नाका - विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका. 

विविध विधाओं में से चुनकर पढ़ें -

* कहानी  || * उपन्यास || * हास्य-व्यंग्य  || * कविता  || * आलेख  || * लोककथा  || * लघुकथा  || * ग़ज़ल  || * संस्मरण  || * साहित्य समाचार  || * कला जगत  || * पाक कला  || * हास-परिहास  || * नाटक  || * बाल कथा  || * विज्ञान कथा  ||  * समीक्षा  ||

---***---

यहाँ की विशाल ऑनलाइन लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोज कर पढ़ें -

 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com  रचनाकार के वाट्सएप्प नंबर 8989162192 (कृपया कॉल नहीं करें, कॉल रिसीव नहीं होगी, तथा इसका उपयोग केवल प्रकाशनार्थ रचना भेजने के लिए ही करें) पर भी वाट्सएप्प से रचनाएँ अथवा रचना पाठ के वीडियो प्रकाशनार्थ भेजे जा सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए यह पृष्ठ [लिंक] देखें.

--

लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन 2019 - प्रविष्टि क्रमांक - 38 // आदर्श बहू // दीपक गिरकर

 

प्रविष्टि क्रमांक - 38

आदर्श बहू

मैं और मेरे पड़ोसी रमेश बाबू सुबह की सैर करके आ चुके थे. मेरे घर के ड्राइंग रूम में बैठकर हम दोनों आज का समाचारपत्र पढ़ने में मशगूल हो गये थे. मेरी धर्मपत्नी और हमारे छोटे बेटे की पत्नी, जिसकी शादी हुए अभी दो माह ही हुए थे, मॉर्निंग वॉक से आ गई थी. वे दोनों किसी बात पर खिलखिलाकर घर में घुसी. कुछ समय पश्चात हमारी नयी बहू चाय बनाकर ले आई.

“ बिटिया तुम भी आदर्श बहू का तीन माह का कोर्स क्यों नहीं कर लेती? हमारी बहू ने तो यह कोर्स कर भी लिया है. " रमेश बाबू ने हमारी छोटी बहू को सलाह दी.

“ हां, अंकलजी मुझे मालूम है कि विश्वविद्यालय ने आदर्श बहुएं तैयार करने का तीन माह का शॉर्ट टर्म कोर्स प्रारंभ किया है. चाचाजी, इस घर में मम्मीजी और पापाजी है और ये दोनों ही मेरे लिए आदर्श है. मुझे तो आदर्श बहू का प्रशिक्षण घर पर ही मिल रहा है. ”

बहू मेरी ओर मुख़ातिब हुई " मैंने सच कहा है न पापाजी? ”

मैं सिर्फ़ मुस्काराकर ही रह गया क्योंकि कुछ बोलता, उसके पूर्व ही रमेश बाबू के घर से सास-बहू के लड़ने-झगड़ने की आवाज़ स्पष्ट रूप से सुनाई देने लगी थी.

--

दीपक गिरकर

लघु कथाकार

28-सी, वैभव नगर, कनाडिया रोड,

इंदौर- 452016


मेल आईडी : deepakgirkar2016@gmail.com

0 टिप्पणियाँ

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.