---प्रायोजक---

---***---

रु. 25,000+ के  नाका लघुकथा पुरस्कार हेतु लघुकथाएँ आमंत्रित हैं.

अधिक जानकारी के लिए यहाँ [लिंक] देखें. आयोजन में अब तक प्रकाशित लघुकथाएँ यहाँ [लिंक] पढ़ें.

नीचे टैक्स्ट बॉक्स से रचनाएँ अथवा रचनाकार खोजें -
 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें.

शिक्षा का गिरता स्तर जिम्मेदार कौन? / कैलाश मंडलोई

साझा करें:

शिक्षा क्या है? शिक्षा एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है। मनुष्य जन्म से मृत्यु पर्यंत इस प्रक्रिया से गुजरता हुआ कुछ न कुछ सीखता ही रहता है...

शिक्षा क्या है? शिक्षा एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है। मनुष्य जन्म से मृत्यु पर्यंत इस प्रक्रिया से गुजरता हुआ कुछ न कुछ सीखता ही रहता है। अगर हम शिक्षा की आज तक की गई तमाम परिभाषाओं को एक साथ रख दे और फिर कोई शिक्षा का अर्थ ढूंढे तो भी हमें कोई ऐसा अर्थ नहीं मिलेगा जो अपने आप में पूर्ण हो। वर्तमान में शिक्षा का अर्थ केवल स्कूली शिक्षा से लिया गया है।

वर्तमान में शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार को लेकर जो घमासान मचा है उस परिप्रेक्ष्य में आज गाँधी-नेहरू और के. टी. शाह के बीच हुई बहस का एक संस्मरण कौंध गया जिसे लिखना आज की शिक्षा के संदर्भ में जरूरी है।

स्वतंत्रता के पूर्व जब जवाहर लाल नेहरूजी देश की भावी शिक्षा नीति का मसौदा तैयार कर रहे थे तो गाँधीजी ने के. टी. शाह से पूछा कि आप भावी भारत की शिक्षा कैसी चाहते है? इस पर के. टी. शाह ने उत्तर दिया कि हम ऐसी शिक्षा चाहते है जिसमें किसी कक्षा में अगर मैं यह सवाल करूँ कि मैंने चार आने के दो सेब खरीदे और उन्हें एक रुपये में बेच दूँ तो मुझे क्या मिलेगा? तो सारी कक्षा एक स्वर में जवाब दे आपको जेल मिलेगी, दो वर्ष का कठोर कारावास मिलेगा। यह उदाहरण हमें यह बताता है कि हमने स्वतंत्रता के पूर्व शिक्षा की किस नैतिकता की अपेक्षा की थी?

किंतु आज शिक्षा शब्द ने अपने अंदर का अर्थ इस कदर खो दिया है कि आज न उसके अंदर का संस्कार जिंदा है और न व्यवहार। शिक्षा अपने समूचे स्वरूप में अराजकता, अव्यवस्था, अनैतिकता और कल्पना हीनता का पर्याय बन गई है। शिक्षा के जरिये अब न आचरण आ रहा न चरित्र, न मानवीय मूल्य, न नागरिक संस्कार, न राष्ट्रीय दायित्व एवं कर्तव्य बोध और न ही अधिकारों के प्रति चेतना। आज प्रत्येक वर्ग में शिक्षा के गिरते स्तर को लेकर चिंता जताई जा रही है। शिक्षा के गिरते स्तर पर लंबी-लंबी बहसे होती है। और अंत में उसके लिए शिक्षक को दोषी करार दिया जाता है। जो शिक्षक स्वयं उस शिक्षा का उत्पादन है और जहाँ तक संभव हो रहा है मूल्यों, आदर्शों व सामाजिक उत्तर दायित्व के बोध को छात्रों में बनाये रखने का प्रयत्न कर रहा है, तमाम राजनीतिक दबावों के बावजूद। आज बच्चों को पढ़ाने-लिखाने के साथ-साथ जनगणना, आर्थिक गणना, बालगणना, पशुगणना, पल्स पोलियो से लेकर मतदाता सूची तैयार करना, मतगणना करना और चुनाव ड्यूटी तक तमाम राष्ट्रीय कार्यक्रमों को पूरी कुशलता से करने वाला शिक्षक इतना अकर्मण्य और अयोग्य कैसे हो सकता है? हालांकि इसके लिए काफी हद तक यह बात भी सही है कि स्कूलों में शिक्षक पढ़ाते नहीं है। शिक्षक वक्त पर पहुँचते नहीं है। शिक्षक वैसा शिक्षण नहीं करते जो गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा की श्रेणी में आता है। आये दिन किसी मुद्दे को लेकर हड़ताल पर चले जाना और स्कूलों की छुट्टी हो जाना आम हो गया है। शिक्षार्थी शिक्षा प्राप्त करने के लिए विद्यालय जाते है। लेकिन वहां शिक्षक ही नदारद रहते है। ऐसे में शिक्षा की गुणवत्ता पर प्रश्न लगना लाजिमी है।

लेकिन यह बात भी तो सही है कि बहुत से शिक्षक है जो ईमानदारी से पढ़ा रहे है। उनके बच्चों में शैक्षिक गुणवत्ता की दक्षताएं है। इसके लिए सभी शिक्षक दोषी कैसे? साथ ही अधिकांश सरकारी स्कूलों में आपको ऐसे बच्चे भी देखने को मिल जाएंगे कि एक ही कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों का शैक्षिक स्तर अलग-अलग है ऐसा क्यों है? यह भी एक विचारणीय बिंदु है।

उद्देश्यों और मूल्यों का सवाल आते ही कई लोग आदर्शवाद की धारा में बह जाते है। वे उन भौतिक परिस्थितियों को भूल जाते है जिनसे उद्देश्यों पर अमल किया जाना है, जिनमें मूल्यों को जीवन में उतारा जाना है। शिक्षा के गिरते स्तर के लिए शिक्षक दोषी है या यह शिक्षा व्यवस्था और उसको अपने हित में नियंत्रित निर्मित करने वाली आर्थिक राजनैतिक शक्तियाँ? गिरते स्तर के लिए उत्तर दायित्व निर्धारण हेतु शिक्षा से जुड़े घटकों यथा समाज, प्रशासन, शिक्षक पाठ्यक्रम स्वयं छात्र इत्यादि पर एक दृष्टि डालना उचित होगा।

शिक्षा के गिरते स्तर के कारण उसकी गुणवत्ता पर प्रश्न खड़ा होना लाजिमी है। लेकिन इस बात के जिम्मेदार कौन लोग है। इस ओर न तो राजनीतिक मंथन हो रहा ना ही सामाजिक चिंतन किया जा रहा है। बातें शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने की अकसर सुनने में आती है। किन्तु सुधार कहीं नजर नहीं आता “अभी कुछ दिनों से शिक्षा विभाग में बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार को लेकर संकुल स्तर से लेकर राज्य स्तर तक के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा एक नाटक खेला जा रहा है। जिसमें बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता की जाँच की जा रही है, टेस्ट ले रहे है। वह भी कैसे की जो स्कूलें 45 प्रतिशत उत्क्रष्ट घोषित है उन्हें आज शाम को उन स्कूलों के शिक्षकों को बेसलाइन टेस्ट हेतु पेपर दिये। जिसमें दो टेस्ट थे प्रथम टेस्ट और अंतिम टेस्ट। प्रत्येक टेस्ट में भाषा, गणित और अंग्रेजी की लगभग सभी मूलभूत दक्षताओं का टेस्ट लेना है। और कहा की कल प्रथम टेस्ट लेना व परसों अंतिम टेस्ट और आपको प्रथम टेस्ट के बाद अंतिम टेस्ट में बच्चे की गुणवत्ता में सुधार भी बताना है यह कैसे और कहाँ तक संभव है? यहाँ तक तो ठीक है लेकिन स्कूलों में शिक्षकों पर दबाव डाला जा रहा है कि उनकी स्कूल गुणवत्ता पूर्ण की श्रेणी में आ जाए। जिले, विकास खण्ड, संभाग और राज्य स्तर तक के शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारी स्कूलों में जा रहे है और निरीक्षण कर रहे है। अधिकारी गण शिक्षकों को फटकारनुमा समझाइश देते है कि गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लक्ष्य को हासिल करें। यह कैसी विडंबना है कि स्कूलों में शिक्षक पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा स्थापित करने का भारी दबाव तो है मगर उसे गुणवत्तोपूर्ण शिक्षा के लिए तैयार ही नहीं किया गया। उल्टे शिक्षकों को प्रतिमाह प्रशिक्षण के बहाने कक्षा शिक्षण से दूर करने की साजिश रची जा रही है। इस साजिश के तहत देश की भोली भाली जनता को यह बताने का प्रयास किया जा रहा है कि शासन को उनके बच्चों की खूब परवाह है। लेकिन उनके जो शिक्षक है वह सही तरीके से काम नहीं कर रहे है, जिसके कारण उनके बच्चे शैक्षिक गुणवत्ता में पिछड़ रहे है। सरकार की गलत शिक्षा नीतियों के जो दुष्परिणाम आज सामने आ रहे है उनमें सुधार करने कि बजाय इसका ठीकरा शिक्षकों के सिर फोड़ा जा रहा है जो कहाँ तक उचित है? सरकार दोष देने के बजाए शिक्षकों को क्षमतावान बनाएं” यह कहना है शैक्षिक कार्यकर्ता श्री कालूराम शर्माजी का।

