पूर्वीय अफ्रीका की लोक कथाएँ // 4 - तीन उम्मीदवार // सुषमा गुप्ता

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

clip_image003

देश विदेश की लोक कथाएँ —

पूर्वीय अफ्रीका की लोक कथाएँ

जिबूती, ऐरिट्रीया, केन्या, मैडागास्कर, रीयूनियन, सोमालिया, सूडान, यूगान्डा

clip_image004

संकलनकर्ता

सुषमा गुप्ता

---

4 तीन उम्मीदवार[1]

एक बार की बात है कि सोमालिया देश के एक गाँव में तीन लड़के एक ही लड़की से प्यार करते थे। तीनों बराबर के अमीर थे और बराबर की हैसियत के थे सो तीनों ने ही उस लड़की से शादी का प्रस्ताव रखा।

हालाँकि इस बात से उस लड़की के पिता को बहुत खुश होना चाहिये था परन्तु ऐसा नहीं हुआ। उस लड़की के पिता का मन खुशी से भरने की बजाय और दुखी हो गया क्योंकि वह जिस किसी लड़के से भी अपनी बेटी की शादी करता उससे दूसरे दो लड़कों का अपमान होता।

उधर उस लड़की को इस बात से कोई मतलब नहीं था कि उसकी शादी किससे होती है और न ही उसने कभी यही कहा कि वह उनमें से किससे प्यार करती थी या नहीं। इसलिये इस चिन्ता का बोझ भी उसके पिता पर ही था।

उन तीनों लड़कों के पिता रोज आ कर उस लड़की के पिता से कहते कि अब उसको उनके बेटों के बारे में कुछ न कुछ निश्चय कर लेना चाहिये कि वह उनमें से किसके बेटे से अपनी बेटी की शादी करना चाहता है परन्तु वह उनको रोज ही टाल देता।

उसने अपने देश के बड़े बड़े समझदार लोगों से सलाह ली, कुरान में देखा, परन्तु उसको अपनी समस्या का कहीं कोई हल नहीं मिला। आखिर में उसे एक तरकीब सूझी कि क्यों न वह उन तीनों का इम्तिहान ले कि उनमें से कौन सा लड़का उसकी बेटी के लायक है।

देश के तीन सबसे बड़े और अक्लमन्द लोग इस इम्तिहान के जज बनाये गये। इम्तिहान यह था कि कोई भी लड़का, जो भी उसकी बेटी से शादी करना चाहे, अपनी अपनी होशियारी दिखायेगा और उनमें से जो भी लड़का सबसे ज़्यादा होशियार होगा वह अपनी बेटी की शादी उसी से कर देगा।

पहला लड़का तीनों में सबमें बलवान था सो उसने दो आदमियों को अपने कन्धों पर बिठाया और उन्हें नदी पार ले गया और वापस आ गया। गाँव वाले उसका बल देख कर बहुत प्रभावित हुए।

दूसरा लड़का भाला और राइफल चलाना बहुत अच्छी जानता था। उसने चैट[2] की डंडियाँ जो उसके एक दोस्त के मुँह में लगी हुईं थीं अपने निशाने से उड़ा दीं। एक उड़ती हुई चिड़िया को आसमान में ही मार दिया और एक चाँदी के उड़ते हुए सिक्के को भेद दिया।

तीसरा लड़का सबसे सुन्दर था। यह लड़का हार्प[3] बजाता था और गाता था। और ऐसा गाता था कि उसका गाना सुन कर चिड़ियाँ उड़ना भूल जाती थीं और जंगली जानवर अपना चिल्लाना बन्द करके उसका गाना सुनने लग जाते थे।

इस लड़के ने अपना हार्प बजाया और गाया। गाँव की सारी लड़कियाँ आहें भरने लगीं और अपने अपने परदों में से बाहर निकल कर आ गयीं। यह देख कर गाँव के सारे लड़कों को गुस्सा आ गया।

तीसरे लड़के के हार्प बजाने के बाद तीनों अक्लमन्द लोग तय करने के लिये एक काफी की दूकान पर गये कि उनमें से किसको उस लड़की के लिये चुना जाये।

और उनका फैसला क्या था? क्या उनके फैसले ने लड़की के पिता को उसकी समस्या को हल करने में सहायता की?

