नाका - विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका. 

विविध विधाओं में से चुनकर पढ़ें -

* कहानी  || * उपन्यास || * हास्य-व्यंग्य  || * कविता  || * आलेख  || * लोककथा  || * लघुकथा  || * ग़ज़ल  || * संस्मरण  || * साहित्य समाचार  || * कला जगत  || * पाक कला  || * हास-परिहास  || * नाटक  || * बाल कथा  || * विज्ञान कथा  ||  * समीक्षा  ||

---***---

यहाँ की विशाल ऑनलाइन लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोज कर पढ़ें -

 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com  रचनाकार के वाट्सएप्प नंबर 8989162192 (कृपया कॉल नहीं करें, कॉल रिसीव नहीं होगी, तथा इसका उपयोग केवल प्रकाशनार्थ रचना भेजने के लिए ही करें) पर भी वाट्सएप्प से रचनाएँ अथवा रचना पाठ के वीडियो प्रकाशनार्थ भेजे जा सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए यह पृष्ठ [लिंक] देखें.

--

काव्यरंगोली समाज भूषण सम्मान

साहित्यिक समाचार

clip_image002

शाहजहांपुर उ0प्र0 के ख्यातिलब्ध साहित्यकार शिक्षक व संपादक शशांक मिश्र भारती को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की काव्य रंगोली साहित्यिक पत्रिका की ओर से काव्यरंगोली समाज भूषण सम्मान 2018 आगामी 22 नवम्बर को खमरिया पंडित ऐरा स्टेट लखीमपुर खीरी में आयोजित एक भव्य साहित्यिक कार्यक्रम में प्रदान किया जायेगा। इस समारोह में देश भर से लगभग 300 समाजसेवी साहित्यकार भाग लेंगे। प्रतिवर्ष होने वाले इस सम्मान समारोह में शाहजहांपुर से शशांक मिश्र भारती को पहली बार सम्मानित किया जा रहा है।

साल 1991 से लेखन व सम्पादन में सक्रिय शशांक मिश्र भारती की अब तक दस पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। हिन्दी के अलावा उड़िया कन्नड़ कुमाऊंनी में रचनाओं के अनुवाद के अलावा उड़िया भाषा में अभी अभी एक पुस्तक मुखिया का चुनाव प्रकाशित हुई है जिसका अनुवाद डा0 जुगल किशोर सारंगी ने किया है। अनेक संकलनों पत्रिकाओं के संपादन के अलावा यह देवसुधा पत्रिका का साल 2008 से वार्षिकांक विषयकेन्द्रित रूप में निकालते हैं। अनेक पत्र पत्रिकाओं व ई पत्रिकाओं में नियमित रूप से गद्य पद्य में रचनायें छपती रहती हैं।अब तक छः दर्जन से अधिक संस्था संगठन इनको सम्मानित कर चुके हैं।

गौरव पूर्ण सम्मान व उड़िया में पुस्तक प्रकाशन के लिए देश भर के अनेक साहित्यकारों शिक्षकों व समाजसेवियों नें इनको बधाई और यशस्वी जीवन की शुभकामनायें दी हैं। सम्प्रति आप संस्कृत प्रवक्ता के पद पर राजकीय विद्यालय टनकपुर उत्तराखण्ड में कार्यरत हैं।

प्रस्तुतकर्ता- कु0 एकांशी शिखा हिन्दी सदन बड़ागांव शाहजहांपुर 242401 0प्र0

0 टिप्पणियाँ

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.