आज इस बात पर भी गौर करना है कि जिन बच्चों की शिक्षा के बारे में सरकार गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा की बात कर रही है वे बच्चे किस तबके से आते है? उनकी सामाजिक, पारिवारिक, आर्थिक, शैक्षिक स्थिति के साथ स्वास्थ्य की स्थिति क्या है? क्या ये कारक इन बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता को प्रभावित कर रहे है? यदि हाँ तो फिर सरकार और उनके ये उच्च अधिकारी इस बारे में क्या सोचते है और क्या कर रहे है?

आज यह स्पष्ट हो चुका है कि सरकार की दोषपूर्ण शिक्षा नीति के साथ सरकारी विद्यालयों में बुनियादी सुविधाओं का भी अभाव है। वर्ष भर शासकीय शिक्षकों से कई प्रकार के गैर शैक्षिक कार्य लिए जा रहे है। जिससे वह अपने छात्रों को पूरा समय नहीं दे पाते और उनके छात्र पढ़ाई में पिछड़ जाते है। निजी विद्यालय बुनियादी सुविधाओं का उचित प्रबंध रखते हैं। श्री सतीश चन्द्रा के अनुसार “आज सरकारी और निजी विद्यालयों में फर्क बहुत साफ नजर आता है। दोनों की पढ़ाई के स्तर में जमीन आसमान का अन्तर है। इसकी एक वजह सरकारी विद्यालय के प्रधानाध्यापकों के पास अधिकारों का अभाव है। निजी विद्यालय के प्रधानाध्यापकों के पास असीमित अधिकार होते है।“ यह शिक्षा के निजी करण का नकारात्मक पहलू भी है। आज हालात यह है कि शहरों के साथ-साथ गांवों में भी जगह-जगह कुकुरमुत्तों की तरह प्राईवेट स्कूल खुल गए है। लोगों का अंग्रेजियत का मोह साथ ही साथ प्रतिस्पर्धात्मक दौड़ के कारण 70 से 80 प्रतिशत बच्चे प्राईवेट स्कूलों में दर्ज हो गए है।

सरकारी विद्यालय की शिक्षा की आलोचना दलित चिंतक चन्द्रभान प्रसाद भी करते है। वे कहते है, “आज गरीब से गरीब आदमी से बात कीजिए, चाहे वह रिक्शा चालक हो, रेहड़ी लगाता हो या दिहाड़ी मजदूरी करता हो। इनमें से कोई भी अपने बच्चे को सरकारी विद्यालय में नहीं पढ़ाना चाहता। सभी निजी विद्यालयों की ओर भाग रहे, वह भी अंग्रेजी माध्यम की ओर। सर्व शिक्षा अभियान योजना के माध्यम से स्कूल न जाने वाले बच्चों का रुझान स्कूलों की तरफ होना यह साबित करता है कि शिक्षा पाने के लिए हर कोई गंभीर है। लेकिन शासकीय व्यवस्था को देख कर लोगों का मोह भंग हो रहा है। जिससे पैसे वालों के बच्चे निजी स्कूलों मे पढ़ाई करते है। शिक्षा के निजीकरण ने समाज के उच्च वर्गो के स्वार्थ के लिए अमीरों और गरीबों के बीच विषमता को बढ़ाने का काम किया है। आज सरकारी स्कूल में समाज के सबसे पिछड़े वर्ग व अति गरीब वर्ग के बच्चे ही सरकारी शिक्षा का अभिशाप झेलने के लिए विवश है।

गौर करने वाली बात है कि जब हमारे देश में शिक्षा के बीच खाईं बनी हुई है। तो उससे शिक्षा की गुणवत्ता पर प्रश्न खड़ा होगा। एक तरफ सरकार शिक्षा में सुधार की योजनाएं बनाने में दिलचस्पी दिखाती है। तो दूसरी ओर योजनाओं के सही क्रियान्वयन की ओर कोई सकारात्मक पहल क्यों नहीं की जाती है? इससे तो यह स्पष्ट हो जाता है कि शिक्षा  का ग्राफ दिन प्रति नीचे की ओर जायेगा। सरकार शिक्षा में किए जा रहे भेदभाव को समाप्त करने की दिशा में कदम बढ़ाये तो शिक्षा की गुणवत्ता कायम हो सकती है।

बहरहाल यदि गरीब का बच्चा विद्यालय जाता है और उसे सही शिक्षा नहीं दी जाती है और वह शासन की तमाम योजनाओं के बावजूद अनपढ़ रह जाता है तो यह सरकार के लिए एक शोचनीय प्रश्न है। और सरकार को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है। जिससे शिक्षा के लिए चलाई जा रहीं योजनाओ का सही लाभ जरूरतमंदो को मिल सके। और सबसे अहम बात यह है कि सरकार शिक्षा मे किये जा रहे भेदभाव को मिटाने की ओर पहल करे । देश में समान शिक्षा प्रणाली लागू हो सभी के लिए एक जैसा पाठ्यक्रम हो जिससे देश मे समरसता का वातावरण बने और शिक्षा के निजीकरण ने समाज के उच्च वर्गो के स्वार्थ के लिए अमीरों और गरीबों के बीच विषमता को बढ़ाने का काम किया है वह कम हो सके।

यहाँ हम सरकारी स्कूलों में दर्ज कक्षा पहली से आठवीं के विद्यार्थियों की शिक्षा-दीक्षा व शैक्षिक स्तर की बात कर रहें है। कभी तुमने सोचा है कि उस शिक्षक के दिल पर क्या बीतती है जब वह रात दिन अपने बच्चों को पढ़ाने में लगाता है। वह उनके लिए वे सब कुछ करता है जिससे उनका शैक्षिक स्तर सुधरे लेकिन सब कुछ करने व सभी तरीके से पढ़ाने के बाद भी वह बच्चों के शैक्षिक स्तर को सुधार नहीं पाया तो उसकी पीढ़ा को कौन समझेगा?

किसी शिक्षक का काम आसान नहीं है। अगर ऐसा लगता है तो 250 बच्चों वाली स्कूल को दो दिन संभालकर देखिए। बच्चों को पढ़ाइए और बाकी जिम्मेदारी निभाइए। तीसरे दिन गुरूजी प्रणाम कहकर निकल लेंगे और तारीफ भी करेंगे कि सर यह पूरा सिस्टम चलाना आपके ही बस की बात है।

इसलिए उनकी आलोचना से पहले उन स्थितियों के बारे में सोचिए, जिसमें वे काम करते हैं। जिस तरह की सामाजिक आलोचना और अधिकारियों की प्रताड़ना का शिकार होते हैं। इस तरह के नजरिए से किसी शिक्षक को देखना काफी दिलचस्प होगा। कोशिश करके देखिए, आलोचना तो सब कर ही रहे हैं।

आज शिक्षा बाजारीकरण का दंश झेल रही है। इस ओर शासन की गंभीरता का आलम यह है कि वह कई योजनाएं  शिक्षा के बेहतरी के लिए चला रहा है। लेकिन उन योजनाओ की दशा और दिशा की ओर कोई सकारात्मक पहल नहीं हो रही है। जिस कारण योजनाओं का सही लाभ नहीं मिल पा रहा है। हलांकी शिक्षकों की बेहतरी के मामले शासन का नजरिया सकारात्मक नहीं होना ही इस गिरते स्तर का प्रमुख कारण है।

नाम -- कैलाश मंडलोंई

पिता -- श्री नानूराम मंडलोंई

पद :- सहायक शिक्षक

पदस्थ संस्था का नाम : कन्या. मा. वि. रायबिड़पुरा

विकास खण्ड जिला खरगोन (मध्यप्रदेश)

जन्म दिनांक :- 16-06-1967

शिक्षा :- एम. ए. हिन्दी,डी.एड.