इन तीनों अक्लमन्दों ने यह फैसला सुनाया — “पहले लड़के ने असाधारण ताकत का प्रदर्शन किया है, दूसरे लड़के ने असाधारण निशानेबाजी दिखायी है और तीसरा लड़का सबसे अच्छा गवैया है। ” यद्यपि यह फैसला था तो अक्लमन्दी से भरा हुआ पर इससे लड़की के पिता का तो कोई भला नहीं होता था।

दिन और महीने बीतते गये और वे तीनों लड़के अब इतने अधिक चिन्तित हो गये कि उन्होंने अपने अपने तम्बू उस लड़की के घर के पास बहने वाली नदी के किनारे गाड़ लिये।

रोज उन लड़कों के पिता लड़की के पिता पर फैसला करने के लिये दबाव डालते ताकि उनके बच्चे घर लौट सकें परन्तु लड़की का पिता कोई फैसला ही नहीं कर पा रहा था।

एक दिन वह लड़की नदी पर कपड़े धोने गयी तो तीनों लड़के उसे देख रहे थे। लड़की अचानक कपड़े धोते समय किनारे से फिसल कर नदी में गिर गयी और बहने लगी।


उसी समय एक मगर उसकी तरफ बढ़ा तो हार्प बजाने वाले लड़के ने तुरन्त अपना हार्प उठाया और उसे बजाना शुरू कर दिया। हार्प के संगीत ने मगर पर जादू डाल दिया। उसने लड़की को छोड़ दिया और वह खुशी से नदी में इधर उधर लोटने लगा।

इसी बीच शिकारी ने अपनी राइफल उठा ली और मगर को मार डाला। तीसरा बलवान लड़का नदी में कूद कर लड़की को और ज़्यादा बहने से पहले ही बचा कर किनारे पर ले आया।

तीनों लड़के उस लड़की को ले कर उसके घर गये। लड़की बेहोश थी सो डाक्टर को बुलाया गया और उसे होश में लाया गया।

अब उन तीनों उम्मीदवारों ने आपस में लड़ना शुरू कर दिया। हार्प बजाने वाला लड़का बोला — “मेरी शादी उस लड़की के साथ होनी चाहिये क्योंकि पहले मेरे ही गाने से उस जानवर ने उस लड़की को छोड़ा। अगर ऐसा न होता तो तुम दोनों की कोशिशें बेकार जातीं। ”

शिकारी लड़का बोला — “गलत, तुम्हारे संगीत ने मगर को केवल एक मिनट के लिये ही तो रोक दिया था, उसी समय में मैंने उसको मार दिया था।

अगर मैं उसी समय मगर को न मारता तो कुछ पल बाद ही वह उसको खा गया होता इसलिये उसकी शादी मेरे साथ होनी चाहिये। ”

बलवान लड़का बोला — “गलत, गलत, तुम दोनों ही गलत हो क्योंकि अगर वह मगर से बच भी गयी थी तो भी वह नदी के बहाव में बह जाती अगर मैं उसको बाहर निकाल कर न लाता इसलिये वह मेरी है। ”

जैसा कि हमने कहा था कि सोमाली लोग अपनी कहानियों में पहेलियाँ अधिक पसन्द करते हैं। तो अब यह बताओ बच्चों कि यह लड़की किसको मिलनी चाहिये?

हार्प बजाने वाले लड़के को जिसने लड़की को मगर से छुड़वाया, या शिकारी लड़के को जिसने मगर को मारा और या फिर उस बलवान लड़के को जो उस लड़की को नदी में से बाहर निकाल कर लाया।

अगर तुम सोच सको तो हमको जरूर लिखना।



[1] Three Suitors – a folktale from Somalia, Eastern Africa

There are a few similar tales in Vikram Vaitaal Stories also, read them at :

(1) Three Princes - http://sushmajee.com/shishusansar/stories-vikram-vaitaal/vaitaal-1/5-three-princes.htm (2) Three Suitors - http://sushmajee.com/shishusansar/stories-vikram-vaitaal/vaitaal-1/2-three-suitors.htm (3) Varamaalaa - http://sushmajee.com/shishusansar/stories-vikram-vaitaal/vaitaal-1/7-varmaalaa.htm

[2] Chat – a kind of tree whose leaves are good to suppress hunger. Chewing these leaves are very common in Ethiopia and Somalia countries.

[3] Harp is a western string musical instrument. See its picture above.

---

सुषमा गुप्ता ने देश विदेश की 1200 से अधिक लोक-कथाओं का संकलन कर उनका हिंदी में अनुवाद प्रस्तुत किया है. कुछ देशों की कथाओं के संकलन का  विवरण यहाँ पर दर्ज है. सुषमा गुप्ता की लोक कथाओं के संकलन में से सैकड़ों लोककथाओं के पठन-पाठन का आनंद आप यहाँ रचनाकार के लोककथा खंड में जाकर उठा सकते हैं.

***

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

0 टिप्पणी "पूर्वीय अफ्रीका की लोक कथाएँ // 4 - तीन उम्मीदवार // सुषमा गुप्ता"

एक टिप्पणी भेजें

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.