---प्रायोजक---

---***---

नीचे टैक्स्ट बॉक्स से रचनाएँ अथवा रचनाकार खोजें -
 नाका संपर्क : rachanakar@gmail.com अधिक जानकारी यहाँ [लिंक] देखें.

यशवन्त कोठारी का हास्य-व्यंग्य : प्रियतम प्रदर्शन प्रतियोगिता

साझा करें:

मोहल्ले की महिलाओं ने अपने फालतू समय को काटने के लिए एक पत्नी इनर व्हील क्लब बना रखा है। इस व्हील में वे पैसा अपने पतियों का ही फूंकती ...

yashwant kothari new (Mobile)

मोहल्ले की महिलाओं ने अपने फालतू समय को काटने के लिए एक पत्नी इनर व्हील क्लब बना रखा है। इस व्हील में वे पैसा अपने पतियों का ही फूंकती थी। यह क्लब अक्सर किसी न किसी प्रकार की प्रदर्शनी का आयोजन करता रहता था।

पापड़ प्रदर्शनी, मंगोड़ी प्रदर्शनी, साड़ी प्रदर्शनी और कुछ नहीं हुआ तो नई ड्रेस पहनकर उसका प्रदर्शन कर देना। अक्सर ये महिलाएं किसी न किसी विषय पर प्रदर्शन करती ही रहती थी। धीरे-धीरे हुआ यों कि पत्नियों के पास प्रदर्शनी के विषय का अभाव हो गया। कुछ समय तक इनर व्हील क्लब ने अपने-अपने आभूषणों, ऐश्वर्य तथा मायके के गुणगान की प्रतियोगिताएं आयोजित कीं। मगर इन सब से क्लब का काम कब तक चलता।

फलतः इनर व्हील क्लब में अगली प्रदर्शनी के विषय हेतु गम्भीर विचार प्रारम्भ हुआ। इनर व्हील क्लब में नेता पत्नी थी, अफसर पत्नी, सेठानी थी और समाज सेविकाएं थी। सभी अपने आपको बुद्धिमान और तेज, स्मार्ट और सुन्दर समझती थीं। जब कभी भी कोई समस्या आती थी तो सब मिल कर कोई न कोई हल निकाल लेती थीं, मगर इस बार होली के अवसर पर किस विषय की प्रदर्शनी लगायी जाये। इस समस्या का कोई हल नजर नहीं आ रहा था।

ऐसा विकट प्रश्न ! लगा अब इनर व्हील क्लब का भविष्य खतरे में है। आखिर क्लब की सदस्याओं ने अपने पतियों से प्रदर्शनी के विषय पूछने का तय किया।

अजी सुनते हो। बड़े लेखक की दुम बने फिरते हो। तुम्हें मेरी कसम, बस एक प्लॉट मेरे क्लब के लिए बता दो।

कौन सा प्लॉट भाई।

बस इतना बता दो कि अगली होली पर प्रदर्शनी किस विषय की आयोजित की जाये।

अब इस विषय में मैं तुम्हारी क्या मदद कर सकता हूँ ?

क्यों नहीं कर सकते। मगर कोई मदद करना चाहे तब ना।

तो फिर ऐसा करो तुम मेरी प्रदर्शनी आयोजित कर दो। लेखक पति ने जल-भुन कर जवाब दिया।

यु आर ए जीनियस। क्लब सदस्या चहकी और साड़ी बदल कर क्लब कार्यालय में जा पहुंची।

मोटी सेठानी का घर ही क्लब का स्थाई कार्यालय था। क्योंकि सेठजी दुकान पर रहते थे और चाय नाश्ता मुफ्त में मिल जाता था। सभी सदस्याएं वहीं एकत्रित हुई। लेखक पत्नी ने अपनी लाख टके की बात कही-क्यों न हम इस होली पर पतियों की प्रदर्शनी का आयोजन करें। हम सबके पास एक एक अदद पति है। उसे झाड़ पोंछ कर तैयार करके प्रदर्शनी में सजा देंगे। किसी मंत्री से उद्घाटन करवा देंगे और अखबारों में रिपोर्ट छपवा देंगे।

वाह क्या शानदार आईडिया है। मगर क्या हमारे पति तैयार होंगे ? एक ने शंका जताई।

क्या बात करती हो यार तुम भी। यदि तुम अपने पति को तैयार नहीं कर सकती तो क्या कर सकती हो ?

