,जयश्री जाजू,4,जयश्री राय,1,जया जादवानी,1,जवाहरलाल कौल,1,जसबीर चावला,1,जावेद अनीस,8,जीवंत प्रसारण,141,जीवनी,1,जीशान हैदर जैदी,1,जुगलबंदी,5,जुनैद अंसारी,1,जैक लंडन,1,ज्ञान चतुर्वेदी,2,ज्योति अग्रवाल,1,टेकचंद,1,ठाकुर प्रसाद सिंह,1,तकनीक,32,तक्षक,1,तनूजा चौधरी,1,तरुण भटनागर,1,तरूण कु सोनी तन्वीर,1,ताराशंकर बंद्योपाध्याय,1,तीर्थ चांदवाणी,1,तुलसीराम,1,तेजेन्द्र शर्मा,2,तेवर,1,तेवरी,8,त्रिलोचन,8,दामोदर दत्त दीक्षित,1,दिनेश बैस,6,दिलबाग सिंह विर्क,1,दिलीप भाटिया,1,दिविक रमेश,1,दीपक आचार्य,48,दुर्गाष्टमी,1,देवी नागरानी,20,देवेन्द्र कुमार मिश्रा,2,देवेन्द्र पाठक महरूम,1,दोहे,1,धर्मेन्द्र निर्मल,2,धर्मेन्द्र राजमंगल,2,नइमत गुलची,1,नजीर नज़ीर अकबराबादी,1,नन्दलाल भारती,2,नरेंद्र शुक्ल,2,नरेन्द्र कुमार आर्य,1,नरेन्द्र कोहली,2,नरेन्‍द्रकुमार मेहता,9,नलिनी मिश्र,1,नवदुर्गा,1,नवरात्रि,1,नागार्जुन,1,नाटक,152,नामवर सिंह,1,निबंध,3,नियम,1,निर्मल गुप्ता,2,नीतू सुदीप्ति ‘नित्या’,1,नीरज खरे,1,नीलम महेंद्र,1,नीला प्रसाद,1,पंकज प्रखर,4,पंकज मित्र,2,पंकज शुक्ला,1,पंकज सुबीर,3,परसाई,1,परसाईं,1,परिहास,4,पल्लव,1,पल्लवी त्रिवेदी,2,पवन तिवारी,2,पाक कला,23,पाठकीय,62,पालगुम्मि पद्मराजू,1,पुनर्वसु जोशी,9,पूजा उपाध्याय,2,पोपटी हीरानंदाणी,1,पौराणिक,1,प्रज्ञा,1,प्रताप सहगल,1,प्रतिभा,1,प्रतिभा सक्सेना,1,प्रदीप कुमार,1,प्रदीप कुमार दाश दीपक,1,प्रदीप कुमार साह,11,प्रदोष मिश्र,1,प्रभात दुबे,1,प्रभु चौधरी,2,प्रमिला भारती,1,प्रमोद कुमार तिवारी,1,प्रमोद भार्गव,2,प्रमोद यादव,14,प्रवीण कुमार झा,1,प्रांजल धर,1,प्राची,367,प्रियंवद,2,प्रियदर्शन,1,प्रेम कहानी,1,प्रेम दिवस,2,प्रेम मंगल,1,फिक्र तौंसवी,1,फ्लेनरी ऑक्नर,1,बंग महिला,1,बंसी खूबचंदाणी,1,बकर पुराण,1,बजरंग बिहारी तिवारी,1,बरसाने लाल चतुर्वेदी,1,बलबीर दत्त,1,बलराज सिंह सिद्धू,1,बलूची,1,बसंत त्रिपाठी,2,बातचीत,2,बाल उपन्यास,6,बाल कथा,356,बाल कलम,26,बाल दिवस,4,बालकथा,80,बालकृष्ण भट्ट,1,बालगीत,20,बृज मोहन,2,बृजेन्द्र श्रीवास्तव उत्कर्ष,1,बेढब बनारसी,1,बैचलर्स किचन,1,बॉब डिलेन,1,भरत त्रिवेदी,1,भागवत रावत,1,भारत कालरा,1,भारत भूषण अग्रवाल,1,भारत यायावर,2,भावना राय,1,भावना शुक्ल,5,भीष्म साहनी,1,भूतनाथ,1,भूपेन्द्र कुमार दवे,1,मंजरी शुक्ला,2,मंजीत ठाकुर,1,मंजूर एहतेशाम,1,मंतव्य,1,मथुरा प्रसाद नवीन,1,मदन सोनी,1,मधु त्रिवेदी,2,मधु संधु,1,मधुर नज्मी,1,मधुरा प्रसाद नवीन,1,मधुरिमा प्रसाद,1,मधुरेश,1,मनीष कुमार सिंह,4,मनोज कुमार,6,मनोज कुमार झा,5,मनोज कुमार पांडेय,1,मनोज कुमार श्रीवास्तव,2,मनोज दास,1,ममता सिंह,2,मयंक चतुर्वेदी,1,महापर्व छठ,1,महाभारत,2,महावीर प्रसाद