नाका - विश्व की पहली, यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित, लोकप्रिय ई-पत्रिका. 

विविध विधाओं में से चुनकर पढ़ें -

* कहानी  || * उपन्यास || * हास्य-व्यंग्य  || * कविता  || * आलेख  || * लोककथा  || * लघुकथा  || * ग़ज़ल  || * संस्मरण  || * साहित्य समाचार  || * कला जगत  || * पाक कला  || * हास-परिहास  || * नाटक  || * बाल कथा  || * विज्ञान कथा  ||  * समीक्षा  ||

---***---

यहाँ की विशाल ऑनलाइन लाइब्रेरी में मनपसंद रचनाकार अथवा रचनाएँ खोज कर पढ़ें -

 नाका में प्रकाशनार्थ  रचनाएं इस पते पर ईमेल करें : rachanakar@gmail.com  रचनाकार के वाट्सएप्प नंबर 8989162192 (कृपया कॉल नहीं करें, कॉल रिसीव नहीं होगी, तथा इसका उपयोग केवल प्रकाशनार्थ रचना भेजने के लिए ही करें) पर भी वाट्सएप्प से रचनाएँ अथवा रचना पाठ के वीडियो प्रकाशनार्थ भेजे जा सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए यह पृष्ठ [लिंक] देखें.

--

लघुकथा लेखन पुरस्कार आयोजन 2019 - प्रविष्टि क्रमांक - 345 // तफ़तीश जारी है // दीपक गिरकर

प्रविष्टि क्रमांक - 345


दीपक गिरकर

तफ़तीश जारी है

आज 26 जनवरी है। एक उच्च न्यायालय प्रांगण में हुए झंडावंदन कार्यक्रम में उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश ने अपने उद्बोधन में कहा "हम न्याय के इस मंदिर में किसी बेगुनाह को सज़ा नहीं होने देते हैं और असली अपराधी को ही सज़ा दिलवाते हैं।"

झंडावंदन कार्यक्रम के पश्चात जज और वकील धूप का आनंद लेते हुए चर्चा में मशगूल हो गए। एक वरिष्ठ वकील ने कहा "सर आपको मालूम है, आजकल एक नया उपन्यास तफ़तीश जारी है, काफ़ी चर्चा में है, जिसका विमोचन इसी माह दिल्ली के पुस्तक मेले में हुआ है।"

दूसरे वरिष्ठ वकील ने अपना मुँह खोला “इस उपन्यास का लेखक कौन है? मालूम है क्या किसी को… इस उपन्यास का लेखक एक विचाराधीन कैदी है, जो पिछले 15 वर्षों से एक जेल में बंद है और एक और ख़ास बात यह है कि इस प्रकरण में अभी ट्रायल भी शुरू नहीं हुआ है.”

इतना सुनते ही उस महफ़िल में बैठे हुए सभी न्यायाधीश और समाज के प्रतिष्ठित लोग अवाक् रह गये थे! अब उन्हें कड़ाके की ठंड के मौसम में गुनगुनी धूप भी तेज लगने लगी थी क्योंकि उन सब के मुँह में अब दही जम गया था!

--


दीपक गिरकर

लघु कथाकार

28-सी, वैभव नगर, कनाडिया रोड,

इंदौर- 452016


मेल आईडी : deepakgirkar2016@gmail.com

1 टिप्पणियाँ

  1. बहुत बढ़िया लघुकथा । बधाई आ.गिरकर जी - राममूरत 'राही'

    जवाब देंहटाएं

रचनाओं पर आपकी बेबाक समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.

स्पैम टिप्पणियों (वायरस डाउनलोडर युक्त कड़ियों वाले) की रोकथाम हेतु टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.