कोई भी यह स्वीकार करने को तैयार नहीं थी कि वे अपने पतियों को तैयार नहीं कर सकती। अतः सर्वसम्मति से यह तय हुआ कि इस होली पर प्रियतम प्रदर्शनी प्रतियोगिता की जायेगी। सभी बहनें घर जायें और तैयार करें। श्रेष्ठ तीन प्रियतमों को पुरस्कृत करने का भी निर्णय लिया गया। चाय-नाश्ते के बाद इनर व्हील क्लब की सदस्याएं घर आ गयी।

सभी महिलाओं ने घर आकर अपने-अपने प्रियतमों को यह शुभ सूचना दी कि आगामी होली पर इनर व्हील क्लब पतियों की प्रदर्शनी करेगी। और उन्हें इसे प्रतियोगिता में भाग लेना है। कुछ पतियों ने आनाकानी की। मगर पत्नियों के आगे किसकी चलती है ? अर्थात् किसी की नहीं चलती है।

निश्चित दिवस याने होली के एक दिन पहले प्रत्येक पत्नी ने अपने-अपने पति को नहलाया, धुलाया, शेव कराई, क्रीम पाउडर लगाया, काजल टीका कंघा चोटी की। खूब आवभगत से खाना खिलाया। शानदार सूट पहनने को दिया इत्र फुलेल लगाया और प्रदर्शनी स्थल पर बलि के बकरे की तरह ले आयी।

प्रदर्शनी स्थल पर 1 से 20 तक नम्बर लगा दिये गये। प्रत्येक नम्बर पर एक पति महोदय, चुपचाप विराजमान हो गये। क्लब की सदस्याओं ने एक दिन पहले ही अखबारों में विज्ञापन दे दिये थे। जबरदस्त भीड़ थी। प्रेस और फोटोग्राफर भी थे। एक स्वतन्त्र टी.वी. कैमरा टीम भी इस अवसर पर मौजूद थी। उद्घाटन समारोह हेतु मंत्री को कहा गया। मगर वे दौरे पर निकल गये। एक अफसर पति उद्घाटन करने आये, मगर क्लब की सदस्याओं ने उन्हें 21 वें नम्बर पर प्रदर्शित कर दिया। अन्त में क्लब की अध्यक्षा सेठानी जी ने उद्घाटन भाषण दिया।

भाषण में उन्होंने पूरे देश में इस प्रकार के प्रदर्शन के लिए सरकार से अनुदान देने की मांग की। स्वायत्तता का ऐसा नमूना देख कर टी.वी. कैमरामैन भाग गया।

इतने सारे पतियों को अनुशासित व्यवस्थित प्रदर्शित होत देख कर पत्नियां बहुत खुश थीं। बस उन्हें एक ही चिन्ता खाये जा रही थी कि कहीं प्रदर्शनी में देखने आई, कोई स्मार्ट महिला उसके पति पर डोरे न डाल दे। उद्घाटन भाषण के बाद प्रदर्शनी को आम जनता के लिए खोल दिया गया। हर पति के पास उसकी पत्नी दर्शकों के प्रश्नों का जवाब देने के लिए उपलब्ध थी। एक मोटे पति को देखकर एक दर्शक ने कहा ये आलू किसका है जी ?

ये आलू नहीं, मेरे पति हैं भाई साहब ।

भाई साहब शब्द सुनकर वह दर्शक भाग गया। एक गंजे पति को देखकर एक महिला दर्शक ने उसकी पत्नी से पूछा -

आप इनके बालों के लिए कौन सा तेल खरीदती है। महिला ने अपने पति को प्यार से देखा और कहा-

छछुन्दर का जी।

एक अन्य पति को देखकर एक दर्शक ने पूछा-क्या ये शुरू से ही इतने ही सीधे-सादे हैं ?

