रचनाकार.ऑर्ग की विशाल लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोजें -
 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें.

कान्ति प्रकाश त्यागी की कविता - बन्दर हुआ अन्दर

कविता

डॉ. कान्ति प्रकाश त्यागी


बन्दर हुआ अन्दर


क्या अपने टी वी पर यह समाचार सुना,
अथवा सुन कर कर भी दिया अनसुना ।
फिर भी एक बार और सुन लीजिए ,
बेचारे कपि पर कुछ तो दया कीजिए ।
यह बिलकुल सच्ची घटना, नहीं है कोरी कल्पना ।


किसी शहर में रहता, था एक रामचनदर ,
उसका जिगरी दोस्त था, सिर्फ़ एक बन्दर
रामचनदर था, दिल का रसिया,
एक लड़की का, बना मनबसिया ।

कपि महाशय छतों पर छलांग लगाते थे,
एक प्रेमी का संदेश, दूसरे को पहुँचाते थे ।
लड़की को कार्य वश बाज़ार जाना था,
कपि को एक जरूरी संदेश पहुंचाना था ।
बन्दर ने लड़की को धीरे से पत्र दिया,
पब्लिक डर से उसने मुंह फेर लिया ।


कपि ने लड़की को देखा, लड़की ने कपि को देखा ।
एक दूसरे की मजबूरी समझ गए,
मन ही मन बहुत अधिक कुढ़ गए ।
स्वामीभक्त दूत ने इधर देखा, उधर देखा ,
लड़की ने जान बूझकर किया अनदेखा ।
संदेश पुष्टि सबूत में, दुपट्टा खींच लिया,
इस दृश्य को, तमाशगीरों ने देख लिया ।


अमुक लड़की का सरे बाज़ार चीर हरण हो गया,
हे भगवान आज इस संसार में क्या हो गया ।
इस घटना से दंगों ने
साम्प्रदायिक रूप धारण कर लिया,
जनता ने कितने बेगुनाहों,
ग़रीबों के घरों को फूंक दिया ।



पुलिस को अश्रु गैस
तथा डण्डा चलाना पड़ा ,
क़र्फ़्यू लगा कर ही,
भीड़ को काबू करना पड़ा ।
रामू तो चुपचाप खिसक लिया,
बन्दर को पुलिस ने धर लिया ।
उसकी न किसी ने की वकालत,
और न ही किसी ने दी जमानत ।


पुलिस ने कपि की देखी वफ़ाई,
उसको उस पर दया आई ।
एक सुन्दर सी जेल बनाई,
खाने पीने की मौज कराई ।
उधर लड़के, लड़की ने,
धर्म की दीवारें तोड़ दी ,
एक दिन कोर्ट में जा कर
चुपचाप शादी कर ली ।


अब तक जितने भी थानेदार आएं हैं,
बेचारे का पूरा साथ निभाए हैं ।
जेल ही उसकी मस्जिद है,
जेल ही है उसका मन्दिर ।
दो दिलों को मिला कर,
कपि खुश है जेल के अन्दर ।


रामू तो दो बच्चों का बाप,
अब तीसरे का होने वाला है,
बन्दर बेचारा न जाने,
कब तक अन्दर रहना वाला है ।
वह बेचारा वफादार बन्दर,
अभी भी है जेल के अन्दर ।

-----


डॉ. कान्ति प्रकाश त्यागी

0 टिप्पणियाँ

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.