370010869858007
नीचे टैक्स्ट बॉक्स से रचनाएँ अथवा रचनाकार खोजें -
 नाका संपर्क : rachanakar@gmail.com अधिक जानकारी यहाँ [लिंक] देखें.

****

Loading...

लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन 2019 - अंतिम तिथि : 31 जनवरी 2019

image


रचनाकार.ऑर्ग लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन वर्ष 2019
अद्यतन पुरस्कार राशि -
· प्रथम पुरस्कार (एक): 1 x 11,000 रुपए (ग्यारह हजार रुपए)
· द्वितीय पुरस्कार (दो): 2 x 5,000 रुपए (पांच हजार रूपए प्रत्येक)
· तृतीय पुरस्कार(तीन): 3 x 2,000 रुपए  (दो हजार रूपए प्रत्येक)
. विशेष पुरस्कार (चार): 4 x 1,000 रुपए (एक हजार रुपए प्रत्येक)
कुल 31,000 (इकत्तीस हजार) रुपए नकद तथा साथ में विविधपुस्तकें पुरस्कार स्वरूप  प्रदान किए जाएंगे. पुरस्कारों में वृद्धि संभावित है, चूंकि इस आयोजन हेतु चहुँ ओर से प्रायोजन आमंत्रित हैं.

अद्यतन # 8 - परिणाम घोषित. परिणामों के लिए इस लिंक पर जाएँ - http://www.rachanakar.org/2019/02/2019.html 

अद्यतन # 7 - सुषमा गुप्ता द्वारा संकलित व अनुवादित लोक कथाओं के संग्रह की 2 पुस्तकें सभी पुरस्कृतों को भेंट की जाएंगी. सुषमा जी का हार्दिक धन्यवाद.
अद्यतन # 6 -  सरिता सुराणा द्वारा सूचित किया गया है कि वे अपनी पुस्तक  'मां की ममता'  (कहानी-संग्रह) की पांच प्रतियां पुरस्कृतों को भेंट करेंगीं. उन्हें बहुत-2 धन्यवाद.
अद्यतन # 5 - रचनाकार के सक्रिय सहयोगकर्ता श्री आनंद प्रकाश शर्मा द्वारा पुस्तकों - क्रमशः चैतुआ , श्रद्धांजलि की प्रत्येक की 5 प्रतियाँ , तथा पुस्क तुम्हारे ही आसपास की  10 प्रतियाँ पुरस्कृतों को उपहार स्वरूप प्रदान करने की पेशकश की है. उनका हार्दिक धन्यवाद.

अद्यतन # 4 - ध्रुव सिंह 'एकलव्य' द्वारा अपना काव्य संग्रह 'चीखती आवाजें' की कुछ प्रतियाँ पुरस्कृतों को पुरस्कार स्वरूप प्रदान करने की सहर्ष स्वीकृति प्रदान की है. उनका हार्दिक धन्यवाद.
  

अद्यतन # 3 - डॉ. श्याम गुप्त ने अपनी पुस्तक - "ब्रज बांसुरी" की एक एक प्रति प्रथम पांच पुरस्कृतों को भेंट करने की सहर्ष स्वीकृति प्रदान की है. उनका हार्दिक धन्यवाद.




अद्यतन # 2 - रचनाकार के एक आत्मीय पाठक द्वारा रुपए 5000 की राशि प्रायोजित की गई है. उनका हार्दिक धन्यवाद व आभार. फलस्वरूप  पुरस्कार राशि में इजाफ़ा किया गया है. विवरण नीचे अद्यतन किए गए हैं.

अद्यतन # 1 - वरिष्ठ साहित्यकार श्री राजेश माहेश्वरी, जबलपुर द्वारा प्रथम पुरस्कार हेतु रु. 5000 की राशि तथा अन्य पुरस्कृतों के लिए अपनी कुछ किताबें  प्रायोजित की गई है. उन्हें अतिशय धन्यवाद. 
अब प्रथम पुरस्कार रुपए 11 हजार है. दो द्वितीय पुरस्कार अब तीन हजार के बजाए 5 हजार प्रत्येक है.




कुल पुरस्कार रु. 31,000 नक़द तथा उपहार स्वरूप पुस्तकें. 