अन्य योग्यता - 1-बेसिक स्काउट मास्टर्स कोर्स

2-एडवांस कोर्स

3- संयुक्त सचिव प्रशिक्षण स्काउट

विशेष कार्य एवं रुचि- वृक्षारोपण शाला परिसर मे 1000 पौधों का वृक्षारोपण कर एक गार्डन तैयार किया।

अन्य शैक्षिक गतिविधियाँ

इसके साथ अन्य दुसरी गतिविधियाँ भी चलती रही जैसे अतिरिक्त समय में 6,7.व 8 कक्षा के छात्र/छात्राओं को पढ़ाना तथा सुबह 6 बजे से 7.30 बजे तक योग की कक्षाएं लगाना। योग की कक्षा में हाईस्कूल के बच्चे भी आते हैं ये कक्षाएं मैं अक्टूम्बर, नवम्बर एवं दिसम्बर माह में लगता हूँ.

शैक्षिक सामग्री का निर्माण व प्रदर्शन

600 से अधिक विज्ञान एवं गणित के माडलों का निर्माण वह भी अनुपयोगी वस्तुओं से,1000 से अधिक कटाउट्स,1000 से अधिक चार्ट,अख़बार की कटिंग जिसमें खाली माचिस डिबिया,खाली खोखे,रिफिल,पेन के ढक्कन,खाली टुथपेस्ट,प्लास्टिक पन्नियाँ,सइकिल रबरट्यूब,टपरीकार्डर की मोटरे,लकड़ी के गत्ते से बने माडल आदि

अन्य शालाओं के छात्र/छात्राओं को अपनी शाला में बुलाकर विज्ञान/ गणित माडलों का प्रदर्शन करना। वाद-विवाद प्रतियोगिता, निबन्ध प्रतियोगिता, सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन करना व विभिन्न राष्ट्रीय एवं सांस्कृतिक दिवसों तथा महापुरुषों के जन्म दिनों पर ग्राम के लोगों एवं अन्य संस्था के कर्मचारियों को एकत्रित कर संगोष्ठियों का आयोजन करना।

लेखन कार्य- कविता, शैक्षिक लेख, गायन में रुचि, पुस्तकें पढ़ने का शौक

(1) शैक्षिक दखल पत्रिका के जुलाई 2016 अंक में लेख प्रकाशित

(2) शैक्षिक दखल पत्रिका के जुलाई 2016 अंक की समीक्षा लेखक मंच पर प्रकाशित

(3) हस्ताक्षर वेब पत्रिका में आलेख प्रकाशित

(4) देश बंधु में आलेख प्रकाशित

(5) रचनाकार में कविताएँ प्रकाशित

विशेष पुरस्कार : 1- जिला स्तर पर कलेक्टर द्वारा सम्मानित

2-जिला स्तर पर पर्यावरण पर सम्मानित

स्थाई पता : मु. पो.-रायबिड़पुरा तहसील व जिला- खरगोन (म.प्र.)

पिनकोड न.451439

मोबाईल नम्बर-9575419049

ईमेल ID-kelashmandloi@gmail.com

 

कैलाश मंडलोंई

टिप्पणियाँ

ब्लॉगर: 4
  1. आपकी ब्लॉग पोस्ट को आज की ब्लॉग बुलेटिन प्रस्तुति अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। सादर ... अभिनन्दन।।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेनामी6:39 pm

    मंडलोई जी बापू अपनी पगड़ी आपके चरणों में उतारता है .. बहुत सच्चाई के साथ आपने अपने लेख में शिक्षा के स्तर में गिरावट के कारणों का उल्लेख किया है ... मुझे एक मौक़ा मिला था अंग्रेजी प्रशिक्षण प्रदान करने का मैंने चार दिन का शिक्षण महेश्वर में दिया भी सारे शिक्षक प्रभावित भी हुए और मेरी प्रसंशा भी की... बस यही अखर गयी उन कुछ लोगो को और बाद में मुझे भुला दिया गया .... अफसर आते थे कभी नहीं पूछा की प्रशिक्षण कैसा चल रहा है - हाँ ए पूछते थे की खाना कैसा था कितने समय मिला ... साला जैसे फ़क़ीर या हलवाई की औलाद हो की उसे खाने के अलावा उस केम्पस में कुछ दिखाई ही नहीं दे रहा था -- माफ़ करना मुह फट आदमी हूँ

    उत्तर देंहटाएं
  3. Sir apane bahut achchha likha hai

    उत्तर देंहटाएं

-----****-----

-----****-----

|नई रचनाएँ_$type=list$au=0$label=1$count=5$page=1$com=0$va=0$rm=1

.... प्रायोजक ....

-----****-----

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, समृद्ध व लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका

~ विधा/विषय पर क्लिक/टच करें : ~

* कहानी  || * उपन्यास || * हास्य-व्यंग्य  || * कविता  || * आलेख  || * लोककथा  || * लघुकथा  || * ग़ज़ल  || * संस्मरण  || * साहित्य समाचार  || * कला जगत  || * पाक कला  || * हास-परिहास  || * नाटक  || * बाल कथा  || * विज्ञान कथा  ||  * समीक्षा  ||