नहीं जी, शुरू में तो आतंकवादी थे, मगर मेरे कब्जे में आने के बाद ठीक हो गये। उसकी पत्नी ने गर्व से जवाब दिया।

अच्छा इस पति नं. 12 की क्या विशेषता है ? एक महिला ने पूछा।

पति नं.12 की पत्नी ने जवाब दिया। ये लेखक पति हैं जी। और सबसे बड़ा आराम ये है कि इन्हें अनुशासन का दौरा पड़ता है वैसे पलायनवादी हैं।

हूं।

और ये जो पति नं. 16 से 21 हैं इनकी पत्नियाँ कहाँ हैं।

इन सभी की एक ही पत्नी है जो फिल्मों की शूटिंग में व्यस्त है। जवाब आया।

प्रतियोगिता के अंत में पति नम्बर 3,12 व 21 को क्रमशः प्रथम, द्वितीय और तृतीय घोषित किया गया और प्रतियोगिता समाप्त हुई। आप भी अपने शहर में ऐसे आयोजन करें और उद्घाटन हेतु खाकसार को अवसर दें।

 

0 0 0

 

यशवन्त कोठारी 86, लक्ष्मी नगर,, ब्रह्मपुरी बाहर,,जयपुर-302002 फोनः-2670596

ykkothari3@yahoo.com

टिप्पणियाँ

ब्लॉगर: 4
  1. निश्चित दिवस याने होली के एक दिन पहले प्रत्येक पत्नी ने अपने-अपने पति को नहलाया, धुलाया, शेव कराई, क्रीम पाउडर लगाया, काजल टीका कंघा चोटी की। खूब आवभगत से खाना खिलाया। शानदार सूट पहनने को दिया इत्र फुलेल लगाया और प्रदर्शनी स्थल पर बलि के बकरे की तरह ले आयी।
    क्‍या खूब लिखा !!

    जवाब देंहटाएं
  2. yashvant jee ab aap steel helmet pahin kar nikalen, aapake is vyang par kuch naariyon ne naarajee jataaee hai aur ve gusse men hain, aapato jaanate hee hain agar unake haath belan aa jaaye to himaalay kee unchaaiyon ko chhukar sir kee maru bhoomi par gir jaae to kyaa hoga ! jara sanmhal kar rahiye ! bahut majedaar byang hai ! With regards. harendra

    जवाब देंहटाएं
  3. हिंदी ब्लॉग्गिंग ने मेरे विचारों को और मेरे बहुत से साथियों के विचारों को पर लगा दिए हैं . धन्यवाद् ब्लागस्पाट एंड गूगल

    जवाब देंहटाएं
रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---प्रायोजक---

---***---

---प्रायोजक---

---***---

|नई रचनाएँ_$type=list$au=0$label=1$count=5$page=1$com=0$va=0$rm=1$h=100

प्रायोजक

--***--

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

~ विधा/विषय पर क्लिक/टच कर पढ़ें : ~

|* कहानी * |

| * उपन्यास *|

| * हास्य-व्यंग्य * |

| * कविता  *|

| * आलेख * |

| * लोककथा * |

| * लघुकथा * |

| * ग़ज़ल  *|

| * संस्मरण * |

| * साहित्य समाचार * |

| * कला जगत  *|

| * पाक कला * |

| * हास-परिहास * |

| * नाटक * |

| * बाल कथा * |

| * विज्ञान कथा * |

* समीक्षा * |

---***---



---प्रायोजक---

---***---

|आपको ये रचनाएँ भी पसंद आएंगी-_$type=three$count=6$src=random$page=1$va=0$au=0$h=110$d=0