आपकी प्रिय ऑनलाइन पत्रिका रचनाकार में, पूर्व के वर्षों में, संस्मरण लेखन, कहानी लेखन व व्यंग्य लेखन पुरस्कार आयोजन सफलतापूर्वक संपन्न हो चुके हैं. विवरण यहाँ देखे जा सकते हैं –

संस्मरण लेखन -
http://www.rachanakar.org/2018/01/20-2018.html

कहानी लेखन -
http://www.rachanakar.org/2012/07/blog-post_07.html

व्यंग्य लेखन -
http://rachanakar.blogspot.com/2009/08/blog-post_18.html

पिछले वर्ष की तरह ही, रचनाकार.ऑर्ग के एक सक्रिय व सहृदय योगदानकर्ता द्वारा एक नए पुरस्कार आयोजन के लिए पुरस्कार राशि का प्रायोजन किया गया है. उनका हार्दिक धन्यवाद. हम उनके हृदय से आभारी रहेंगे. इस वर्ष लघुकथा लेखन हेतु पुरस्कार आयोजन प्रस्तावित है.

अतः रचनाकार.ऑर्ग लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन वर्ष 2019 की सहर्ष घोषणा की जाती है.

इस आयोजन में आप सभी आमंत्रित हैं. आइए, सक्रियता से भाग लें और अपनी सृजनात्मकता को नया आयाम दें.

ध्यान दें – इस आयोजन का उद्देश्य नव-सृजन को पुष्पित-पल्लवित करना मात्र है.

निर्णायक मंडल के लिए तीन सक्रिय, वरिष्ठ रचनाधर्मियों, विशेष रूप से लघुकथा विधा में समर्पित –  की सहर्ष स्वीकृति प्राप्त हो गई है. जिनके नाम परिणामों की घोषणा करते समय सार्वजनिक किए जाएंगे. रचनाकार.ऑर्ग की ओर से इन्हें हार्दिक धन्यवाद व आभार.

संपादक / निर्णायक मण्डल द्वारा चयनित रचनाओं के लिये कुल रु. 31 हजार के निम्न कुल 10 (दस) पुरस्कार निर्धारित किए गए हैं, जो कुछ विशेष परिस्थितियों में बदले जा सकते हैं।
अद्यतन पुरस्कार राशि -
· प्रथम पुरस्कार (एक): 1 x 11,000 रुपए (ग्यारह हजार रुपए)
· द्वितीय पुरस्कार (दो): 2 x 5,000 रुपए (पांच हजार रूपए प्रत्येक)
· तृतीय पुरस्कार(तीन): 3 x 2,000 रुपए  (दो हजार रूपए प्रत्येक)
. विशेष पुरस्कार (चार): 4 x 1,000 रुपए (एक हजार रुपए प्रत्येक)
कुल 31,000 (इकत्तीस हजार) रुपए नकद तथा साथ में विविधपुस्तकें पुरस्कार स्वरूप  प्रदान किए जाएंगे. पुरस्कारों में वृद्धि संभावित है, चूंकि इस आयोजन हेतु चहुँ ओर से प्रायोजन आमंत्रित हैं.


पुरस्कारों हेतु प्रायोजन आमंत्रित हैं. आइए, साहित्य के इस यज्ञ में आप भी शामिल होइए. आप अपनी या अपने प्रियजन के नाम से किताबें या राशि पुरस्कार स्वरूप दे सकते हैं.
इस हेतु rachanakar@gmail.com पर संपर्क करें.

इस आयोजन में भाग लेने के लिए रचनाकार में रचनाएँ भेजने के नियम (कृपया इस लिंक को देखें व सूक्ष्मता से अध्ययन करें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html ) यथावत लागू होंगे, इसके अतिरिक्त, ये नियम भी लागू होंगे –

1- इस आयोजन के लिए भेजी जाने वाली लघुकथाएँ पूर्णतः मौलिक, सर्वथा अप्रकाशित तथा अप्रसारित होनी चाहिए. रचना कहीं भी, प्रिंट माध्यम हो या ऑनलाइन, पूर्व प्रकाशित न हो. ब्लॉग, फ़ेसबुक या वाट्सएप्प या अन्यत्र, कहीं भी, डिजिटल-प्रिंट माध्यम में पूर्व-प्रकाशित न हो. बेहतर हो कि इस आयोजन के लिए आप कुछ नया, नायाब सा लिखें. आयोजन का उद्देश्य ही है नव-सृजन को प्रोत्साहित करना. रचनाकार.ऑर्ग में प्रकाशित होने के उपरांत रचनाओं को रचनाकार का लिंक देते हुए अन्यत्र प्रकाशित/साझा किया जा सकता है. प्रत्येक रचना के साथ नीचे दिया गया रचना की मौलिकता व अप्रकाशित अप्रसारित होने का प्रमाणपत्र साथ लगाना आवश्यक है.