---***---


|आपके लिए कुछ चुनिंदा रचनाएँ_$type=complex$count=8$src=random$page=1$va=0$au=0

नाम

 आलेख ,1, कविता ,1, कहानी ,1, व्यंग्य ,1,14 सितम्बर,7,14 september,6,15 अगस्त,4,2 अक्टूबर अक्तूबर,1,अंजनी श्रीवास्तव,1,अंजली काजल,1,अंजली देशपांडे,1,अंबिकादत्त व्यास,1,अखिलेश कुमार भारती,1,अखिलेश सोनी,1,अग्रसेन,1,अजय अरूण,1,अजय वर्मा,1,अजित वडनेरकर,1,अजीत प्रियदर्शी,1,अजीत भारती,1,अनंत वडघणे,1,अनन्त आलोक,1,अनमोल विचार,1,अनामिका,3,अनामी शरण बबल,1,अनिमेष कुमार गुप्ता,1,अनिल कुमार पारा,1,अनिल जनविजय,1,अनुज कुमार आचार्य,5,अनुज कुमार आचार्य बैजनाथ,1,अनुज खरे,1,अनुपम मिश्र,1,अनूप शुक्ल,14,अपर्णा शर्मा,6,अभिमन्यु,1,अभिषेक ओझा,1,अभिषेक कुमार अम्बर,1,अभिषेक मिश्र,1,अमरपाल सिंह आयुष्कर,2,अमरलाल हिंगोराणी,1,अमित शर्मा,3,अमित शुक्ल,1,अमिय बिन्दु,1,अमृता प्रीतम,1,अरविन्द कुमार खेड़े,5,अरूण देव,1,अरूण माहेश्वरी,1,अर्चना चतुर्वेदी,1,अर्चना वर्मा,2,अर्जुन सिंह नेगी,1,अविनाश त्रिपाठी,1,अशोक गौतम,3,अशोक जैन पोरवाल,14,अशोक शुक्ल,1,अश्विनी कुमार आलोक,1,आई बी अरोड़ा,1,आकांक्षा यादव,1,आचार्य बलवन्त,1,आचार्य शिवपूजन सहाय,1,आजादी,3,आदित्य प्रचंडिया,1,आनंद टहलरामाणी,1,आनन्द किरण,3,आर. के. नारायण,1,आरकॉम,1,आरती,1,आरिफा एविस,5,आलेख,3859,आलोक कुमार,2,आलोक कुमार सातपुते,1,आशीष कुमार त्रिवेदी,5,आशीष श्रीवास्तव,1,आशुतोष,1,आशुतोष शुक्ल,1,इंदु संचेतना,1,इन्दिरा वासवाणी,1,इन्द्रमणि उपाध्याय,1,इन्द्रेश कुमार,1,इलाहाबाद,2,ई-बुक,337,ईबुक,192,ईश्वरचन्द्र,1,उपन्यास,257,उपासना,1,उपासना बेहार,5,उमाशंकर सिंह परमार,1,उमेश चन्द्र सिरसवारी,2,उमेशचन्द्र सिरसवारी,1,उषा छाबड़ा,1,उषा रानी,1,ऋतुराज सिंह कौल,1,ऋषभचरण जैन,1,एम. एम. चन्द्रा,17,एस. एम. चन्द्रा,2,कथासरित्सागर,1,कर्ण,1,कला जगत,105,कलावंती सिंह,1,कल्पना कुलश्रेष्ठ,11,कवि,2,कविता,2809,कहानी,2134,कहानी संग्रह,245,काजल कुमार,7,कान्हा,1,कामिनी कामायनी,5,कार्टून,7,काशीनाथ सिंह,2,किताबी कोना,7,किरन सिंह,1,किशोरी लाल गोस्वामी,1,कुंवर प्रेमिल,1,कुबेर,7,कुमार करन मस्ताना,1,कुसुमलता सिंह,1,कृश्न चन्दर,6,कृष्ण,3,कृष्ण कुमार यादव,1,कृष्ण खटवाणी,1,कृष्ण जन्माष्टमी,5,के. पी. सक्सेना,1,केदारनाथ सिंह,1,कैलाश मंडलोई,3,कैलाश वानखेड़े,1,कैशलेस,1,कैस जौनपुरी,3,क़ैस जौनपुरी,1,कौशल किशोर श्रीवास्तव,1,खिमन मूलाणी,1,गंगा प्रसाद श्रीवास्तव,1,गंगाप्रसाद शर्मा गुणशेखर,1,ग़ज़लें,489,गजानंद प्रसाद देवांगन,2,गजेन्द्र नामदेव,1,गणि राजेन्द्र विजय,1,गणेश चतुर्थी,1,गणेश सिंह,4,गांधी जयंती,1,गिरधारी राम,4,गीत,3,गीता दुबे,1,गीता सिंह,1,गुंजन शर्मा,1,गुडविन मसीह,2,गुनो सामताणी,1,गुरदयाल सिंह,1,गोरख प्रभाकर काकडे,1,गोवर्धन यादव,1,गोविन्द वल्लभ पंत,1,गोविन्द सेन,5,चंद्रकला त्रिपाठी,1,चंद्रलेखा,1,चतुष्पदी,1,चन्द्रकिशोर जायसवाल,1,चन्द्रकुमार जैन,6,चाँद पत्रिका,1,चिकित्सा शिविर,1,चुटकुला,71,ज़कीया ज़ुबैरी,1,जगदीप सिंह दाँगी,1,जयचन्द प्रजापति कक्कूजी,2,जयश्री जाजू,4,जयश्री राय,1,जया जादवानी,1,जवाहरलाल कौल,1,जसबीर चावला,1,जावेद अनीस,8,जीवंत प्रसारण,130,जीवनी,1,जीशान हैदर जैदी,1,जुगलबंदी,5,जुनैद अंसारी,1,जैक लंडन,1,ज्ञान चतुर्वेदी,2,ज्योति अग्रवाल,1,टेकचंद,1,ठाकुर प्रसाद सिंह,1,तकनीक,30,तक्षक,1,तनूजा चौधरी,1,तरुण भटनागर,1,तरूण कु सोनी तन्वीर,1,ताराशंकर बंद्योपाध्याय,1,तीर्थ चांदवाणी,1,तुलसीराम,1,तेजेन्द्र शर्मा,2,तेवर,1,तेवरी,8,त्रिलोचन,8,दामोदर दत्त दीक्षित,1,दिनेश बैस,6,दिलबाग सिंह विर्क,1,दिलीप भाटिया,1,दिविक रमेश,1,दीपक आचार्य,48,दुर्गाष्टमी,1,देवी नागरानी,20,देवेन्द्र कुमार मिश्रा,2,देवेन्द्र पाठक महरूम,1,दोहे,1,धर्मेन्द्र निर्मल,2,धर्मेन्द्र राजमंगल,2,नइमत गुलची,1,नजीर नज़ीर अकबराबादी,1,नन्दलाल भारती,2,नरेंद्र शुक्ल,2,नरेन्द्र कुमार आर्य,1,नरेन्द्र कोहली,2,नरेन्‍द्रकुमार मेहता,9,नलिनी मिश्र,1,नवदुर्गा,1,नवरात्रि,1,नागार्जुन,1,नाटक,90,नामवर सिंह,1,निबंध,3,नियम,1,निर्मल गुप्ता,2,नीतू सुदीप्ति ‘नित्या’,1,नीरज खरे,1,नीलम महेंद्र,1,नीला प्रसाद,1,पंकज प्रखर,4,पंकज मित्र,2,पंकज शुक्ला,1,पंकज सुबीर,3,परसाई,1,परसाईं,1,परिहास,4,पल्लव,1,पल्लवी त्रिवेदी,2,पवन तिवारी,2,पाक कला,22,पाठकीय,62,पालगुम्मि पद्मराजू,1,पुनर्वसु जोशी,9,पूजा उपाध्याय,2,पोपटी हीरानंदाणी,1,पौराणिक,1,प्रज्ञा,1,प्रताप सहगल,1,प्रतिभा,1,प्रतिभा सक्सेना,1,प्रदीप कुमार,1,प्रदीप कुमार दाश दीपक,1,प्रदीप कुमार साह,11,प्रदोष मिश्र,1,प्रभात दुबे,1,प्रभु चौधरी,2,प्रमिला भारती,1,प्रमोद कुमार तिवारी,1,प्रमोद भार्गव,2,प्रमोद यादव,14,प्रवीण कुमार झा,1,प्रांजल धर,1,प्राची,348,प्रियंवद,2,प्रियदर्शन,1,प्रेम कहानी,1,प्रेम दिवस,2,प्रेम मंगल,1,फिक्र तौंसवी,1,फ्लेनरी ऑक्नर,1,बंग महिला,1,बंसी खूबचंदाणी,1,बकर पुराण,1,बजरंग बिहारी तिवारी,1,बरसाने लाल