रचनाकार.ऑर्ग की विशाल लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोजें -
 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें.

नम हुईं आँखें


एक कविता एक ग़ज़ल

- ओम मेहरा

नम हुई आंखें


नम हुई ऑंखें सपने भी नम हुए होंगे ।

वक्ते रुक्सन यूं भी तो सहम गए होंगे॥


कोई हो जिन्दगी कभी रियायत नहीं करती ।

उठते कदम बस इसलिए थम गए होंगे ॥


लौट आना पड़ा रुसवा होकर बेवजह ।

दोस्त के घर की तरफ बस कुछ कदम गए होंगे॥


अच्छी नहीं है बेरुखी नम उम्मीदों के ख़िलाफ़।

इस बेरुखी में ख्वाब कितने जल गए होंगे॥


जीने के लिए


जीने के लिए कोई वजह तो चाहिए

सर पे साए के लिए, जगह तो चाहिए


अन्धेरों मे डूबी इन पनाहगाहों को

एक मुमकिन सी कोई सुबह तो चाहिए


इस सूरतेहाल में मुस्कुराना मुमकिन नहीं

मुस्कुराने के लिए कोई वजह तो चाहिए


सरफरोशी यूं ही हासिल नहीं होती

इरादों में कोई गिरह तो चाहिए

(चित्र - जल रंगों में बनाई गई रेखा की कलाकृति)

Tag ,,,

6 टिप्पणियाँ

  1. चित्र वा कविताएँ दोनों अच्छी लगीं।
    घुघूती बासूती

    जवाब देंहटाएं
  2. बेनामी11:10 pm

    ग़ज़ल बहर से तो ख़ारिज है ही.क़ाफ़िया का भी सही निर्वाह नहीं.अफ़सोस रचनाकार में शामिल की गयी.

    जवाब देंहटाएं
  3. @सुभाष,
    रचनाकार का उद्देश्य रचनाओं को इंटरनेट के माध्यम से जन-जन तक पहुँचाने का है, न कि उसके बिल्ड के एनॉलिसिस का. और, वैसे भी परंपराओं को तोड़ने पर ही नए रास्ते खुलते हैं.
    आपको अफ़सोस हुआ, इसका हमें दुख है. रचनाकार में रचनाओं के नियमों का कोई मापदण्ड नहीं है, बल्कि ऑफ़-बीट रचनाओं का हम स्वागत करते हैं.

    जवाब देंहटाएं
  4. बेनामी9:41 pm

    ग़ज़ल की संरचना में बारीकियों का ध्यान अगर हम नही रख सकतें तो कुछ और लिखें.ग़ज़ल के नाम पर बहुत कुछ छप रहा है ये तोहमत आपको न लग जाये.रचनाकार में रचना के नियमों के मापदंड ही नहीं फिर तो कहना ही क्या.

    जवाब देंहटाएं
  5. subhash ji,
    behtar hota ki general comment karne ke bajai aap udaharan dekar
    samjhate.aajkal sabhi gajal ke bare mein authoritative comment karne se nahin chukte lekin mudde par ane se darte hain. aapki sodaharan salah shirodharya hogi.
    om

    जवाब देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.