2 - इस आयोजन में भाग लेने के लिए रचनाएँ भेजने के साथ ही आप रचनाकार लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन 2019 के नियमों से स्वयंमेव आबद्ध हो जाते हैं.

3 - निर्णायकों का निर्णय अंतिम व सभी पार्टियों के लिए मान्य व बाध्यकारी होगा.

4 – रचना किसी भी फ़ॉन्ट में, टैक्स्ट, वर्ड या पेजमेकर आदि फ़ाइल के रूप में भेजी जा सकेंगी, परंतु चित्र/पीडीएफ फ़ाइल के रूप में प्राप्त, अन्य स्वरूपों में लिखी, स्क्रीनशॉट, ऑडियो, लिंक, आदि के रूप में भेजी गई रचनाओं पर विचार नहीं किया जाएगा व ऐसी प्रविष्टियाँ स्वतः अयोग्य मानी जावेंगी.

5 – रचनाकार में इस आयोजन के लिए एक लेखक के द्वारा, एकाधिक बार में, एक से अधिक, परंतु अधिकतम 5 लघुकथाएँ प्रकाशनार्थ भेजी जा सकती हैं, परंतु शब्द सीमा का ध्यान रखें, और लघुकथाएँ 500 शब्दों से अधिक नहीं हों तो बेहतर. परंतु एक लेखक को सिर्फ एक ही पुरस्कार प्रदान किया जाएगा. किसी भी रचना को बिना कोई कारण बताए स्वीकृत-अस्वीकृत करने का सर्वाधिकार निर्णायक मंडल व संपादक मंडल के पास होगा व सभी पक्षों को मान्य व बाध्यकारी होगा. एक पुरस्कृत लघुकथा में किन तत्वों का समावेश होता है यह जानने के लिए लघुकथा.कॉम पर प्रकाशित इन आलेखों [ 1 रचनात्मकता की उष्मा से अनुस्यूत पुरस्कृत लघुकथाएँ , 2 लघुकथा की विधागत शास्त्रीयता और पुरस्कृत लघुकथाएँ, 3 लघुकथा में शिल्प की भूमिका ] का अध्ययन मनन करें व तदनुसार ही अपनी लघुकथाओं का सृजन करें व प्रतियोगिता हेतु प्रेषित करें. वर्तनी की जांच कर वर्तनी त्रुटि रहित रचनाएँ ही भेजें, अत्यधिक वर्तनी त्रुटि युक्त रचनाएँ स्वतः अयोग्य मानी जावेंगी.

6 – रचनाएँ भारतीय समयानुसार अंतिम तिथि - 31 जनवरी 2019 तक प्रेषित की जा सकती हैं. रचनाएँ प्राप्त होने के उपरांत उन्हें समय समय पर, यथासंभव शीघ्रातिशीघ्र रचनाकार.ऑर्ग पर प्रकाशित किया जाता रहेगा. अंतिम तिथि के बाद मिली प्रविष्टियाँ स्वतः अयोग्य मानी जायेंगी।

7 – परिणामों की घोषणा मार्च 2019 के प्रथम सप्ताह में की जाएगी. अपरिहार्य कारणों से परिणाम घोषणा की तिथि में बदलाव संभव है.

8 – समय समय पर इन नियमों में परिवर्तन किए जा सकते हैं जो कि सभी पक्षों के लिए मान्य व बाध्यकारी होंगे. अद्यतन नियमों, नई सूचनाओं या अपडेट के लिए इस पृष्ठ को नियमित अंतराल पर देखते रहें.

9 - इस आयोजन हेतु प्राप्त रचनाओं के प्रकाशन के एवज में किसी तरह का पारिश्रमिक देय नहीं है. कुछ पुरस्कृत, विशिष्ट व चुनिंदा रचनाओं को अन्यत्र प्रिंट की पत्रिकाओं में भी प्रकाशित किया जा सकेगा, जिसके एवज में किसी भी तरह के पारिश्रमिक भुगतान का प्रावधान नहीं है. ध्येय है नव सृजन व पठन-पाठन को प्रोत्साहित करना.