चतुर्वेदी,1,बलबीर दत्त,1,बलराज सिंह सिद्धू,1,बलूची,1,बसंत त्रिपाठी,2,बातचीत,1,बाल कथा,327,बाल कलम,23,बाल दिवस,3,बालकथा,50,बालकृष्ण भट्ट,1,बालगीत,9,बृज मोहन,2,बृजेन्द्र श्रीवास्तव उत्कर्ष,1,बेढब बनारसी,1,बैचलर्स किचन,1,बॉब डिलेन,1,भरत त्रिवेदी,1,भागवत रावत,1,भारत कालरा,1,भारत भूषण अग्रवाल,1,भारत यायावर,2,भावना राय,1,भावना शुक्ल,5,भीष्म साहनी,1,भूतनाथ,1,भूपेन्द्र कुमार दवे,1,मंजरी शुक्ला,2,मंजीत ठाकुर,1,मंजूर एहतेशाम,1,मंतव्य,1,मथुरा प्रसाद नवीन,1,मदन सोनी,1,मधु त्रिवेदी,2,मधु संधु,1,मधुर नज्मी,1,मधुरा प्रसाद नवीन,1,मधुरिमा प्रसाद,1,मधुरेश,1,मनीष कुमार सिंह,4,मनोज कुमार,6,मनोज कुमार झा,5,मनोज कुमार पांडेय,1,मनोज कुमार श्रीवास्तव,2,मनोज दास,1,ममता सिंह,2,मयंक चतुर्वेदी,1,महापर्व छठ,1,महाभारत,2,महावीर प्रसाद द्विवेदी,1,महाशिवरात्रि,1,महेंद्र भटनागर,3,महेन्द्र देवांगन माटी,1,महेश कटारे,1,महेश कुमार गोंड हीवेट,2,महेश सिंह,2,महेश हीवेट,1,मानसून,1,मार्कण्डेय,1,मिलन चौरसिया मिलन,1,मिलान कुन्देरा,1,मिशेल फूको,8,मिश्रीमल जैन तरंगित,1,मीनू पामर,2,मुकेश वर्मा,1,मुक्तिबोध,1,मुर्दहिया,1,मृदुला गर्ग,1,मेराज फैज़ाबादी,1,मैक्सिम गोर्की,1,मैथिली शरण गुप्त,1,मोतीलाल जोतवाणी,1,मोहन कल्पना,1,मोहन वर्मा,1,यशवंत कोठारी,8,यशोधरा विरोदय,2,यात्रा संस्मरण,18,योग,3,योग दिवस,3,योगासन,2,योगेन्द्र प्रताप मौर्य,1,योगेश अग्रवाल,2,रक्षा बंधन,1,रच,1,रचना समय,72,रजनीश कांत,2,रत्ना राय,1,रमेश उपाध्याय,1,रमेश राज,26,रमेशराज,8,रवि रतलामी,2,रवींद्र नाथ ठाकुर,1,रवीन्द्र अग्निहोत्री,4,रवीन्द्र नाथ त्यागी,1,रवीन्द्र संगीत,1,रवीन्द्र सहाय वर्मा,1,रसोई,1,रांगेय राघव,1,राकेश अचल,3,राकेश दुबे,1,राकेश बिहारी,1,राकेश भ्रमर,5,राकेश मिश्र,2,राजकुमार कुम्भज,1,राजन कुमार,2,राजशेखर चौबे,6,राजीव रंजन उपाध्याय,11,राजेन्द्र कुमार,1,राजेन्द्र विजय,1,राजेश कुमार,1,राजेश गोसाईं,2,राजेश जोशी,1,राधा कृष्ण,1,राधाकृष्ण,1,राधेश्याम द्विवेदी,5,राम कृष्ण खुराना,6,राम शिव मूर्ति यादव,1,रामचंद्र शुक्ल,1,रामचन्द्र शुक्ल,1,रामचरन गुप्त,5,रामवृक्ष सिंह,10,रावण,1,राहुल कुमार,1,राहुल सिंह,1,रिंकी मिश्रा,1,रिचर्ड फाइनमेन,1,रिलायंस इन्फोकाम,1,रीटा शहाणी,1,रेंसमवेयर,1,रेणु कुमारी,1,रेवती रमण शर्मा,1,रोहित रुसिया,1,लक्ष्मी यादव,6,लक्ष्मीकांत मुकुल,2,लक्ष्मीकांत वैष्णव,1,लखमी खिलाणी,1,लघु कथा,238,लघुकथा,859,लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन,21,लतीफ घोंघी,1,ललित ग,1,ललित गर्ग,13,ललित निबंध,18,ललित साहू जख्मी,1,ललिता भाटिया,2,लाल पुष्प,1,लावण्या दीपक शाह,1,लीलाधर मंडलोई,1,लू सुन,1,लूट,1,लोक,1,लोककथा,326,लोकतंत्र का दर्द,1,लोकमित्र,1,लोकेन्द्र सिंह,3,विकास कुमार,1,विजय केसरी,1,विजय शिंदे,1,विज्ञान कथा,62,विद्यानंद कुमार,1,विनय भारत,1,विनीत कुमार,2,विनीता शुक्ला,3,विनोद कुमार दवे,4,विनोद तिवारी,1,विनोद मल्ल,1,विभा खरे,1,विमल चन्द्राकर,1,विमल सिंह,1,विरल पटेल,1,विविध,1,विविधा,1,विवेक प्रियदर्शी,1,विवेक रंजन श्रीवास्तव,5,विवेक सक्सेना,1,विवेकानंद,1,विवेकानन्द,1,विश्वंभर नाथ शर्मा कौशिक,2,विश्वनाथ प्रसाद तिवारी,1,विष्णु नागर,1,विष्णु प्रभाकर,1,वीणा भाटिया,15,वीरेन्द्र सरल,10,वेणीशंकर पटेल ब्रज,1,वेलेंटाइन,3,वेलेंटाइन डे,2,वैभव सिंह,1,व्यंग्य,1932,व्यंग्य के बहाने,2,व्यंग्य जुगलबंदी,17,व्यथित हृदय,2,शंकर पाटील,1,शगुन अग्रवाल,1,शबनम शर्मा,7,शब्द संधान,17,शम्भूनाथ,1,शरद कोकास,2,शशांक मिश्र भारती,8,शशिकांत सिंह,12,शहीद भगतसिंह,1,शामिख़ फ़राज़,1,शारदा नरेन्द्र मेहता,1,शालिनी तिवारी,8,शालिनी मुखरैया,6,शिक्षक दिवस,6,शिवकुमार कश्यप,1,शिवप्रसाद कमल,1,शिवरात्रि,1,शिवेन्‍द्र प्रताप त्रिपाठी,1,शीला नरेन्द्र त्रिवेदी,1,शुभम श्री,1,शुभ्रता मिश्रा,1,शेखर मलिक,1,शेषनाथ प्रसाद,1,शैलेन्द्र सरस्वती,3,शैलेश त्रिपाठी,2,शौचालय,1,श्याम गुप्त,3,श्याम सखा श्याम,1,श्याम सुशील,2,श्रीनाथ सिंह,6,श्रीमती तारा सिंह,2,श्रीमद्भगवद्गीता,1,श्रृंगी,1,श्वेता अरोड़ा,1,संजय दुबे,4,संजय सक्सेना,1,संजीव,1,संजीव ठाकुर,2,संद मदर टेरेसा,1,संदीप तोमर,1,संपादकीय,3,संस्मरण,658,संस्मरण लेखन पुरस्कार 2018,128,सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन,1,सतीश कुमार त्रिपाठी,2,सपना महेश,1,सपना मांगलिक,1,समीक्षा,703,सरिता पन्थी,1,सविता मिश्रा,1,साइबर अपराध,1,साइबर क्राइम,1,साक्षात्कार,15,सागर यादव जख्मी,1,सार्थक देवांगन,2,सालिम मियाँ,1,साहित्य समाचार,60,साहित्यम्,2,साहित्यिक गतिविधियाँ,185,साहित्यिक बगिया,1,सिंहासन बत्तीसी,1,सिद्धार्थ जगन्नाथ जोशी,1,सी.बी.