प्रायोजक

----****----

नाम

 आलेख ,1, कविता ,1, कहानी ,1, व्यंग्य ,1,14 सितम्बर,7,14 september,6,15 अगस्त,4,2 अक्टूबर अक्तूबर,1,अंजनी श्रीवास्तव,1,अंजली काजल,1,अंजली देशपांडे,1,अंबिकादत्त व्यास,1,अखिलेश कुमार भारती,1,अखिलेश सोनी,1,अग्रसेन,1,अजय अरूण,1,अजय वर्मा,1,अजित वडनेरकर,1,अजीत प्रियदर्शी,1,अजीत भारती,1,अनंत वडघणे,1,अनन्त आलोक,1,अनमोल विचार,1,अनामिका,3,अनामी शरण बबल,1,अनिमेष कुमार गुप्ता,1,अनिल कुमार पारा,1,अनिल जनविजय,1,अनुज कुमार आचार्य,5,अनुज कुमार आचार्य बैजनाथ,1,अनुज खरे,1,अनुपम मिश्र,1,अनूप शुक्ल,14,अपर्णा शर्मा,6,अभिमन्यु,1,अभिषेक ओझा,1,अभिषेक कुमार अम्बर,1,अभिषेक मिश्र,1,अमरपाल सिंह आयुष्कर,2,अमरलाल हिंगोराणी,1,अमित शर्मा,3,अमित शुक्ल,1,अमिय बिन्दु,1,अमृता प्रीतम,1,अरविन्द कुमार खेड़े,5,अरूण देव,1,अरूण माहेश्वरी,1,अर्चना चतुर्वेदी,1,अर्चना वर्मा,2,अर्जुन सिंह नेगी,1,अविनाश त्रिपाठी,1,अशोक गौतम,3,अशोक जैन पोरवाल,14,अशोक शुक्ल,1,अश्विनी कुमार आलोक,1,आई बी अरोड़ा,1,आकांक्षा यादव,1,आचार्य बलवन्त,1,आचार्य शिवपूजन सहाय,1,आजादी,3,आदित्य प्रचंडिया,1,आनंद टहलरामाणी,1,आनन्द किरण,3,आर. के. नारायण,1,आरकॉम,1,आरती,1,आरिफा एविस,5,आलेख,4039,आलोक कुमार,2,आलोक कुमार सातपुते,1,आवश्यक सूचना!,1,आशीष कुमार त्रिवेदी,5,आशीष श्रीवास्तव,1,आशुतोष,1,आशुतोष शुक्ल,1,इंदु संचेतना,1,इन्दिरा वासवाणी,1,इन्द्रमणि उपाध्याय,1,इन्द्रेश कुमार,1,इलाहाबाद,2,ई-बुक,338,ईबुक,193,ईश्वरचन्द्र,1,उपन्यास,262,उपासना,1,उपासना बेहार,5,उमाशंकर सिंह परमार,1,उमेश चन्द्र सिरसवारी,2,उमेशचन्द्र सिरसवारी,1,उषा छाबड़ा,1,उषा रानी,1,ऋतुराज सिंह कौल,1,ऋषभचरण जैन,1,एम. एम. चन्द्रा,17,एस. एम. चन्द्रा,2,कथासरित्सागर,1,कर्ण,1,कला जगत,112,कलावंती सिंह,1,कल्पना कुलश्रेष्ठ,11,कवि,2,कविता,3001,कहानी,2254,कहानी संग्रह,245,काजल कुमार,7,कान्हा,1,कामिनी कामायनी,5,कार्टून,7,काशीनाथ सिंह,2,किताबी कोना,7,किरन सिंह,1,किशोरी लाल गोस्वामी,1,कुंवर प्रेमिल,1,कुबेर,7,कुमार करन मस्ताना,1,कुसुमलता सिंह,1,कृश्न चन्दर,6,कृष्ण,3,कृष्ण कुमार यादव,1,कृष्ण खटवाणी,1,कृष्ण जन्माष्टमी,5,के. पी. सक्सेना,1,केदारनाथ सिंह,1,कैलाश मंडलोई,3,कैलाश वानखेड़े,1,कैशलेस,1,कैस जौनपुरी,3,क़ैस जौनपुरी,1,कौशल किशोर श्रीवास्तव,1,खिमन मूलाणी,1,गंगा प्रसाद श्रीवास्तव,1,गंगाप्रसाद शर्मा गुणशेखर,1,ग़ज़लें,541,गजानंद प्रसाद देवांगन,2,गजेन्द्र नामदेव,1,गणि राजेन्द्र विजय,1,गणेश