रचनाकार.ऑर्ग की विशाल लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोजें -
 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com अधिक जानकारी के लिए यह लिंक देखें.

कहानी - कुछ पा लिया कुछ खो दिया // अर्चना अग्रवाल

आपकी असुविधा के लिए खेद है.
लेखिका के आग्रह पर इस रचना को हटा दिया गया है.































































































4 टिप्पणियाँ

  1. अर्चना अग्रवालजी, कहानी अति सुन्दर लगी ! "आच्छे दिन पाच्छे गए गुरु से किया न हेत, अब पछताए हॉट क्या जब चिड़िया चुग गयी खेत" !

    जवाब देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.