द्विवेदी,1,महाशिवरात्रि,1,महेंद्र भटनागर,3,महेन्द्र देवांगन माटी,1,महेश कटारे,1,महेश कुमार गोंड हीवेट,2,महेश सिंह,2,महेश हीवेट,1,मानसून,1,मार्कण्डेय,1,मिलन चौरसिया मिलन,1,मिलान कुन्देरा,1,मिशेल फूको,8,मिश्रीमल जैन तरंगित,1,मीनू पामर,2,मुकेश वर्मा,1,मुक्तिबोध,1,मुर्दहिया,1,मृदुला गर्ग,1,मेराज फैज़ाबादी,1,मैक्सिम गोर्की,1,मैथिली शरण गुप्त,1,मोतीलाल जोतवाणी,1,मोहन कल्पना,1,मोहन वर्मा,1,यशवंत कोठारी,8,यशोधरा विरोदय,2,यात्रा संस्मरण,31,योग,3,योग दिवस,3,योगासन,2,योगेन्द्र प्रताप मौर्य,1,योगेश अग्रवाल,2,रक्षा बंधन,1,रच,1,रचना समय,72,रजनीश कांत,2,रत्ना राय,1,रमेश उपाध्याय,1,रमेश राज,26,रमेशराज,8,रवि रतलामी,2,रवींद्र नाथ ठाकुर,1,रवीन्द्र अग्निहोत्री,4,रवीन्द्र नाथ त्यागी,1,रवीन्द्र संगीत,1,रवीन्द्र सहाय वर्मा,1,रसोई,1,रांगेय राघव,1,राकेश अचल,3,राकेश दुबे,1,राकेश बिहारी,1,राकेश भ्रमर,5,राकेश मिश्र,2,राजकुमार कुम्भज,1,राजन कुमार,2,राजशेखर चौबे,6,राजीव रंजन उपाध्याय,11,राजेन्द्र कुमार,1,राजेन्द्र विजय,1,राजेश कुमार,1,राजेश गोसाईं,2,राजेश जोशी,1,राधा कृष्ण,1,राधाकृष्ण,1,राधेश्याम द्विवेदी,5,राम कृष्ण खुराना,6,राम शिव मूर्ति यादव,1,रामचंद्र शुक्ल,1,रामचन्द्र शुक्ल,1,रामचरन गुप्त,5,रामवृक्ष सिंह,10,रावण,1,राहुल कुमार,1,राहुल सिंह,1,रिंकी मिश्रा,1,रिचर्ड फाइनमेन,1,रिलायंस इन्फोकाम,1,रीटा शहाणी,1,रेंसमवेयर,1,रेणु कुमारी,1,रेवती रमण शर्मा,1,रोहित रुसिया,1,लक्ष्मी यादव,6,लक्ष्मीकांत मुकुल,2,लक्ष्मीकांत वैष्णव,1,लखमी खिलाणी,1,लघु कथा,288,लघुकथा,1340,लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन,241,लतीफ घोंघी,1,ललित ग,1,ललित गर्ग,13,ललित निबंध,20,ललित साहू जख्मी,1,ललिता भाटिया,2,लाल पुष्प,1,लावण्या दीपक शाह,1,लीलाधर मंडलोई,1,लू सुन,1,लूट,1,लोक,1,लोककथा,378,लोकतंत्र का दर्द,1,लोकमित्र,1,लोकेन्द्र सिंह,3,विकास कुमार,1,विजय केसरी,1,विजय शिंदे,1,विज्ञान कथा,79,विद्यानंद कुमार,1,विनय भारत,1,विनीत कुमार,2,विनीता शुक्ला,3,विनोद कुमार दवे,4,विनोद तिवारी,1,विनोद मल्ल,1,विभा खरे,1,विमल चन्द्राकर,1,विमल सिंह,1,विरल पटेल,1,विविध,1,विविधा,1,विवेक प्रियदर्शी,1,विवेक रंजन श्रीवास्तव,5,विवेक सक्सेना,1,विवेकानंद,1,विवेकानन्द,1,विश्वंभर नाथ शर्मा कौशिक,2,विश्वनाथ प्रसाद तिवारी,1,विष्णु नागर,1,विष्णु प्रभाकर,1,वीणा भाटिया,15,वीरेन्द्र सरल,10,वेणीशंकर पटेल ब्रज,1,वेलेंटाइन,3,वेलेंटाइन डे,2,वैभव सिंह,1,व्यंग्य,2075,व्यंग्य के बहाने,2,व्यंग्य जुगलबंदी,17,व्यथित हृदय,2,शंकर पाटील,1,शगुन अग्रवाल,1,शबनम शर्मा,7,शब्द संधान,17,शम्भूनाथ,1,शरद कोकास,2,शशांक मिश्र भारती,8,शशिकांत सिंह,12,शहीद भगतसिंह,1,शामिख़ फ़राज़,1,शारदा