चतुर्थी,1,गणेश सिंह,4,गांधी जयंती,1,गिरधारी राम,4,गीत,3,गीता दुबे,1,गीता सिंह,1,गुंजन शर्मा,1,गुडविन मसीह,2,गुनो सामताणी,1,गुरदयाल सिंह,1,गोरख प्रभाकर काकडे,1,गोवर्धन यादव,1,गोविन्द वल्लभ पंत,1,गोविन्द सेन,5,चंद्रकला त्रिपाठी,1,चंद्रलेखा,1,चतुष्पदी,1,चन्द्रकिशोर जायसवाल,1,चन्द्रकुमार जैन,6,चाँद पत्रिका,1,चिकित्सा शिविर,1,चुटकुला,71,ज़कीया ज़ुबैरी,1,जगदीप सिंह दाँगी,1,जयचन्द प्रजापति कक्कूजी,2,जयश्री जाजू,4,जयश्री राय,1,जया जादवानी,1,जवाहरलाल कौल,1,जसबीर चावला,1,जावेद अनीस,8,जीवंत प्रसारण,130,जीवनी,1,जीशान हैदर जैदी,1,जुगलबंदी,5,जुनैद अंसारी,1,जैक लंडन,1,ज्ञान चतुर्वेदी,2,ज्योति अग्रवाल,1,टेकचंद,1,ठाकुर प्रसाद सिंह,1,तकनीक,31,तक्षक,1,तनूजा चौधरी,1,तरुण भटनागर,1,तरूण कु सोनी तन्वीर,1,ताराशंकर बंद्योपाध्याय,1,तीर्थ चांदवाणी,1,तुलसीराम,1,तेजेन्द्र शर्मा,2,तेवर,1,तेवरी,8,त्रिलोचन,8,दामोदर दत्त दीक्षित,1,दिनेश बैस,6,दिलबाग सिंह विर्क,1,दिलीप भाटिया,1,दिविक रमेश,1,दीपक आचार्य,48,दुर्गाष्टमी,1,देवी नागरानी,20,देवेन्द्र कुमार मिश्रा,2,देवेन्द्र पाठक महरूम,1,दोहे,1,धर्मेन्द्र निर्मल,2,धर्मेन्द्र राजमंगल,2,नइमत गुलची,1,नजीर नज़ीर अकबराबादी,1,नन्दलाल भारती,2,नरेंद्र शुक्ल,2,नरेन्द्र कुमार आर्य,1,नरेन्द्र कोहली,2,नरेन्‍द्रकुमार मेहता,9,नलिनी मिश्र,1,नवदुर्गा,1,नवरात्रि,1,नागार्जुन,1,नाटक,96,नामवर सिंह,1,निबंध,3,नियम,1,निर्मल गुप्ता,2,नीतू सुदीप्ति ‘नित्या’,1,नीरज खरे,1,नीलम महेंद्र,1,नीला प्रसाद,1,पंकज प्रखर,4,पंकज मित्र,2,पंकज शुक्ला,1,पंकज सुबीर,3,परसाई,1,परसाईं,1,परिहास,4,पल्लव,1,पल्लवी त्रिवेदी,2,पवन तिवारी,2,पाक कला,23,पाठकीय,62,पालगुम्मि पद्मराजू,1,पुनर्वसु जोशी,9,पूजा उपाध्याय,2,पोपटी हीरानंदाणी,1,पौराणिक,1,प्रज्ञा,1,प्रताप सहगल,1,प्रतिभा,1,प्रतिभा सक्सेना,1,प्रदीप कुमार,1,प्रदीप कुमार दाश दीपक,1,प्रदीप कुमार साह,11,प्रदोष मिश्र,1,प्रभात दुबे,1,प्रभु चौधरी,2,प्रमिला भारती,1,प्रमोद कुमार तिवारी,1,प्रमोद भार्गव,2,प्रमोद यादव,14,प्रवीण कुमार झा,1,प्रांजल धर,1,प्राची,367,प्रियंवद,2,प्रियदर्शन,1,प्रेम कहानी,1,प्रेम दिवस,2,प्रेम मंगल,1,फिक्र तौंसवी,1,फ्लेनरी ऑक्नर,1,बंग महिला,1,बंसी खूबचंदाणी,1,बकर पुराण,1,बजरंग बिहारी तिवारी,1,बरसाने लाल चतुर्वेदी,1,बलबीर दत्त,1,बलराज सिंह सिद्धू,1,बलूची,1,बसंत त्रिपाठी,2,बातचीत,1,बाल कथा,345,बाल कलम,25,बाल दिवस,4,बालकथा,67,बालकृष्ण भट्ट,1,बालगीत,16,बृज मोहन,2,बृजेन्द्र