370010869858007
Loading...

प्रेम - 10 हाइकु // अशोक कुमार ढोरिया

image

1.

रुकते नहीं

विदाई के बादल

बिन बरसे

2.

तेरी यादें हैं

मेरे मकद्दर में

मेरी जिन्दगी

3.

ऐतबार था

मेरी कसम खाके

तेरे वादे का

4.

खुशी पल की

मिली तेरे प्यार की

सज़ा बनके

5.

दिल रोता है

आँखें बरसती हैं

तेरी याद में

6.

चली जाएगी

ऐतबार नहीं था

छोड़ के मुझे

7.

छिप छिप के

रोने को जी करता

तेरी याद में

8.

तू जीत गई

बेवफाई देकर

मैं हार गया

9.

रह गई हैं

मेरी याद बनके

तस्वीर तेरी

10.

दिल मौन है

आँखें हैं निहारती

दर्द कितना

11.

भीग गई है

ये तस्वीर तुम्हारी

अश्रु जल से

12.

किस्मत फूटी

तेरा प्यार पाने को

आस न टूटी

13.

बस गई है

वो तस्वीर तुम्हारी

मेरे दिल में

14.

प्रेमी मापते

धड़कन दिल की

दिल कोठरी

15.

प्रेम रण में

चलते शब्द बाण

दिल लड़ते

---


अशोक कुमार ढोरिया

मुबारिकपुर(झज्जर)

हरियाणा

कविता 91844409084392613

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

emo-but-icon

मुख्यपृष्ठ item

कुछ और दिलचस्प रचनाएँ

फ़ेसबुक में पसंद करें

---प्रायोजक---

---***---

ब्लॉग आर्काइव