नरेन्द्र मेहता,1,शालिनी तिवारी,8,शालिनी मुखरैया,6,शिक्षक दिवस,6,शिवकुमार कश्यप,1,शिवप्रसाद कमल,1,शिवरात्रि,1,शिवेन्‍द्र प्रताप त्रिपाठी,1,शीला नरेन्द्र त्रिवेदी,1,शुभम श्री,1,शुभ्रता मिश्रा,1,शेखर मलिक,1,शेषनाथ प्रसाद,1,शैलेन्द्र सरस्वती,3,शैलेश त्रिपाठी,2,शौचालय,1,श्याम गुप्त,3,श्याम सखा श्याम,1,श्याम सुशील,2,श्रीनाथ सिंह,6,श्रीमती तारा सिंह,2,श्रीमद्भगवद्गीता,1,श्रृंगी,1,श्वेता अरोड़ा,1,संजय दुबे,4,संजय सक्सेना,1,संजीव,1,संजीव ठाकुर,2,संद मदर टेरेसा,1,संदीप तोमर,1,संपादकीय,3,संस्मरण,730,संस्मरण लेखन पुरस्कार 2018,128,सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन,1,सतीश कुमार त्रिपाठी,2,सपना महेश,1,सपना मांगलिक,1,समीक्षा,847,सरिता पन्थी,1,सविता मिश्रा,1,साइबर अपराध,1,साइबर क्राइम,1,साक्षात्कार,21,सागर यादव जख्मी,1,सार्थक देवांगन,2,सालिम मियाँ,1,साहित्य समाचार,98,साहित्यम्,6,साहित्यिक गतिविधियाँ,216,साहित्यिक बगिया,1,सिंहासन बत्तीसी,1,सिद्धार्थ जगन्नाथ जोशी,1,सी.बी.श्रीवास्तव विदग्ध,1,सीताराम गुप्ता,1,सीताराम साहू,1,सीमा असीम सक्सेना,1,सीमा शाहजी,1,सुगन आहूजा,1,सुचिंता कुमारी,1,सुधा गुप्ता अमृता,1,सुधा गोयल नवीन,1,सुधेंदु पटेल,1,सुनीता काम्बोज,1,सुनील जाधव,1,सुभाष चंदर,1,सुभाष चन्द्र कुशवाहा,1,सुभाष नीरव,1,सुभाष लखोटिया,1,सुमन,1,सुमन गौड़,1,सुरभि बेहेरा,1,सुरेन्द्र चौधरी,1,सुरेन्द्र वर्मा,62,सुरेश चन्द्र,1,सुरेश चन्द्र दास,1,सुविचार,1,सुशांत सुप्रिय,4,सुशील कुमार शर्मा,24,सुशील यादव,6,सुशील शर्मा,16,सुषमा गुप्ता,20,सुषमा श्रीवास्तव,2,सूरज प्रकाश,1,सूर्य बाला,1,सूर्यकांत मिश्रा,14,सूर्यकुमार पांडेय,2,सेल्फी,1,सौमित्र,1,सौरभ मालवीय,4,स्नेहमयी चौधरी,1,स्वच्छ भारत,1,स्वतंत्रता दिवस,3,स्वराज सेनानी,1,हबीब तनवीर,1,हरि भटनागर,6,हरि हिमथाणी,1,हरिकांत जेठवाणी,1,हरिवंश राय बच्चन,1,हरिशंकर गजानंद प्रसाद देवांगन,4,हरिशंकर परसाई,23,हरीश कुमार,1,हरीश गोयल,1,हरीश नवल,1,हरीश भादानी,1,हरीश सम्यक,2,हरे प्रकाश उपाध्याय,1,हाइकु,5,हाइगा,1,हास-परिहास,38,हास्य,59,हास्य-व्यंग्य,78,हिंदी दिवस विशेष,9,हुस्न तबस्सुम 'निहाँ',1,biography,1,dohe,3,hindi divas,6,hindi sahitya,1,indian art,1,kavita,3,review,1,satire,1,shatak,3,tevari,3,undefined,1,
ltr
item
रचनाकार: भूपेन हजारिका की जीवनी : दिल हूम हूम करे (5)
भूपेन हजारिका की जीवनी : दिल हूम हूम करे (5)
रचनाकार
https://www.rachanakar.org/2008/04/5.html
https://www.rachanakar.org/
https://www.rachanakar.org/
https://www.rachanakar.org/2008/04/5.html
true
15182217
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy Table of Content