नाका - विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका. 

विविध विधाओं में से चुनकर पढ़ें -

* कहानी  || * उपन्यास || * हास्य-व्यंग्य  || * कविता  || * आलेख  || * लोककथा  || * लघुकथा  || * ग़ज़ल  || * संस्मरण  || * साहित्य समाचार  || * कला जगत  || * पाक कला  || * हास-परिहास  || * नाटक  || * बाल कथा  || * विज्ञान कथा  ||  * समीक्षा  ||

---***---

यहाँ की विशाल ऑनलाइन लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोज कर पढ़ें -

 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com  रचनाकार के वाट्सएप्प नंबर 8989162192 (कृपया कॉल नहीं करें, कॉल रिसीव नहीं होगी, तथा इसका उपयोग केवल प्रकाशनार्थ रचना भेजने के लिए ही करें) पर भी वाट्सएप्प से रचनाएँ अथवा रचना पाठ के वीडियो प्रकाशनार्थ भेजे जा सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए यह पृष्ठ [लिंक] देखें.

--

वियतनाम की लघुकथा - सर्वश्रेष्ठ व्यंजन - राजेश माहेश्वरी

- राजेश माहेश्वरी

परिचय

राजेश माहेश्वरी का जन्म मध्यप्रदेश के जबलपुर शहर में 31 जुलाई 1954 को हुआ था। उनके द्वारा लिखित क्षितिज, जीवन कैसा हो व मंथन कविता संग्रह, रात के ग्यारह बजे एवं रात ग्यारह बजे के बाद ( उपन्यास ), परिवर्तन, वे बहत्तर घंटे, हम कैसे आगे बढ़ें एवं प्रेरणा पथ कहानी संग्रह तथा पथ उद्योग से संबंधित विषयों पर किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं।

वे परफेक्ट उद्योग समूह, साऊथ एवेन्यु मॉल एवं मल्टीप्लेक्स, सेठ मन्नूलाल जगन्नाथ दास चेरिटिबल हास्पिटल ट्रस्ट में डायरेक्टर हैं। आप जबलपुर चेम्बर ऑफ कामर्स एवं इंडस्ट्रीस् के पूर्व चेयरमेन एवं एलायंस क्लब इंटरनेशनल के अंतर्राष्ट्रीय संयोजक के पद पर भी रहे हैं।
आपने अमेरिका, चीन, जापान, जर्मनी, फ्रांस, इंग्लैंड, सिंगापुर, बेल्जियम, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड, हांगकांग आदि सहित विभिन्न देशों की यात्राएँ की हैं। वर्तमान में आपका पता 106 नयागांव हाऊसिंग सोसायटी, रामपुर, जबलपुर (म.प्र) है।

---

वियतनाम में उच्च गुणवत्ता वाले चावल का उत्पादन होता है जिसके अनेकों देशों में विक्रय द्वारा उन्हें विदेशी मुद्रा प्राप्त होती है। यह उनकी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाता है। मेरी वियतनाम यात्रा के दौरान इस संबंध में वहाँ पर प्रचलित एक कथा मुझे बताई गई कि किस प्रकार से यहाँ पर चावल के उत्पादन को प्रोत्साहन प्राप्त हुआ और आज वह प्रमुख उत्पादक देश माना जाता है।

कई वर्ष पूर्व वहाँ के शासक हंग योंग के तीन बेटे थे। उन्हें उनमें से किसी एक को अपना उत्तराधिकारी चुनना था। एक दिन उन्होंने तीनों बेटों को बुलाकर कहा कि जो उन्हें सबसे स्वादिष्ट एवं नये प्रकार का भोजन बनाकर प्रस्तुत करेगा उसे ही वे अपना उत्तराधिकारी घोषित करेंगे। यह सुनकर तीनों राजकुमार प्रयासरत् हो गये। उनमें से एक ने जंगल में जाकर पशु पक्षियों के मांस से स्वादिष्ट भोजन तैयार किया। दूसरे राजकुमार ने समुद्री भोजन जिसमें मछली एवं समुद्र से प्राप्त अन्य जीवों का प्रयोग करके भोजन को स्वादिष्ट बनाकर तैयार किया। वह अपने इस कार्य में इतना तल्लीन था कि समुद्री तूफान और खराब मौसम की भी परवाह किये बिना कार्यरत रहा। तीसरा राजकुमार तिएट लियु जो कि उम्र में सबसे छोटा था सपरिवार गांव की ओर चल पडा।

उसने देखा कि कुछ ग्रामवासी चावल की खेती करके चावल का उत्पादन कर रहे है वह उनके पास गया और चावल को उठाकर उसने सूंघा। चावल की शानदार खुशबू से वह मंत्रमुग्ध हो गया। उसकी पत्नी भी उसके साथ थी उसने उन चावलों को पानी में भिगोकर एक नरम मिश्रण तैयार किया और उस मिश्रण को थोडा गर्म करके उसे एक गोल एवं एक चौकोर टिकिया का रूप दे दिया। इसमें गोल टिकिया का नाम बन्ह डे और चौकोर टिकिया का नाम बन्ह चुंग रखा एवं उसे हरे पत्तों में लपेटकर तैयार करके राजा के सामने भोजन हेतु प्रस्तुत कर दिया। अन्य दोनों राजकुमारों ने भी स्वनिर्मित भोजन को राजा के सामने रख दिया और तीनों राजकुमारों ने राजा से भोजन ग्रहण करने का आग्रह किया।

राजा ने अपने तीनों राजकुमारों के द्वारा बनाये गये भोजन को चखा और तीसरे राजकुमार के द्वारा चावल से बने व्यंजन को सर्वश्रेष्ठ घोषित कर दिया। इसका कारण बताते हुए राजा ने कहा कि यह व्यंजन मुझे इसलिये सर्वोत्तम प्रतीत होता है कि यह स्वादिष्ट होने के साथ साथ इसके उत्पादन से अनेकों लोगों को रोजगार मिलेगा और इससे खाली पडी भूमि को उपजाऊ बनाने में सहयोग प्राप्त होकर, यह राष्ट्र की अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करेगा। अन्य दोनों राजकुमारों ने भी इस भावना को स्वीकार किया और अपने सबसे छोटे भाई को नया राजा बनने हेतु बधाई दी। वियतनाम के निवासियों का मत है कि इस प्रोत्साहन के कारण सैकडों वर्षों से चावल का उत्पादन होता आ रहा हैं और निरंतर नये शोधों से इसकी गुणवत्ता बढ़ती जा रही है।

0 टिप्पणियाँ

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.