श्रीवास्तव विदग्ध,1,सीताराम गुप्ता,1,सीताराम साहू,1,सीमा असीम सक्सेना,1,सीमा शाहजी,1,सुगन आहूजा,1,सुचिंता कुमारी,1,सुधा गुप्ता अमृता,1,सुधा गोयल नवीन,1,सुधेंदु पटेल,1,सुनीता काम्बोज,1,सुनील जाधव,1,सुभाष चंदर,1,सुभाष चन्द्र कुशवाहा,1,सुभाष नीरव,1,सुभाष लखोटिया,1,सुमन,1,सुमन गौड़,1,सुरभि बेहेरा,1,सुरेन्द्र चौधरी,1,सुरेन्द्र वर्मा,62,सुरेश चन्द्र,1,सुरेश चन्द्र दास,1,सुविचार,1,सुशांत सुप्रिय,4,सुशील कुमार शर्मा,24,सुशील यादव,6,सुशील शर्मा,16,सुषमा गुप्ता,20,सुषमा श्रीवास्तव,2,सूरज प्रकाश,1,सूर्य बाला,1,सूर्यकांत मिश्रा,14,सूर्यकुमार पांडेय,2,सेल्फी,1,सौमित्र,1,सौरभ मालवीय,4,स्नेहमयी चौधरी,1,स्वच्छ भारत,1,स्वतंत्रता दिवस,3,स्वराज सेनानी,1,हबीब तनवीर,1,हरि भटनागर,6,हरि हिमथाणी,1,हरिकांत जेठवाणी,1,हरिवंश राय बच्चन,1,हरिशंकर गजानंद प्रसाद देवांगन,4,हरिशंकर परसाई,23,हरीश कुमार,1,हरीश गोयल,1,हरीश नवल,1,हरीश भादानी,1,हरीश सम्यक,2,हरे प्रकाश उपाध्याय,1,हाइकु,5,हाइगा,1,हास-परिहास,38,हास्य,58,हास्य-व्यंग्य,69,हिंदी दिवस विशेष,9,हुस्न तबस्सुम 'निहाँ',1,biography,1,dohe,3,hindi divas,6,hindi sahitya,1,indian art,1,kavita,3,review,1,satire,1,shatak,3,tevari,3,undefined,1,
ltr
item
रचनाकार: शिक्षा का गिरता स्तर जिम्मेदार कौन? / कैलाश मंडलोई
शिक्षा का गिरता स्तर जिम्मेदार कौन? / कैलाश मंडलोई
data:image/jpeg;base64,/9j/4AAQSkZJRgABAQEAyADIAAD/2wBDAAgGBgcGBQgHBwcJCQgKDBQNDAsLDBkSEw8UHRofHh0aHBwgJC4nICIsIxwcKDcpLDAxNDQ0Hyc5PTgyPC4zNDL/2wBDAQkJCQwLDBgNDRgyIRwhMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjIyMjL/wgARCAEeAN8DASIAAhEBAxEB/8QAGwAAAQUBAQAAAAAAAAAAAAAAAAECAwQFBgf/xAAYAQEBAQEBAAAAAAAAAAAAAAAAAQIDBP/aAAwDAQACEAMQAAAB70CZAAAUAAIUky+Y5xe5b5+09S1fG7Z66c7uEyAAAAAoAigAAAAAADeFtcYEQ6oyzNncFx0uNw19SrrHa7/j3pGsbIAACgAAAAAAAGFu+fHOv0bc3m2LJy7RpMk1XJohitTWarpszpx9ifjbNwACgAAAAAAAHlnqfnhNFZj59oVsmelVbDJa8duFKsdmGoaN2lvl6F0HNdLvkKigAAIKAAAABxnZ88YsDqmOrLOZazdOBKU6WKtW0jVjNYWpar3PoG9j7G+YoAAAAAAAAAcR2/HzVFJF596kdxVhp6VLOs2wktkUOiJnsuQ3G13XH9j05CotyAAAAAAAAGDvZcvOtnZz9LY3sJKWtmS58taxLNHPAra80Nx2fQUNDt5gBAAAAAAAAAqWw5CC9R59m0pMdVhe7WIbue+XQbGY6v0M3utY1JRenAAAAAAAAAAAAMTF67lc7xHaCzdNl+JrJh0IM2vKrUl9H5Dt98gU1gAAAAAAAAAAADkeu8/WxDWuc+sde3XWrG9udRIx1z0PbcYvTl2Zn37lQAAAAAAAAjiLJmwlzJkml87u6GBnrqsqtxues+Ur7MdffPbrV7VzYuU1TZ0eSDszCtazplGyS13Y0XKsKzTZIrIyWNbJqzIjKdq0prnXdTgY6wWm6UrKtt3TjQ0WzCKKRxzxjZ60pKIGvTmiSK1WtrWswWEYilK2VhHYqSkLp2xg2JXqjJHELnICKCRWIRsNiEsKBpxvGY5WFrZWOhASnoj0qq+OVUR5WjnrEj43AxEVzmhLG5UhbLEtprmJfkhsUqo5IkeixDkGvY8YxWCIoQ1paubaVjqYjUiRY3EksT7CCxWLLHJF65Sv1C9r6Y16ETZGjHClZr45RRqV6dqrLdRyVCKQjmup8kcqLUtUot13RrsaHO2dTWTFjTbMFTabii7RiImxBmhoJnoTQNJbpWWpUY0kVikssD0lo2whtwvN2TFLN+Tn5DdMeQ01y1NIzQ0lzQ0kzw0DODRM9DRXNRNJcxDUMwXTM9DRM5U//8QALRAAAQMCAwYHAAMBAAAAAAAAAQACAwQRBRASExUgITAxFCIkMjNAQSMlQjT/2gAIAQEAAQUC6RIaJcRpYk/G6dqGO06jxSjkTXtePqyvEcdZW3c6VziTldRTyxOocREsDJGSD6R5LE8Q2rlfNo5NZdPg8scj4ZMPxAVQ+jideicgFs0IkGoIFSx6kxzmOw+tFXD18UqTT03c7MuLYUIgtCsrZ3UrVS1BppgbjrYzLrq6WLycFkRwFdjhj9dD1q65rWi0dlZaVbKysiEcnd8I/wCPrYkwNxF3JDmgW5WVsiRkcnd8GHpetikGmrLSS+IkbIhMNldF2lGUW9x0SLzZP74QLUXWxBzHmebZNu58bC5yY5alKUDza5znvlka10jmuvdSLDnN8H1nG8x5ktRYVoWmwkVk1oRY1OZcgWTxdYSXCs608ezly7rSiE8KybmQisKZ6jrVzPOQrLsr5SDKLzItyOWEstB1qz2kZmRjEALTkNW0aVFyRIROdEA2k61RFtWOzleGN8XK0vkMiaQmu5krUrqno5agRs2cfXmbpkU0uzEl3JtO+RGCzbWRfpcx2piCwxtqP6FYzzOTqcyPEGlbNyMJs6IIx82R6UU0KFmzh+hKzaMkFjlyRcE5HvlhkWup+lW1AFac3ZfpV7KgcY/p4zFpqIprt7o8k7MlRtMkoUVVLE+Krjk+g+XzV0e1g5xPbKtqi9F6JLlpsqeLQ0JouVHO+NeNso5Wyt6Be0IztCdUpz3uA7+5VNPqAuHKy0qygg1J8kxMczi2L25E8mSOYWVzrCtaUKphQka7KSZsafVFGVzzzQGQ7KWTZRQF2zmphIC0sNlpUUJldNKFosgm8hkcmmxzfIGIuLpJCm+1BOQPImQos5uibI0B0LgGytmhfTvjbtHud5WxgItVuA5FMN2ZSfM33O5u/wA/qKGTuzSuRDobGwkZstiWtuirIDgOcXJ+VvOB5wLud7W5jI9sro9pgm9uMr8HKTI9yEzkndm8JyuroEhTC0Q7ZHhK/M/13bRdFhQHEQrZBT/FmeP8RX6gj0DnN8Y4xke34ndj7ygjxngl+Np6RX4ne4oI8bu+c3xtQR4Rm/kT7XHU7/fAeFw4JfjYgjwjOfknu0sia4ofMj0TnN8UXbiGdWP4Bcyc03EKQSb2oQji9EjjVIFveAreka3kvHvXjp14yqv4mtKMleV/Zq2KlOgxSRopcUA8Niq8Hiq8Bii3dia3ZiK3XXLddat1Va3ROjgrnDcTVuKJeCpV4aAIRsCt9nfVOt8Rlb0Xj5Cm1FQ9aqxXrV61etWmsWzq1sqpbKqWxqlsqlbOpWyqloq1prFatXrV61etXrFasWmrWiqWyqV//8QAHhEAAgIDAAMBAAAAAAAAAAAAAAECERASMCAxQFD/2gAIAQMBAT8B+TU0GuUY2KOWiS4xLLwyXJFDES4QKKEUaIcSS80LCzIl74JmxbFKhSJvjF5rE3xQvB8k8yea4xkSlXZ/sWWWWX8P/8QAHhEAAgMAAgMBAAAAAAAAAAAAAAEQETACIBIhQGD/2gAIAQIBAT8B+SyxPJsblCxfXjk5pnHBlzZ5CYu7lyhYOPQ0UcVi1FlxxxY5rNypuX2aF+DqKKKKKKKK3//EADsQAAECAgQLBQYGAwAAAAAAAAEAAgMRITAxkgQQEiAyMzRBUWGRIkBxgdETQnKhouEFIzVSYvBgguL/2gAIAQEABj8CqpkyHNazKP8AGlUMe5Uwoo8h6rXBvx