श्रीवास्तव उत्कर्ष,1,बेढब बनारसी,1,बैचलर्स किचन,1,बॉब डिलेन,1,भरत त्रिवेदी,1,भागवत रावत,1,भारत कालरा,1,भारत भूषण अग्रवाल,1,भारत यायावर,2,भावना राय,1,भावना शुक्ल,5,भीष्म साहनी,1,भूतनाथ,1,भूपेन्द्र कुमार दवे,1,मंजरी शुक्ला,2,मंजीत ठाकुर,1,मंजूर एहतेशाम,1,मंतव्य,1,मथुरा प्रसाद नवीन,1,मदन सोनी,1,मधु त्रिवेदी,2,मधु संधु,1,मधुर नज्मी,1,मधुरा प्रसाद नवीन,1,मधुरिमा प्रसाद,1,मधुरेश,1,मनीष कुमार सिंह,4,मनोज कुमार,6,मनोज कुमार झा,5,मनोज कुमार पांडेय,1,मनोज कुमार श्रीवास्तव,2,मनोज दास,1,ममता सिंह,2,मयंक चतुर्वेदी,1,महापर्व छठ,1,महाभारत,2,महावीर प्रसाद द्विवेदी,1,महाशिवरात्रि,1,महेंद्र भटनागर,3,महेन्द्र देवांगन माटी,1,महेश कटारे,1,महेश कुमार गोंड हीवेट,2,महेश सिंह,2,महेश हीवेट,1,मानसून,1,मार्कण्डेय,1,मिलन चौरसिया मिलन,1,मिलान कुन्देरा,1,मिशेल फूको,8,मिश्रीमल जैन तरंगित,1,मीनू पामर,2,मुकेश वर्मा,1,मुक्तिबोध,1,मुर्दहिया,1,मृदुला गर्ग,1,मेराज फैज़ाबादी,1,मैक्सिम गोर्की,1,मैथिली शरण गुप्त,1,मोतीलाल जोतवाणी,1,मोहन कल्पना,1,मोहन वर्मा,1,यशवंत कोठारी,8,यशोधरा विरोदय,2,यात्रा संस्मरण,28,योग,3,योग दिवस,3,योगासन,2,योगेन्द्र प्रताप मौर्य,1,योगेश अग्रवाल,2,रक्षा बंधन,1,रच,1,रचना समय,72,रजनीश कांत,2,रत्ना राय,1,रमेश उपाध्याय,1,रमेश राज,26,रमेशराज,8,रवि रतलामी,2,रवींद्र नाथ ठाकुर,1,रवीन्द्र अग्निहोत्री,4,रवीन्द्र नाथ त्यागी,1,रवीन्द्र संगीत,1,रवीन्द्र सहाय वर्मा,1,रसोई,1,रांगेय राघव,1,राकेश अचल,3,राकेश दुबे,1,राकेश बिहारी,1,राकेश भ्रमर,5,राकेश मिश्र,2,राजकुमार कुम्भज,1,राजन कुमार,2,राजशेखर चौबे,6,राजीव रंजन उपाध्याय,11,राजेन्द्र कुमार,1,राजेन्द्र विजय,1,राजेश कुमार,1,राजेश गोसाईं,2,राजेश जोशी,1,राधा कृष्ण,1,राधाकृष्ण,1,राधेश्याम द्विवेदी,5,राम कृष्ण खुराना,6,राम शिव मूर्ति यादव,1,रामचंद्र शुक्ल,1,रामचन्द्र शुक्ल,1,रामचरन गुप्त,5,रामवृक्ष सिंह,10,रावण,1,राहुल कुमार,1,राहुल सिंह,1,रिंकी मिश्रा,1,रिचर्ड फाइनमेन,1,रिलायंस इन्फोकाम,1,रीटा शहाणी,1,रेंसमवेयर,1,रेणु कुमारी,1,रेवती रमण शर्मा,1,रोहित रुसिया,1,लक्ष्मी यादव,6,लक्ष्मीकांत मुकुल,2,लक्ष्मीकांत वैष्णव,1,लखमी खिलाणी,1,लघु कथा,242,लघुकथा,1248,लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन,241,लतीफ घोंघी,1,ललित ग,1,ललित गर्ग,13,ललित निबंध,18,ललित साहू जख्मी,1,ललिता भाटिया,2,लाल पुष्प,1,लावण्या दीपक शाह,1,लीलाधर मंडलोई,1,लू सुन,1,लूट,1,लोक,1,लोककथा,326,लोकतंत्र