  • रचनाकार में समय समय पर अन्य तमाम लेखकों की लघुकथाएँ पूर्व की तरह प्रकाशित होती रहेंगी, मगर पुरस्कार चयन में सिर्फ वही लघुकथाएँ शामिल मानी जाएंगी जिन्हें विशेष रूप से इस आयोजन के लिए स्पष्टतः भेजा जाएगा और उसमें नीचे दिया गया घोषणा पत्र आवश्यक रूप से शामिल किया गया होगा -

  • प्रमाणपत्र
    प्रमाणित किया जाता है कि संलग्न लघुकथा जिसका शीर्षक ....... है, मौलिक, अप्रकाशित व अप्रसारित है, तथा इसे रचनाकार.ऑर्ग ( http://rachanakar.org ) में लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन 2019 में सम्मिलित करने हेतु प्रेषित किया जा रहा है. मुझे रचनाकार.ऑर्ग की तमाम शर्तें, उनके निर्णय समेत, मान्य होंगी.
ऊपर अंकित प्रमाण पत्र को रचना भेजते समय रचना में अथवा ईमेल में शामिल करना आवश्यक है.

अद्यतन सूचनाओं के लिए कृपया इस पृष्ठ को बुकमार्क कर लें व नियमित तौर पर देखते रहें.

अंतिम तिथि का इंतज़ार मत कीजिये, अपनी रचनाएँ ईमेल (rachanakar@gmail.com पर) से हमें जल्दी से जल्दी भेज दीजिये। आप सभी सुधी पाठकों व रचनाकारों को हार्दिक मंगलकामनाएँ!
लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन 2125827111926157279

एक टिप्पणी भेजें

  1. लघुकथा के उत्थान के लिए महत्वपूर्ण प्रयास शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  2. लघुकथा प्रतियोगिता-एक अत्यंत सराहनीय कदम!
    हार्दिक शुभकामनाएं!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. Ashish Shrivastava11:52 am

    आदरणीय महोदय,
    विनम्र निवेदन है कि लघुकथा क्रमांक 180 जिसका शीर्षक राशि रत्न है, http://www.rachanakar.org/2019/01/2019-180.html पर भी अपने बहुमूल्य सुझाव प्रेषित करने की कृपा कीजिए। कहते हैं कि कोई भी रचनाकार नहीं बल्कि रचना बड़ी होती है, अतएव सर्वश्रेष्ठ साहित्य दुनिया को पढ़ने को मिले, इसलिए आपके विचार/सुझाव/टिप्पणी जरूरी हैं। विश्वास है आपका मार्गदर्शन प्रस्तुत रचना को अवश्य भी प्राप्त होगा। अग्रिम धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

emo-but-icon

मुख्यपृष्ठ item

रचनाकार में छपें. लाखों पाठकों तक पहुँचें, तुरंत!

प्रकाशनार्थ रचनाएँ आमंत्रित हैं.

   प्रतिमाह 10,00,000(दस लाख) से अधिक पाठक
/ 14,000 से अधिक हर विधा की साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित
/ आप भी अपनी रचनाओं को विशाल पाठक वर्ग का नया विस्तार दें, आज ही रचनाकार से जुड़ें.

विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका - नाका में प्रकाशनार्थ रचनाओं का स्वागत है. किसी भी फ़ॉन्ट में रचनाएं इस पते पर ईमेल करें :

rachanakar@gmail.com
कॉपीराइट@लेखकाधीन. सर्वाधिकार सुरक्षित. बिना अनुमति किसी भी सामग्री का अन्यत्र किसी भी रूप में उपयोग व पुनर्प्रकाशन वर्जित है.
उद्धरण स्वरूप संक्षेप या शुरूआती पैरा देकर मूल रचनाकार में प्रकाशित रचना का साभार लिंक दिया जा सकता है.

इस साइट का उपयोग कर आप इस साइट की गोपनीयता नीति से सहमत होते हैं.

नाका में प्रकाशनार्थ रचनाएँ भेजने संबंधी अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें - http://www.rachanakar.org/2005/09/blog-post_28.html

आवश्यक सूचना : कृपया ध्यान दें -

कविता / ग़ज़ल स्तम्भ के लिए, कृपया न्यूनतम 10 रचनाएँ एक साथ भेजें, छिट-पुट एकल कविताएँ कृपया न भेजें, बल्कि उन्हें एकत्र कर व संकलित कर भेजें. एकल व छिट-पुट कविताओं को अलग से प्रकाशित किया जाना संभव नहीं हो पाता है. अतः उन्हें समय समय पर संकलित कर प्रकाशित किया जाएगा. आपके सहयोग के लिए धन्यवाद.

*******


कुछ और दिलचस्प रचनाएँ

फ़ेसबुक में पसंद करें

---प्रायोजक---

---***---

ब्लॉग आर्काइव