नाका - विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका. 

विविध विधाओं में से चुनकर पढ़ें -

* कहानी  || * उपन्यास || * हास्य-व्यंग्य  || * कविता  || * आलेख  || * लोककथा  || * लघुकथा  || * ग़ज़ल  || * संस्मरण  || * साहित्य समाचार  || * कला जगत  || * पाक कला  || * हास-परिहास  || * नाटक  || * बाल कथा  || * विज्ञान कथा  ||  * समीक्षा  ||

---***---

यहाँ की विशाल ऑनलाइन लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोज कर पढ़ें -

 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com  रचनाकार के वाट्सएप्प नंबर 8989162192 (कृपया कॉल नहीं करें, कॉल रिसीव नहीं होगी, तथा इसका उपयोग केवल प्रकाशनार्थ रचना भेजने के लिए ही करें) पर भी वाट्सएप्प से रचनाएँ अथवा रचना पाठ के वीडियो प्रकाशनार्थ भेजे जा सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए यह पृष्ठ [लिंक] देखें.

--

लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन 2019 - प्रविष्टि क्रमांक - 344 // मान-सम्मान // राजेश आहूजा

प्रविष्टि क्रमांक -

राजेश आहूजा

मान-सम्मान

नाश्ता करते-करते सुमित ने घड़ी की ओर देखा। पूरे आठ बज रहे थे। उसने जल्दी-से दूध का गिलास ख़त्म किया और माँ के पास जाकर उनके पाँव छुए। वे मंदिर में भगवान को भोग लगा रही थीं। ‘जीते रहो बेटा, ख़ूब तरक़्क़ी करो’ कहते हुए उन्होंने उसे प्रसाद दिया और रसोईघर से लंच का डिब्बा लाकर थमा दिया। लंच-बॉक्स को बैग में रखता हुआ वह पिता के पास पहुँचा। तब तक वे भी अपने दफ़्तर जाने के लिए तैयार हो चुके थे। सुमित ने उनके पाँव छुए तो उन्होंने उसकी कमीज़ की जेब से सस्ता पेन निकालकर, एक बड़ी कंपनी का सुंदर पेन लगा दिया। फिर उसकी पीठ पर हाथ रखकर बोले, “बेटा, मेरा वेतन कभी इतना नहीं रहा कि तुझे महँगा पेन दिला सकूँ। स्कूल और कॉलेज में तूने हमेशा सस्ते पेन इस्तेमाल किए हैं। आज तेरी नौकरी का पहला दिन है। एक बड़े अख़बार के दफ़्तर में जा रहा है। कई लोगों से मिलना-जुलना होगा। जेब में एक अच्छा पेन हो तो मान-सम्मान बढ़ता है।”

सुमित ने महँगा पेन पिता के हाथ में वापस रखते हुए कहा, “एक लेखक का मान-सम्मान अच्छा लिखने से बढ़ता है और लिखा पेन से नहीं, दिमाग़ से जाता है।”

यह कहकर उसने सस्ता वाला पेन फिर से अपनी जेब में लगाया और एक विश्वासपूर्ण मुस्कान के साथ बस-स्टॉप की ओर चल दिया।

--

0 टिप्पणियाँ

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.