का दर्द,1,लोकमित्र,1,लोकेन्द्र सिंह,3,विकास कुमार,1,विजय केसरी,1,विजय शिंदे,1,विज्ञान कथा,68,विद्यानंद कुमार,1,विनय भारत,1,विनीत कुमार,2,विनीता शुक्ला,3,विनोद कुमार दवे,4,विनोद तिवारी,1,विनोद मल्ल,1,विभा खरे,1,विमल चन्द्राकर,1,विमल सिंह,1,विरल पटेल,1,विविध,1,विविधा,1,विवेक प्रियदर्शी,1,विवेक रंजन श्रीवास्तव,5,विवेक सक्सेना,1,विवेकानंद,1,विवेकानन्द,1,विश्वंभर नाथ शर्मा कौशिक,2,विश्वनाथ प्रसाद तिवारी,1,विष्णु नागर,1,विष्णु प्रभाकर,1,वीणा भाटिया,15,वीरेन्द्र सरल,10,वेणीशंकर पटेल ब्रज,1,वेलेंटाइन,3,वेलेंटाइन डे,2,वैभव सिंह,1,व्यंग्य,2005,व्यंग्य के बहाने,2,व्यंग्य जुगलबंदी,17,व्यथित हृदय,2,शंकर पाटील,1,शगुन अग्रवाल,1,शबनम शर्मा,7,शब्द संधान,17,शम्भूनाथ,1,शरद कोकास,2,शशांक मिश्र भारती,8,शशिकांत सिंह,12,शहीद भगतसिंह,1,शामिख़ फ़राज़,1,शारदा नरेन्द्र मेहता,1,शालिनी तिवारी,8,शालिनी मुखरैया,6,शिक्षक दिवस,6,शिवकुमार कश्यप,1,शिवप्रसाद कमल,1,शिवरात्रि,1,शिवेन्‍द्र प्रताप त्रिपाठी,1,शीला नरेन्द्र त्रिवेदी,1,शुभम श्री,1,शुभ्रता मिश्रा,1,शेखर मलिक,1,शेषनाथ प्रसाद,1,शैलेन्द्र सरस्वती,3,शैलेश त्रिपाठी,2,शौचालय,1,श्याम गुप्त,3,श्याम सखा श्याम,1,श्याम सुशील,2,श्रीनाथ सिंह,6,श्रीमती तारा सिंह,2,श्रीमद्भगवद्गीता,1,श्रृंगी,1,श्वेता अरोड़ा,1,संजय दुबे,4,संजय सक्सेना,1,संजीव,1,संजीव ठाकुर,2,संद मदर टेरेसा,1,संदीप तोमर,1,संपादकीय,3,संस्मरण,709,संस्मरण लेखन पुरस्कार 2018,128,सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन,1,सतीश कुमार त्रिपाठी,2,सपना महेश,1,सपना मांगलिक,1,समीक्षा,793,सरिता पन्थी,1,सविता मिश्रा,1,साइबर अपराध,1,साइबर क्राइम,1,साक्षात्कार,17,सागर यादव जख्मी,1,सार्थक देवांगन,2,सालिम मियाँ,1,साहित्य समाचार,83,साहित्यम्,6,साहित्यिक गतिविधियाँ,204,साहित्यिक बगिया,1,सिंहासन बत्तीसी,1,सिद्धार्थ जगन्नाथ जोशी,1,सी.बी.श्रीवास्तव विदग्ध,1,सीताराम गुप्ता,1,सीताराम साहू,1,सीमा असीम सक्सेना,1,सीमा शाहजी,1,सुगन आहूजा,1,सुचिंता कुमारी,1,सुधा गुप्ता अमृता,1,सुधा गोयल नवीन,1,सुधेंदु पटेल,1,सुनीता काम्बोज,1,सुनील जाधव,1,सुभाष चंदर,1,सुभाष चन्द्र कुशवाहा,1,सुभाष नीरव,1,सुभाष लखोटिया,1,सुमन,1,सुमन गौड़,1,सुरभि बेहेरा,1,सुरेन्द्र चौधरी,1,सुरेन्द्र वर्मा,62,सुरेश चन्द्र,1,सुरेश चन्द्र दास,1,सुविचार,1,सुशांत सुप्रिय,4,सुशील कुमार शर्मा,24,सुशील यादव,6,सुशील शर्मा,16,सुषमा गुप्ता,20,सुषमा