0LKY4OHEd2LjuX7jwsARmcwZERzfAr897WuG/ipse13ge6eyhHsi0582oOY4tcOCyH0RR8+5GBDdR7xFTMWqYMnCwqnWC3uEm6T6PBSVipqMoJkTcDSgRvr8jcwSXtDWN/jRXx/jQHKsPxmvdLfI49IVT/AI6+HG/fQfJblQqTnUKnH4uNfCYHDLa+clQJuTXHCckk0tAsTvzCJWT3q3MyWSU5t8EA8dMQUMBwJAppr4judRYtHG1S3ZNe8c6wJ7uArweNa9/7nV7fHMpmpqatzocuFfRaMyZRyXUcJKbjnTZkhs6SU1g3DuDhj4qcpDPHMz7jPjim4qSoeVpZtCY3gO4kKRqco2M7n7MysoNSH9zEQe8EAc9rVLgpZU2z3qR7LuB7hJq8FknOpU/eOZQVSzoptNTbioVssRRbv3LJNuK1Wqhe0foixTEQt4AJwiDtNE8ob0MyYMl2mz8Folb1Q4YqbeS7LeqtVua5w0vdQhxicvc471OVI4KRxy3b5L2MIUC0qZtTudTaVzUzn7h4KZJJUlyRY+kFSOgdEoN6r2bOy3krKmeN3hWTajDiWIw5+fGrc3zxurmnnKrBzCayhA86sf4Se+GtyAfE15q580VN1CFc6rJ4FSlzxTMcdCtf9JWtN1Ue0Pg1UQsIufdUYPhJ/wBFRgeEdFRgGE9F+nYR0Ko/DY3z9F+mv6r9P+pUYCzzd91scLr/ANIg4NCHn91RDg9VZAVsBa2B/fJbTB/vktqZ/fJbY3otu+lU/iL+n3VP4jG+fqu1h0Yra4ypwiPeWzQbgWoh3QqGN6d60IvQKiE7zWp+pUQW3/suzDhXj6KyB81bg/QrSwe6VpYPdPqtbCuLXsuLaG3FtIuLaRcW0/QtpFxbQ24tdDuLWQbpWng90+q0sHun1Wlg90+q0sHulaUC6fVacG4fVa2FcPqtey4tp+gL/8QAKRAAAgIBAwMDBAMBAAAAAAAAAAERITEQQVFhcYEwkfAgQNHhobHB8f/aAAgBAQABPyH0nhBG7QjKLwAkV3xCj3ZIjyQEqh/hP90I7B3ZX21q0MciXZ679ocWTZYGE2JoHJ0t0PwSyi3KBDk9J/ZskbbhJSf6Wl9BvqOWiyNyEOpQl7qMDjOZaP8ApS/i4XlfZPb4p/UHSZGt4EzeGchChIaICLHCE7zs8DEKqTVb9fsJYtPi1lItk7pswjIroI7CRDLEG2hc+4Lo3gVuhb1KSV69JbacOrt/4JklS8DRgmSJ0NLkZNjShqgv7ls39ZlqUN8tGFhmZIgYblLKNEiGMyWZP49ZkBlSHqyKRwQ3HUhK2sg0ZDUCDHDQqGo0XJ002j2XrplndI6ibtwIu0eT8AZFixSLz0Rt0SdRHclKQbsSFGrbm4k167qKQ6IYyWecJEjnGTGLtKWQSoKo9o3gvTmIr2trkoEh5alNhIsozDk1Iik16zJ55oySRzF8kzoWwhAWmIUXCR7YJwaas6wWBDNK59ZnUGekliX0EyE1FjSrGkkvuJ+z/L9ej7I0LDhSUmTIOhkzT2IFpgNWu5IHAvHrqp95aWB5FFfBGUKGqEDZl5ZEVTGkXDHMrqJK6t59eGTQyUf9D0bvAuR0AbDB1Z6YOMQJGCgViwjxCDGBWARfYd4B5FISy3ngdKid1DCHeDKMobslGCIUyX25uLJJeb7FQVOBQcp64Q7pbNMy0Bm5Qy22Jg4ENmh7Q50luhaVRAvsUysN4fA16IayYE0NocUZPQboWThomOX9kxkjKH7BDcabFcDdDsYGAm7Df8CcqVv9kycRAb4UslWIB00NDhZ0Eo3cvoikLhIGNLSmkgGAT6zcK6Gwi6sU1NuegaeT26kSplsoQLSpDwolqLEqL6IghCmtiKKiRcMjwuoRJHK49B0ZZTcmzZo9NklK3yPByoJwULkTa4TKIUbj+KEnJiVOghd4pz1HtSmH6PHwACXc3psLCEAikK8lF/obEvdGaHnRlDN8EEsqbLNKx0G7XJsjSUaG0QMbkoeTEbG3ZS8C9It4R9a4cUxSEIXT5AlQghX9CTkf4FwgLCtUGiAIT2I4ov8AYUTdsInYROssSA8mC0QUSfcp5T0DoKDDbklZL2Ic54sXgugUrsJdvkTiD+CGYvuGLqRL+xDciOEQQINCEN4aSPEIbTYgIrBZHEasSRGxqE7XYVMwuCNCbLjApczi+gZ2xhCHTQgWiDNiWwOhuLJltcJHsC466CWQMS9NgwxOhFlBubcUSSOWncoN9IjTbVBKwvsg8iOLciBVlRDfoQxMkSUNCgMS1G9p2JQypsYIkYmtFx9Fu3UalkQN17FhShSMECFgeiybE2jfRnvdC02MvoREjUIYWDDS1ouiCBrRaPQyYGl+6H02JskT1IQMLBngxUJqQNDHpsPY8a/P30E7G9ib0QhCGUTMKbGEQyLIWBjRsbmwwknTqfjLC6Nx1otC0aTwOGIgKJB35jREM21PGkDwbhjRqxxv9A9F9B67IC2XtwJ2uzwcrrog1wMYzqYYx2KJjY4JViGPVapMEdBIvspA0lQ/Yrhr4YHyHb8Zz3s4q+N8m7XZBJ8R7lx5srz/AAcD/lwTMvKaDaeV/wAFOnXcKSEp2IlVNlHku/7E+0SO1/OxI7WJsydCpr9kTq1dv1FvouwmVB9GQn/oA2JXxf5FJLb5Fuvw/AkY+F0FjJ7Fgh2QSLCS9OPqj0Gr5H8m4vckWx8fAv7BcYddyTKYvLlmDy/6fJ+USYs4Jh7N+TlX2Ev4p/yp/wAKdP7T/mdF8bu/7HG7v+YhDQLYFvg/KKZraa+wLYEV2jt+5zR7F//aAAwDAQACAAMAAAAQ/wD/AL7sKRvD4oab77777alwba+I7b7775oB9bKxSL577774b6j4swQqr7b777O3PTbvMqb77774XZzkjbPl7777766ZBArxBFb77776kbINzV5kb77776560G6IvJ5777774TbWqIF77777rKF2zYZeJu7HzNSqUEZb63DgZTgqh6zSyNnghxxSh9h6zGOsWVzK2Q2lUjz0zRrB/wCl9/JMY8QuyaUqA5Ou0F/CB/zdxEFpArsACjyma62vvGAT/8QAHREAAwACAwEBAAAAAAAAAAAAAAERECEgMDFBUf/aAAgBAwEBPxCEzMxdiTYmYtCI1OhH0CEQ0K6RemiEpBUiHg/ea2yxEiMDL9PNHzi7EkEiwasgfIUnOero2sMVC2ajWuaZZDCFnosh8Lvo+AkhMasSmkUc6dWbkY/BsRvogsTTQk36fBYaIJhKkGTCYt6ZJFzWh+DwsIZ/S5uLhvimekLm81hZYxYfnNFyxPDZSlKUpBA0IIKN4hMxkeIQhMQ//8QAHBEAAwADAQEBAAAAAAAAAAAAAAERECAhMTBB/9oACAECAQE/ENpi/NtIaoZr8pjWXDD349saJhHoe7ZKxIUSYw9D37wboxCjpTtXdKiEEJjsSL4JGJUgqOTofnw/Yswobb9E+Pg4xBUJwu1KeiFKKMRRUVDFFlo/dCt9YvNOYfSCzceeaPMETMJpce4uF5mlwtE9kx6TSCQtEKKKE2NFYXMKUpdbj//EACgQAQACAgEDAwQDAQEAAAAAAAEAESExQVFhcRCBkTChscEg0fDx4f/aAAgBAQABPxD1S9/zEsFpAO6y/M0x2+2Ip9MlvKiMVGtUFUMSE2KPmi9mayMBb3GpzwzRmXH0rp6kzfo39IU0WB2uhFdeEWHxy+3ePnt3e08R5tDzBrtvEas4qoOKsUrzWp+I2coygVd1HADtoPhl3o+fR9N+ger2+iLawLgDlWYVLtd33hN62zm3c4lxLe0G+WUiMXBgArcZZQPMCDiBabF6TQ7MY0VkVd4ue5Bt/wBj+GZ/U49H6CWdJhPbWytavTqxSpXGJkaTMqQqhoG/EURB4g6imYNio5q4NARadSARgDu7Zf8AuscQNNbJAX4l+mYTH0nTCLWvVYI9zB7xJBZ1bXzKg7smIYAHyQDWBFASm0MxTgjkajhQVgRiDgBUoBwq5837XKsCJ1Eu/QcQ1D6S4hCsYNGQ+PsiaSasagDiql01M1BL9UtpmwV8xpkR2L3jQahVVctMqv8AcqNi6702fZIEqEr6QxFldyvAP1BOKoRSaxMobuIZRlWc1FoWy9aqFTUSyswZGpy5zLnnFzBAV0ea/Qh6BOPTEx/PRgygaG6M/iI6xQKmY1Dq4grBRvJL20ZcRQdXOAzD2KmdpLJEc8QTX7lx3lnUen5j1TVPk+8NQ1C/Wo3/ADckGqWboo/JGuUYBzFQV1t+ogq+my6GF15gX6R2lV3jle0mM6Sgs/8AggswutxVD1h0DYfmUsMKGMH6hqFwv6XMWiUfIFVCTfTKRk3FJry1FgrlQcXFsvCgV9bxVnJKlcjhjVDc1BqMFeObh6u2gY92GxN/zoN13hborIIxhgYKfNJ+5U1ySy3kNQhN/SdxYiVDX6mYEOZp6QLl0bFvzFJXKVSAdWoQL0huIijaWdIdEhp5lnjbuw5htWvW45q8alUOqKFI4ujUNQYfT0itXnPcczJeIjpxEwBi4YsRNO44uqljJzA4JUQwHxFqBSlWuZQTi1wmDBlOqfogVUxDX03UDvy8kG6rHmfalNi3pF7BiUkagBAo9psI5dZeJdRKS4M/M1GqRAH4AV+2bgH1HUYgCh7VAvUwMTJKL7QWsty640OqKNJA8AuBgMMfFbi5ItsU6IFKzcaDnEdAyKsxZlb15Tb97hqZh9Rdqrc9oEUaEU8iNvDF8vaZAXVG0rEcB7XjmG2sxQoe0A3REzAscuKl7TrLBfiZEH7TnwhfwJTxWxKt6+hr6rs4j0RV3XvBlmUilayRbQ7eTMxM6Dqspdrm2H+lr3KiDMmdQc0LUntGgZ+0vX4julOm2XR68Q9M/RZuUVw5R0kCWnPeZBnZYBG6Ld6BL6A7mPbd5KgqdUXFsCh0jNtbNQEiwj1xxDlXUqzHAvpbvv6GZn6tRW7Cq7RPiqHeN28ytSDMsle8NYIx1mUAiKwldCZh74gslEK5tfDC+cw1DUPSvo59GWqaqNl2r9kvv/X4iUuIC08QNn8TKKL6zEzqIK9ZQZc6iNsTZ1WFgC1gs8QlV9dYIivEvZDbOBlGqiVFRFYYY6tVMVWZvpt4mMwsehuHjQDxGhYBgq9H/kYVSsNW9mAQRvuZJf1QsVOrMgxefp2lxgKIFLNxe27S4HaOVPhhTiO5E8kXbJSXB4gGqUlc9M1t6RqZi7HN/wBQRgsv3jajdPR1DaFW91Cgu0y2wg1tjnyJz/NAtQOqzlV2zCscDBX5m8xGh2wUKHYLZigjlMTg2NTfEA6fblI8ezqPUrpx0SWWEvm4i1YITvwCExfm4zMcyaGcu35jTU6NS8Ly44cTg+8Yo0nWNc2OEzU1aKe+gS8MHCF/MQG5i0TzcGJa7AWR0FPY/TH+K8vQE6auLAg1hgV948ArRT5lpWZoxUo2lermIUA9ohz195hQF1ioAMMDaqUUdmpTIllwbs8JfiW6BjPfvzFZ4aVHudYOeWBWoHrJYtHTzCjA+Sg4HvCgxCizSKgvELri9RQDFBF3ftNp0udnxKheYpHS1VRoNPiU5q7NRTijxRi1FDDvy9oqA28dJelgKxFZ+ZoAhrpTJO0Vr3omMIvOa/liOksJ4vUQCWbpFzq3UPvi4FNm0CzlcPiKffQ+Pfo/mIJY8o95+JTsbDr3F3BaRzja6vWYAzMhRrtKoh4VPd8wLwa7zBmMCmzNzkjlTyS8m4pePeMNcFU66lBXrEqC4aMwwe2YFxcQNTiMoblbVfuTA6EyhRUoxe0oSdBDBOY5RdQe2RbZ7jokdIsmimjEuiKH3gAcHFRW1RL949f2gP8AsQWsTQhMbKgK9fEWCV0V8zJAuixScqvCIArNFcxHUCmBxLb7ZkEGEQlWES8Q8EEo1OMx6RoOYdGwhqStdoE3RYygVRiNtr+8AqszBzmX7ZlmTXtN6ld5RcATcZTkdoOmBFaPeG9w2feU+JKJlKW5WXVB8zG63Fie+Vc5gbqFRKl7TmXUP2leLuO7cOYyRyDu4ZSNxZ96hhrUD5ltK3Bs84qM2Zt4gbaYDaZMOw5g2HSKG7l1KeyFEve4kS1XE3AAYqcDnrORzHW4Jcs7RrYgUrcuOSIBKMRA7M9orNCtXzG0FAViDmGMn5i4VMhuVzcHN8RqbjShHWHvwwUO0YWeuajgl3xLqIQwsOEqaVDB1LGVx2g8y8AuYq5LivJqVsS/aCV2w8ga/NAU7EKoq/aLqX8RzDuIrUoLl9M3E58TQqoKxJkzgYrGeIHAtU1EmAPmZQrE3plUrtBpmVYCiDNE04huBd6gHfFcdsxyS9FF2MZy+kZoauFWVR2XzM5zF1YgbjpK5mUslOqlR9JtGMEGwaYq48kuVDBE36XByalttw9ZkiXtArZifOUVzMioX3eIouHEfgVGQlZnaTM5xK+7mAGAIL2qF3hmXEwLLhkhD6v5RPZUYweE08EwTeGK7y7Jzsi8XLFGa4vUB0+8oW/UTGZi2QeUuwGXW/tBFu6HiVWGsTdrg/cdjbECX0qa7K8wKW5kdoVeUPaIDzKH/YUBBug5OkAuGBvvGmaxDZiNDcLdVi4VosOURqwq4C/3EQpFbSNw4CgSKjK+JmvwgtjHk7ygSV3xMWJjesIZw0fmFd5cEY1WHyTfUw3uLRUyuJbkfiWWqc81L1ddoDlfmPRyBTIZmYRDZtdRAyt2qJzRcjXA35pA8n+b3UQiPs/sQKCe7Xj2hxXq6C/hRrbPf/mH25/qcucM4LCWmJwyNKzZ4l/Jg7ajFOPlIiUO4f1lQAHNpxA/Bqw3+cIE8UipFY1+bJTPlw/UjSuuKvE1hBypuNBzs39YPrXtxd0Wl2n7SvBGv10CL0M2z+YQ7dpQ+ypQsqrAuukPd89iKOlXSLj76L9T7Ka/UAoDsVKmZxVzJ4lSsVeJXeB3JR48ShlJ1blmsS8z4lfip4HpVmcyvT2hPeFNImrlEhcNf0lwaoXzE/CgjL5PfiLkeX+oR0gf6aSspGixXuoE2DvX7std/wCB5YZiXj+yXFwdLBHu8PSKYU3n++V83kf3CivJH6gB/wAS6SooTPMGeQDLAF1GioSS00SXNmTeD8wkrPeR3Ov/AFccx/5tz//Z
रचनाकार
https://www.rachanakar.org/2016/10/blog-post_72.html
https://www.rachanakar.org/
http://www.rachanakar.org/
http://www.rachanakar.org/2016/10/blog-post_72.html
true
15182217
UTF-8
सभी पोस्ट लोड किया गया कोई पोस्ट नहीं मिला सभी देखें आगे पढ़ें जवाब दें जवाब रद्द करें मिटाएँ द्वारा मुखपृष्ठ पृष्ठ पोस्ट सभी देखें आपके लिए और रचनाएँ विषय ग्रंथालय SEARCH सभी पोस्ट आपके निवेदन से संबंधित कोई पोस्ट नहीं मिला मुख पृष्ठ पर वापस रविवार सोमवार मंगलवार बुधवार गुरूवार शुक्रवार शनिवार रवि सो मं बु गु शु शनि जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई जून जुलाई अगस्त सितंबर अक्तूबर नवंबर दिसंबर जन फर मार्च अप्रैल मई जून जुला अग सितं अक्तू नवं दिसं अभी अभी 1 मिनट पहले $$1$$ minutes ago 1 घंटा पहले $$1$$ hours ago कल $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago 5 सप्ताह से भी पहले फॉलोअर फॉलो करें यह प्रीमियम सामग्री तालाबंद है चरण 1: साझा करें. चरण 2: ताला खोलने के लिए साझा किए लिंक पर क्लिक करें सभी कोड कॉपी करें सभी कोड चुनें सभी कोड आपके क्लिपबोर्ड में कॉपी हैं कोड / टैक्स्ट कॉपी नहीं किया जा सका. कॉपी करने के लिए [CTRL]+[C] (या Mac पर CMD+C ) कुंजियाँ दबाएँ