श्रीवास्तव,2,सूरज प्रकाश,1,सूर्य बाला,1,सूर्यकांत मिश्रा,14,सूर्यकुमार पांडेय,2,सेल्फी,1,सौमित्र,1,सौरभ मालवीय,4,स्नेहमयी चौधरी,1,स्वच्छ भारत,1,स्वतंत्रता दिवस,3,स्वराज सेनानी,1,हबीब तनवीर,1,हरि भटनागर,6,हरि हिमथाणी,1,हरिकांत जेठवाणी,1,हरिवंश राय बच्चन,1,हरिशंकर गजानंद प्रसाद देवांगन,4,हरिशंकर परसाई,23,हरीश कुमार,1,हरीश गोयल,1,हरीश नवल,1,हरीश भादानी,1,हरीश सम्यक,2,हरे प्रकाश उपाध्याय,1,हाइकु,5,हाइगा,1,हास-परिहास,38,हास्य,59,हास्य-व्यंग्य,77,हिंदी दिवस विशेष,9,हुस्न तबस्सुम 'निहाँ',1,biography,1,dohe,3,hindi divas,6,hindi sahitya,1,indian art,1,kavita,3,review,1,satire,1,shatak,3,tevari,3,undefined,1,
ltr
item
रचनाकार: यशवन्त कोठारी का हास्य-व्यंग्य : प्रियतम प्रदर्शन प्रतियोगिता
यशवन्त कोठारी का हास्य-व्यंग्य : प्रियतम प्रदर्शन प्रतियोगिता
http://lh5.ggpht.com/_t-eJZb6SGWU/TAfesYWwXAI/AAAAAAAAIF8/YJ8mwlfPsK4/yashwant%20kothari%20new%20%28Mobile%29_thumb%5B1%5D.jpg?imgmax=800
http://lh5.ggpht.com/_t-eJZb6SGWU/TAfesYWwXAI/AAAAAAAAIF8/YJ8mwlfPsK4/s72-c/yashwant%20kothari%20new%20%28Mobile%29_thumb%5B1%5D.jpg?imgmax=800
रचनाकार
https://www.rachanakar.org/2010/06/blog-post_9287.html
https://www.rachanakar.org/
https://www.rachanakar.org/
https://www.rachanakar.org/2010/06/blog-post_9287.html
true
15182217
UTF-8
सभी पोस्ट लोड किया गया कोई पोस्ट नहीं मिला सभी देखें आगे पढ़ें जवाब दें जवाब रद्द करें मिटाएँ द्वारा मुखपृष्ठ पृष्ठ पोस्ट सभी देखें आपके लिए और रचनाएँ विषय ग्रंथालय SEARCH सभी पोस्ट आपके निवेदन से संबंधित कोई पोस्ट नहीं मिला मुख पृष्ठ पर वापस रविवार सोमवार मंगलवार बुधवार गुरूवार शुक्रवार शनिवार रवि सो मं बु गु शु शनि जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई जून जुलाई अगस्त सितंबर अक्तूबर नवंबर दिसंबर जन फर मार्च अप्रैल मई जून जुला अग सितं अक्तू नवं दिसं अभी अभी 1 मिनट पहले $$1$$ minutes ago 1 घंटा पहले $$1$$ hours ago कल $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago 5 सप्ताह से भी पहले फॉलोअर फॉलो करें यह प्रीमियम सामग्री तालाबंद है STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network सभी कोड कॉपी करें सभी कोड चुनें सभी कोड आपके क्लिपबोर्ड में कॉपी हैं कोड / टैक्स्ट कॉपी नहीं किया जा सका. कॉपी करने के लिए [CTRL]+[C] (या Mac पर CMD+C ) कुंजियाँ दबाएँ